हस्तक्षेप > स्तम्भ
किसान आंदोलन की आग से अगर खड़ी फसल जल जायेगी तो देश में भुखमरी की नौबत आ जाएगी
किसान आंदोलन की आग से अगर खड़ी फसल जल जायेगी तो देश में भुखमरी की नौबत आ जाएगी

मुनाफाखोर बाजार ने किसानों की कमर तोड़कर रख दी है और कर्ज़ में डूबे किसान ऐसी हालत में आत्महत्या को मजबूर हो रहे हैं। पिछले 20 वर्षों में प्रति व...

राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-06-27 18:45:46
मोदीजी के सत्ता में आने के बाद असंवैधानिक सत्ताकेन्द्रों का नैटवर्क पैदा हुआ
मोदीजी के सत्ता में आने के बाद असंवैधानिक सत्ताकेन्द्रों का नैटवर्क पैदा हुआ

आपातकाल माने सरकार द्वारा घोषित ढंग से मानवाधिकारों का हनन। यह प्रक्रिया बड़े कौशल के साथ सारे देश में चल रही है। आसपास नजर डालें साफ दिखाई दे जाएगा।

जगदीश्वर चतुर्वेदी
2017-06-27 11:27:34
कश्मीर  स्वर्ग का शोक संगीत
कश्मीर : स्वर्ग का शोक संगीत

3 सालों में कश्मीर निरंतर जल रहा है मोदी सरकार पाकिस्तान को कोस कर अपना कर्तव्य निभा रही है, लेकिन महबूबा पर जो भरोसा वहां की जनता ने दिखाया है, ...

देशबन्धु
2017-06-26 17:57:52
अब चाहे दलित उम्मीदवार भी विपक्ष कोई खड़ा कर दें देश का पहला केसरिया राष्ट्रपति बनना तय
अब चाहे दलित उम्मीदवार भी विपक्ष कोई खड़ा कर दें, देश का पहला केसरिया राष्ट्रपति बनना तय

​​​​​​​हिंदुत्व के एजंडे के मुकाबले गजब का दलित एजंडा है। जिससे समूचा विपक्ष तितर बितर है... दलितों की परवाह विपक्ष को पहले थी तो उसने संघ परिवार...

पलाश विश्वास
2017-06-21 22:45:55
संविधान नहीं नवउदारवाद का अभिरक्षक राष्ट्रपति
संविधान नहीं नवउदारवाद का अभिरक्षक राष्ट्रपति

राष्ट्रपति का चुनाव भी उसी अंधी दौड़ की भेंट चढ़ चुका है। राष्ट्रपति संविधान का अभिरक्षक कहलाता है, लेकिन पूरी चर्चा में वह नवउदारवाद के अभिरक्षक क...

डॉ. प्रेम सिंह
2017-06-20 17:19:38
स्वच्छ भारत अभियान की अस्वच्छता  अब स्वच्छता रक्षकों की गुंडागर्दी
स्वच्छ भारत अभियान की अस्वच्छता : अब स्वच्छता रक्षकों की गुंडागर्दी

अगर देश के शासकों को इतना भी समझाया जा सके कि खुले में शौच से मुक्ति के मामले में घोड़े से आगे गाड़ी को लगाने की गलती न करें, तो हुसैन की कुर्बान...

राजेंद्र शर्मा
2017-06-20 16:00:42
ओबीसी प्रधानमंत्री के बाद दलित राष्ट्रपति का हिंदुत्व दांव मुकाबले में धर्मनिरपेक्ष विपक्ष चारों खाने चित्त
ओबीसी प्रधानमंत्री के बाद दलित राष्ट्रपति का हिंदुत्व दांव, मुकाबले में धर्मनिरपेक्ष विपक्ष चारों खाने चित्त!

विचारधारा की इतनी परवाह थी तो संसद में आर्थिक सुधारों या आधार पर विपक्ष कैसे सहमत होता रहा। कहना होगा कि मोदी की निरंकुश सत्ता में विपक्ष की भी ह...

पलाश विश्वास
2017-06-21 22:54:00
अभी जैसी आपाधापी मची है इसकी कल्पना हमने नहीं की थी
अभी जैसी आपाधापी मची है इसकी कल्पना हमने नहीं की थी

कोई भी शिक्षण संस्था अपने शिक्षकों के बलबूते अपनी पहचान बनाता है। यदि वे शिक्षक ही हर समय राजनैतिक अथवा प्रशासनिक दबाव में रहेंगे तो कभी भी अपना ...

ललित सुरजन
2017-06-19 15:35:32
मोहम्मद अली जिन्ना क्लब के मेंबर बने अमित शाह
मोहम्मद अली जिन्ना क्लब के मेंबर बने अमित शाह !

हिन्दू राष्ट्रवादी, गांधीजी और भारतीय राष्ट्रवादी आंदोलन से घृणा करते आए हैं और अमित शाह की टिप्पणियां, इसी घृणा का प्रकटीकरण हैं।

राम पुनियानी
2017-06-17 23:57:26
रेलवे स्टेशन बेचने के बाद मोदी जी किसानों के किडनी भी बेचेंगे  इसी तरह सुनहले दिन आयेंगे
रेलवे स्टेशन बेचने के बाद मोदी जी किसानों के किडनी भी बेचेंगे ! इसी तरह सुनहले दिन आयेंगे !

