हस्तक्षेप > स्तम्भ > लोकलहर
प्रणव मुखर्जी भी इस्तेमाल ही तो हुए हैं  संवाद या अरुण्य रुदन
प्रणव मुखर्जी भी इस्तेमाल ही तो हुए हैं : संवाद या अरुण्य रुदन?

आरएसएस के संबंध में कोई टिप्पणी करने से ही सायास बचे हैं प्रणव मुखर्जी

राजेंद्र शर्मा
2018-06-12 19:27:14
मोदी-शाह जोड़ी के नेतृत्व में तेजी से नीचे खिसक रहा भाजपा का ग्राफ
मोदी-शाह जोड़ी के नेतृत्व में तेजी से नीचे खिसक रहा भाजपा का ग्राफ

अनुसूचित जातियों के सहयोगी पार्टियों के केंद्रीय मंत्रियों समेत, अनेक भाजपा सांसदों ने, मोदी-योगी राज मे वंचित तबकों के साथ अन्याय होने की खुलकर ...

राजेंद्र शर्मा
2018-06-05 21:53:42
कार्ल मार्क्स  सहस्त्राब्दी के सबसे महान चिंतक
कार्ल मार्क्स : सहस्त्राब्दी के सबसे महान चिंतक

    यह एक आम गलतफहमी है कि मार्क्सवादी वही है जो मार्क्स के लिखे को ही अंतिम माने। वास्तव में यह धारणा मार्क्स के मूल सिद्धांतों के ही खिलाफ है, ...

राजेंद्र शर्मा
2018-05-05 18:01:33
अपनी मनमर्जी चलाने की कोशिश में मोदी सरकार ने न्यायपालिका को गहरे संकट में धकेल दिया है
अपनी मनमर्जी चलाने की कोशिश में मोदी सरकार ने न्यायपालिका को गहरे संकट में धकेल दिया है

उत्तराखंड में दलबदल के जरिए सरकार हथियाने की BJP की कोशिशों पर पानी फेरने वाला हाईकोर्ट का असाधारण फैसला था। मोदी सरकार को ऐसे निर्भीक फैसले के ल...

राजेंद्र शर्मा
2018-04-28 17:05:45
मोदी राज के दलित प्रेम की खुलती कलई दलितों की गर्जना ने मोदी राज की चूलें हिला दी हैं
मोदी राज के दलित प्रेम की खुलती कलई... दलितों की गर्जना ने मोदी राज की चूलें हिला दी हैं

नरेंद्र मोदी सिर्फ दलित प्रतीकों के प्रति श्रद्धा के प्रदर्शनों तथा बयानबाजी से ही इसका मुकाबला करने की कोशिश कर रहे हैं। उनके दुर्भाग्य से संघ-भ...

राजेंद्र शर्मा
2018-04-14 22:49:07
योगी आदित्यनाथ के राज का एक साल  क्या उल्टी गिनती शुरू हो गयी मोदी राज की
योगी आदित्यनाथ के राज का एक साल : क्या उल्टी गिनती शुरू हो गयी मोदी राज की ?

मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के जश्न की जान पहले ही निकल गयी लगती है

राजेंद्र शर्मा
2018-03-26 15:59:41
पद्मावत की अजीब दास्तान  संघ की परियोजना का ही बिछुड़ा अंग है फिल्म
पद्मावत की अजीब दास्तान : संघ की परियोजना का ही बिछुड़ा अंग है फिल्म

फिल्म न सिर्फ जौहर और सती का महिमा मंडन करती है, जिसे जौहर के लंबे दृश्य की चाक्षुष भव्यता और भी मारक बना देती है बल्कि यह जौहर ही एक तरह से फिल्...

राजेंद्र शर्मा
2018-02-04 13:34:41
वसुंधरा जी  क्या गोतस्कर ऐसे ही गरीब होते हैं
वसुंधरा जी ! क्या (गो)तस्कर ऐसे ही गरीब होते हैं?

सुंधरा राजे सरकार का प्रशासन, इन गोपालकों को ‘‘गोतस्कर’’ साबित करने में लगा हुआ है। अलवर में तथ्यान्वेषी दल को कलैक्टर तथा एसपी से मुलाकात में जो...

राजेंद्र शर्मा
2018-01-14 14:25:07
2018 की बंद मुट्ठी  गुजरात चुनाव से भाजपा राज के अंत की शुरूआत हो गयी है
2018 की बंद मुट्ठी : गुजरात चुनाव से भाजपा राज के अंत की शुरूआत हो गयी है

जिस कृषि संकट, जिस रोजगार के संकट, जिस चौतरफा आर्थिक संकट और राजनीतिक मोहभंग ने गुजरात में नरेंद्र मोदी के पसीने छुड़ा दिए, 2018 में होने जा रहे ...

राजेंद्र शर्मा
2017-12-31 23:31:31