कितना फेंकते हो? "दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस देने वाली सरकार" कहाँ से हो गयी ?

बकवास की बॉलिंग करते समय पड़ोस में चीन को याद नहीं रखते श्रीमान प्रधान सेवक?...

पुष्परंजन

पुष्परंजन

कितना फेंकते हो? "दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस देने वाली सरकार" कहाँ से हो गयी ?

बकवास की बॉलिंग करते समय पड़ोस में चीन को याद नहीं रखते श्रीमान प्रधान सेवक? 31 जनवरी 2018 को चीन की आबादी थी 1 अरब, 41 करोड़, 27 लाख , 52 हज़ार, 459.

आपको पता होना चाहिए, चीन की 97 फीसदी जनता को "पब्लिक हेल्थ केयर सिस्टम" की सुविधा दी गयी है. तीन फीसदी के रह जाने का अर्थ आपको बताऊँ? आज की तारीख में पांच करोड़ से भी कम चीनियों का स्वास्थ्य बीमा होना बाक़ी है. चीन को 2020 तक "सबके लिए स्वास्थ्य बीमा" का संकल्प पूरा कर लेना है.

अब बता दीजिये, कैसे "दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस" देने वाली आपकी सरकार हो गयी? बड़नगर के स्कूल में गिनती तो पढ़ी होगी, जोड़-घटा लीजिये. कहाँ 1 अरब 36 करोड़ चीनियों को स्वास्थ्य बीमा की सुविधा, और कहाँ आपका पब्लिक हेल्थ इंश्योरेंस !

घंटा, दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थ इंश्योरेंस ! टैक्स देने वालों को इधर से उधर से नोंच-नोंच कर वाहवाही लूटने में लगे हो, और कहते हो हमारी सरकार कर रही है !

10 Crore Insurance to poor is not the “world's biggest healthcare programme.”

Pradhan Sevak ji, please look at Chinese government health insurance. The current population of China is 1 Billion, 41 Crore, 27 Lakhs, 52 Thousand and 459 as of Wednesday, January 31, 2018.

More than 97 percent of people in China, use public health insurance systems.

In China, state-funded health insurance is divided into three main categories, based on where people live and their employment status. The Chinese government is working on providing affordable basic healthcare to all residents by 2020.

पुष्परंजन की एफबी टाइमलाइन से साभार

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>