ऐसा हिंदू कारपोरेट राष्ट्र जो किसानों के बुनियादी हकहकूक से इंकार करता है। खेतिहर किसानों के दमन उत्पीड़न, दलितों और स्त्रियों बच्चों पर निर्मम अ...

पलाश विश्वास
2017-06-13 14:45:39
भाजपा के राजनीतिक एक्शन आरएसएस के और सरकारी एक्शन कांग्रेसी होते हैं
भाजपा के राजनीतिक एक्शन आरएसएस के और सरकारी एक्शन कांग्रेसी होते हैं

मोदी की सबसे बड़ी असफलता यह है कि वे समर्थ संघीनेता होने बावजूद भाजपा को एक दक्षिणपंथी स्वायत्त दल नहीं बना पाए। भाजपा के पास दल तो है लेकिन देश...

जगदीश्वर चतुर्वेदी
2017-06-13 14:22:15
असुरक्षा का भाव ले जा सकता है मुसलमानों को सामाजिक सुधार की ओर
असुरक्षा का भाव ले जा सकता है मुसलमानों को सामाजिक सुधार की ओर

हिन्दुओं को, जोकि जाति के आधार पर बुरी तरह विभाजित हैं, एक करने के लिए राष्ट्रवाद के नारे का इस्तेमाल किया जा रहा है। राष्ट्रवाद के नाम पर अल्पसं...

Irfan Engineer
2017-06-13 10:42:13
सेज पूंजीवादी साम्राज्यवाद के तरकस से निकला एक और तीर जिसे भारत माता की छाती बेधने के लिए चलाया
सेज पूंजीवादी साम्राज्यवाद के तरकस से निकला एक और तीर, जिसे भारत माता की छाती बेधने के लिए चलाया

जमीन लेंगे ... और जान भी...जमीन हथियाने वालों में छोटे-बड़े बिल्डरों से लेकर देशी-विदेशी बहुराष्ट्रीय कंपनियां शामिल हैं। भारत की सरकारें उनके दला...

डॉ. प्रेम सिंह
2017-06-12 22:09:41
तो राजदीप सरदेसाई ने अपने यहां भी छापे का न्यौता देकर मीडिया का हिंदुत्व बोध उजागर कर दिया
तो राजदीप सरदेसाई ने अपने यहां भी छापे का न्यौता देकर मीडिया का हिंदुत्व बोध उजागर कर दिया !

प्रणय राय और बरखादत्त की वजह से हमेशा चर्चित और रवीश की वजह से देखने लायक एनडीटीवी पर कानून के राज के इस भयंकर जलवे से आपातकाल का अंधकार गहराने ल...

पलाश विश्वास
2017-06-05 15:28:42
मांस के लिए मवेशी व्यापार पर रोक का हिंदुत्ववादी एजेंडा
मांस के लिए मवेशी व्यापार पर रोक का हिंदुत्ववादी एजेंडा

इस पाबंदी की सबसे ज्यादा मार साधारण किसानों पर ही पड़ेगी, जो पूरक आय के साधन के तौर पर, दूध के लिए पशु पालन भी करते हैं।

राजेंद्र शर्मा
2017-06-04 23:41:53
जब देश तरह-तरह की आग में झुलस रहा हो क्या तब जश्न की बांसुरी बजाना उचित है
जब देश तरह-तरह की आग में झुलस रहा हो क्या तब जश्न की बांसुरी बजाना उचित है?

भाजपा बेशक अपनी जीत की खुशी मनाए लेकिन जनता तो अब भी खुशी को ढूंढती फिर रही है। क्या सचमुच भाजपा यानी मोदी सरकार पर आज भी जनता का विश्वास कायम है?

राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-06-04 16:25:51
मोदी अच्छे भाषणकर्ता तो हैं लेकिन आम जनता के साथ उनका संवाद लगभग नहीं है
मोदी अच्छे भाषणकर्ता तो हैं, लेकिन आम जनता के साथ उनका संवाद लगभग नहीं है

क्या एकालाप को संवाद कौशल माना जा सकता है। प्रधानमंत्री अपने भाषणों में हर समय उत्तेजना से भरे नज़र आते हैं। उनको आज तक किसी ने शायद मुस्कुराते ह...

ललित सुरजन
2017-06-02 22:44:04
मोदी जी गाय बचाओगे या देश  कहीं देश बाँटने का हथियार न बन जाए गाय
मोदी जी, गाय बचाओगे या देश : कहीं देश बाँटने का हथियार न बन जाए गाय

दक्षिण में एक भावना घर कर गई है कि ब्राह्मणों की खाने-पीने की परंपरा को द्रविड़ों पर लादा जा रहा है और केंद्र की सत्ताधारी पार्टी के बड़े नेताओं ...

शेष नारायण सिंह
2017-06-02 23:08:43
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?