हस्तक्षेप > स्तम्भ > पलाश विश्वास का रोज़नामा
कारपोरेट राज के खात्मे के लिए धर्मनिरपेक्ष वाम जनपक्षधर बहुजन संगठनों पार्टियों का महागठबंधन अनिवार्य
कारपोरेट राज के खात्मे के लिए धर्मनिरपेक्ष, वाम, जनपक्षधर, बहुजन संगठनों, पार्टियों का महागठबंधन अनिवार्य

कृपया जिग्नेश मेवाणी जैसे उम्मीदवारों का समर्थन करके राजनीतिक बदलाव की पहल करें

पलाश विश्वास
2017-11-27 22:29:25
पद्मावती विवाद का तो न कोई संदर्भ है और न प्रसंग यह मुकम्मल मनुस्मृति राज का कारपोरेट महाभारत है
पद्मावती विवाद का तो न कोई संदर्भ है और न प्रसंग, यह मुकम्मल मनुस्मृति राज का कारपोरेट महाभारत है

मंदिर मस्जिद विवाद से देश में कारपोरेट राज बहाल तो जाति युद्ध से जनसंख्या सफाये का मास्टर प्लान! राजनीति, कारपोरेट वर्चस्व और मीडिया का त्रिशु...

पलाश विश्वास
2017-11-25 12:55:34
सब कुछ निजी हैं तो धर्म और धर्मस्थल क्यों सार्वजनिक हैं वहां राष्ट्र और राजनीति की भूमिका क्यों होनी चाहिए
सब कुछ निजी हैं तो धर्म और धर्मस्थल क्यों सार्वजनिक हैं? वहां राष्ट्र और राजनीति की भूमिका क्यों होनी चाहिए?

भूमंडलीकरण के दौर में भी इस महादेश के नागरिक उसी दंगाई मानसिकता के शिकंजे में हैं, जिससे उन्हें रिहा करने की कोई सूरत नहीं बची। तभी से विस्थापन क...

पलाश विश्वास
2017-11-22 14:03:44
खोज रहा हूं खोया हुआ गांव मैदान पहाड़ अपना खेत। अपनी माटी।
खोज रहा हूं खोया हुआ गांव, मैदान, पहाड़, अपना खेत। अपनी माटी।

सारे चेहरे कारपोरेट हैं।गांव,देहात,खेत खलिहान,पेड़ पहाड़ सबकुछ इस वक्त कारपोरेट।भाषा भी कारपोरेट।बोलियां भी कारपोरेट। सिर्फ बची है पहचान।धर...

पलाश विश्वास
2017-11-21 14:05:23
भारतीय राष्ट्रीयता के जनक गुरूदेव रवींद्रनाथ टैगोर हैं वंदेमातरम् के हिंदुत्व के ऋषि बंकिम नहीं
भारतीय राष्ट्रीयता के जनक गुरूदेव रवींद्रनाथ टैगोर हैं वंदेमातरम् के हिंदुत्व के ऋषि बंकिम नहीं

भारत तीर्थ में सभी नस्लों राष्ट्रीयताओं के विलय के इतिहासबोध पर भारतीय राष्ट्रीयता के जनक अगर कोई हैं तो वंदेमातरम के हिंदुत्व के ऋषि बंकिम नहीं,...

पलाश विश्वास
2017-11-03 09:43:23