हस्तक्षेप > स्तम्भ
जिन जेलों में जाने के डर से संघियों जंगे-आज़ादी में हिस्सा नहीं लिया था उन्हीं जेलों में जवाहरलाल नेहरू का लंबा समय गुजरा
जिन जेलों में जाने के डर से संघियों जंगे-आज़ादी में हिस्सा नहीं लिया था, उन्हीं जेलों में जवाहरलाल नेहरू का लंबा समय गुजरा

जो नेहरू को खलनायक बनाने की कोशिश कर रहे हैं, उनसे पूछो उनके राजनीतिक पूर्वज सावरकर जिन्ना उन दिनों ब्रिटिश हुकूमत की वफादारी के इनाम के रूप में...

शेष नारायण सिंह
2017-08-18 21:37:11
रवींद्र की चंडालिका में बौद्धमय भारत की गूंज है तो नस्ली रंगभेद के खिलाफ निरंतर जारी चंडाल आंदोलन की आग भी है
रवींद्र की चंडालिका में बौद्धमय भारत की गूंज है तो नस्ली रंगभेद के खिलाफ निरंतर जारी चंडाल आंदोलन की आग भी है

चंडालिका का सामाजिक यथार्थ सुदूर अतीत का बौद्धकालीन यथार्थ नहीं है यह रवींद्र समय का चंडाल वृत्तांत है

पलाश विश्वास
2017-08-16 20:36:16
जानिए उन चुनिन्दा क्रांतिकारियों को जिन्होंने देश के लिए खुद को कुर्बान कर दिया
जानिए उन चुनिन्दा क्रांतिकारियों को जिन्होंने देश के लिए खुद को कुर्बान कर दिया

ब्रितानी हुकूमत के खिलाफ जंग-ए-आजादी का ज़िक्र आते ही कई नाम और चेहरे याद आ जाते हैं, जिन्होंने लंबी लड़ाई और तमाम जुल्मों-सितम सहकर देश को अंग्र...

राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-08-15 16:58:39
मोदीजी आपका हश्र भी आपातकालीन इंदिरा जैसा होगा
मोदीजी, आपका हश्र भी आपातकालीन इंदिरा जैसा होगा!!

लालक़िले की प्राचीर से आज मोदीजी का भाषण सुनकर यही लगा चलो देश निश्चिंत हुआ देश में मोदी शासन में बहुत तरक्की हुई है। देश बुलंदियों को छू रहा है।...

जगदीश्वर चतुर्वेदी
2017-08-15 10:55:31
क्या मृगतृष्णा बन गया है धर्मनिरपेक्ष गठबंधन
क्या मृगतृष्णा बन गया है धर्मनिरपेक्ष गठबंधन?

नीतीश के विश्वासघात, या दूसरे शब्दों में उनके अपना सही रंग दिखाने के बाद, माकपा के मुखपत्र, जिसके संपादक प्रकाश कारत हैं, में एक लेख प्रकाशित हुआ...

राम पुनियानी
2017-08-13 22:10:37
डिजिटल इंडिया का सच  अमीरों को बैंक कर्ज माफ  और मेहनकश जनता को सजा ए मौत
डिजिटल इंडिया का सच : अमीरों को बैंक कर्ज माफ  और मेहनकश जनता को सजा ए मौत

आधार का मतलब आम जनता के खातों में सब्सिडी सीधे पहुंचाना नहीं है क्योंकि सब्सिडी तेजी से खत्म की जा रही है। जीएसटी और आधार की डिजिटल इंडिया खेती औ...

पलाश विश्वास
2017-08-07 22:42:26
सवालों के जवाब देने से बचने की सुविधा के लिए "डर" नाम का हथियार
सवालों के जवाब देने से बचने की सुविधा के लिए "डर" नाम का हथियार

विद्यार्थी को असफल होने का डर दिखाया जाता है, व्यापारी को घाटे का, महिलाओं को इज्जत का, सेहतमंद को बीमार होने का और बीमार को मरने का डर दिखाया जा...

देशबन्धु
2017-08-07 13:40:41
भोले छत्तीसगढ़ियों पर  गैर छत्तीसगढ़ियों का कब्जा
भोले छत्तीसगढ़ियों पर गैर छत्तीसगढ़ियों का कब्जा

राज्य निर्माण के बाद पिछले सत्रह सालों में छत्तीसगढ़ की कितनी सम्पदा लूटी गई। छत्तीसगढ़ से कमाई करने के बाद गैर छत्तीसगढ़ियों ने अपने गृह राज्यों...

