हस्तक्षेप > स्तम्भ > जन हस्तक्षेप
इतिहास का पुनर्मिथकीकरण  यानी इतिहास लिखना अब इतिहासकारों का नहीं सरकार का काम है
इतिहास का पुनर्मिथकीकरण : यानी इतिहास लिखना अब इतिहासकारों का नहीं, सरकार का काम है

इतिहास के पुनर्लेखन की यह कसरत, कुछ और नहीं, इतिहास के पुनर्मिथकीकरण का कुत्सित प्रयास है। लेकिन अब तो शंबूकों ने तीरंदाजी सीख ली है और एकलव्यों...

ईश मिश्र
2018-04-21 13:05:44
क्या है राष्ट्रवाद और राष्ट्र-द्रोह  क्यों हत्या का उत्सव मनाते हैं हिंदुत्व मार्का गोरक्षक राष्ट्रभक्त
क्या है राष्ट्रवाद और राष्ट्र-द्रोह? : क्यों हत्या का उत्सव मनाते हैं, हिंदुत्व मार्का गोरक्षक राष्ट्रभक्त?

पूछो राष्ट्रवाद या देशद्रोह होता क्या है? वह जेएनयू में देश के टुकड़े करने के नारों की दुहाई देता है, कुछ बताता नहीं।

ईश मिश्र
2018-04-06 11:28:07
धर्म कोई शाश्वत विचार नहीं ऐतिहासिक रूप से धर्म शासक वर्ग का प्रभावी औजार रहा है
धर्म कोई शाश्वत विचार नहीं, ऐतिहासिक रूप से धर्म शासक वर्ग का प्रभावी औजार रहा है

धर्म या ईश्वर ने मनुष्य को नहीं बनाया बल्कि मनुष्य ने अपनी ऐतिहासिक जरूरतों के अनुसार, ईश्वर और धर्म का निर्माण किया। "धर्म की आलोचना सभी आलोचनाओ...

ईश मिश्र
2018-02-18 10:52:33
कोबाड गांधी  और बना लिया कलम को जंग-ए-आजादी का हथियार
कोबाड गांधी : और बना लिया... कलम को जंग-ए-आजादी का हथियार

यह आदमी जो है इतना समझदार कर सकता था जो विचारों का व्यापार बना सकता था सुख-सुविधाओं काअपना संसार होता है तो होता रहे जन-गण-मन पर अत्याचार लेक...

ईश मिश्र
2017-12-21 07:57:38
मर्दवाद जेंडर न तो जीववैज्ञानिक प्रवृत्ति है न ही कोई शाश्वत विचार
मर्दवाद (जेंडर) न तो जीववैज्ञानिक प्रवृत्ति है न ही कोई शाश्वत विचार

5 से कम उम्र के बच्चे को कैसे मालुम कि बेटी कहा जाना अपमान की बात है और वह लाज-शरम छोड़कर, अच्छे बच्चे की परवाह किए बिना अपना बेटापन साबित करता है?

ईश मिश्र
2017-12-01 23:21:07