टीवी पर पाकिस्तानियों से भारत को गाली सुनवाते क्यों हो ?

भाई, भारत को गाली सुनवाने के वास्ते इन शैतानो को टीवी पर बुलाते क्यों हो? सिर्फ टीआरपी के वास्ते !...

पुष्परंजन
हाइलाइट्स

भाई, भारत को गाली सुनवाने के वास्ते इन शैतानो को टीवी पर बुलाते क्यों हो?

सिर्फ टीआरपी के वास्ते !

पुष्परंजन

टीवी पर पाकिस्तानियों से भारत को गाली सुनवाते क्यों हो ?

बस एक-दो पाकिस्तानी चेहरे होने चाहिए. वैसे चेहरे, जो भारत को खूब लानत भेजे, कुलदीप जाधव को आतंकी बोले, फिर मामला हिट है. टीवी पर इस तरह की महामारी तेज़ी से बढ़ी है.

उदाहरण के लिए, एक तारिक़ पीरज़ादा है. पाकिस्तान में इसे कुत्ता नहीं पूछता, इंडियन टीवी के लिए यह हॉट केक है. दबाकर भारत को गाली देता है, और उससे दो गुनी गाली पैनल पर बैठे लोगों से पलटकर सुनता है.

ऐंकर लोग "पीरज़ादा साहब"....."पीरज़ादा साहब", "हुज़ूर" "हम आपकी इज़्ज़त करते हैं" बोल-बोल कर पुष्प वर्षा करते दिखेंगे. उधर से ये "पीरज़ादा", तमीज़ की हदें पार करता रहेगा. ऐसा क़रीब-क़रीब सारे पाकिस्तानी गेस्ट, टीवी पर करते हैं !

मगर भाई, भारत को गाली सुनवाने के वास्ते इन शैतानो को टीवी पर बुलाते क्यों हो?

सिर्फ टीआरपी के वास्ते !

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।