India Writers
2017-08-07 13:23:31
मित्रता के मायने  सत्य की कसौटी साहित्य नहीं मनुष्य का जीवन है
मित्रता के मायने : सत्य की कसौटी साहित्य नहीं, मनुष्य का जीवन है

मित्रता के लिए जरूरी है "मैं" भाव को न छोड़ें। सबसे अच्छी दोस्त होती है माँ! दोस्त बनना है तो माँ जैसा त्याग और निस्वार्थ प्रेम पैदा करो।

जगदीश्वर चतुर्वेदी
2017-08-06 22:59:41
छत्तीसगढ़  पनामा पेपर्स पर कांग्रेस की सफलता ढाई दिन में समेटा विधानसभा सत्र
छत्तीसगढ़ : पनामा पेपर्स पर कांग्रेस की सफलता, ढाई दिन में समेटा विधानसभा सत्र

पनामा पेपर्स जलता हुआ मुद्दा कांग्रेस के सामने है किंतु इससे परे जाकर वह विधानसभा सत्र को मुद्दा बना रही है, जिससे जनमानस का कोई सीधा सरोकार नहीं है।

India Writers
2017-08-06 20:11:04
हिंदुत्व के एजंडे के लिए गांधी की तरह रवींद्र का वध भी जरूरी है
हिंदुत्व के एजंडे के लिए गांधी की तरह रवींद्र का वध भी जरूरी है

सर्वव्यापी रंगभेदी राजनीति और तकनीकी क्रांति के तांडव में विलुप्त हो रही है मनुष्यता! रवींद्र के साहित्य का मूल स्वर अस्पृश्यता के खिलाफ युद्ध घो...

पलाश विश्वास
2017-08-06 17:07:52
संविधान-विरोधी तत्व सत्ता छोड़ो रैली
'संविधान-विरोधी तत्व सत्ता छोड़ो' रैली

50वीं सालगिरह 9 अगस्त 1992 को पड़ी. यह वह समय था जब संविधान की मूल संकल्पना के बरखिलाफ देश में नवसाम्राज्यवाद का दरवाजा खोलने वाली नई आर्थिक नीतिय...

डॉ. प्रेम सिंह
2017-08-06 08:47:11
भगवान की शरण पहुंचे भाजपा के महत्वाकांक्षी नेता डॉ रमन सिंह हुए होशियार
भगवान की शरण पहुंचे भाजपा के महत्वाकांक्षी नेता, डॉ. रमन सिंह हुए होशियार

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को भी सोचना चाहिए कि वे किस तरह के विषधारियों को पाल रहे हैं, जिनकी नजरें उनकी कुर्सी पर गड़ी हुई हैं और रोज उनके सत्ताच...

Chhattisgarh.co
2017-08-04 13:21:14
केवल कुर्सी से प्यार है इन दलित “रामों” को
केवल कुर्सी से प्यार है इन दलित “रामों” को

हिन्दू राष्ट्र की पैरोकार सरकार के सत्ता में आने के बाद से, पिछले कुछ वर्षों में दलितों पर अत्याचार की घटनाओं में वृद्धि हुई है। ऊँची जातियों के ...

राम पुनियानी
2017-08-03 19:35:05
काशीनाथ सिंह प्रकरण  क्यों तमाम आदरणीय सत्ता के खिलाफ खड़ा होने से हिचकिचाते हैं
काशीनाथ सिंह प्रकरण : क्यों तमाम आदरणीय सत्ता के खिलाफ खड़ा होने से हिचकिचाते हैं

​​​​​​​काशीनाथ सिंह की रचनाओं में उनको पाते है, वह काशी के अस्सीघाट में कहीं तितर-बितर हो जाता है... जबकि उनके लिखे में सामाजिक यथार्थ और बदलाव क...

पलाश विश्वास
2017-08-02 13:38:40
क्या है आरएसएस का शिक्षा एजेंडा
क्या है आरएसएस का शिक्षा एजेंडा?

भारतीय राष्ट्रवाद की अवधारणा से एकदम भिन्न है संघ की राष्ट्रवाद की अवधारणा... मध्यकालीन इतिहास को भी तोड़ा-मरोड़ा जा रहा है।

राम पुनियानी
2017-08-01 15:55:27
भारत चीन विवाद  अमेरिका-इजराइल के दम पर राष्ट्र की एकता और अखंडता को दांव पर लगाना भी राष्ट्रद्रोह है
भारत चीन विवाद : अमेरिका-इजराइल के दम पर राष्ट्र की एकता और अखंडता को दांव पर लगाना भी राष्ट्रद्रोह है

अपनी जनता को कुचलकर कोई युद्ध जीतना मुश्किल है.... भाषण से चुनाव जीते जा सकते हैं, युद्ध नहीं...

पलाश विश्वास
2017-08-01 08:21:42
नट करतब नीतीश कुमार का
नट करतब नीतीश कुमार का

'भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के लिए नीतीश की कुर्बानी’ को कोई भी गंभीरता से नहीं लेने जा रहा है, न बिहार से बाहर और न बिहार में ही

राजेंद्र शर्मा
2017-07-31 23:25:22