एय मेरी तुलू ए नूर .. तू बढ़ और छा जा अबद की काली रवायतों पर ..

एय मेरी तुलू ए नूर .. तू बढ़ और छा जा अबद की काली रवायतों पर .. कर शुरूआत नयी .. लिक्ख उजाले  अपनी लकीरों में .. तू ख़ुशियों का अर्क पी .....

अतिथि लेखक

डॉ. कविता अरोरा

एय मेरी तुलू ए नूर ..

तू बढ़ और छा जा अबद की काली रवायतों पर ..

कर शुरूआत नयी ..

लिक्ख उजाले  अपनी लकीरों में ..

तू ख़ुशियों का अर्क पी ..

रक्साँ- रक्साँ बढ़ चल ..

हो बड़ी ..मेरे भरोसे पर ..

कि यह माँ ..

ता उम्र तुम्हारा साथ नहीं छोड़ने वाली ...

तू बेख़ौफ़ चल आगे ..

मैं साये की तरह चल रही हूँ ना ..पीछे- पीछे ..

तू कहीं भी कमज़ोर नही पड़ना ...

दुआओं का इक मज़बूत हाथ है तेरे सर पर ...

तू अपने हौसलें आज़मा तो सही ...

मैं देखूँ ...

कौन -कौन से मौसम ..डराते हैं ..

ख़फ़ा होते हैं तेरी परफिशानी से ...

तू अपनी उड़ानें ..बुलंदियों तलक ले जा ...

कि क़ाबे ने  ..सरेआम क़बूला है ..

लिक्खा है पाकीज़ा  किताबों के सुफेद सफ़हों पर  बड़े ही पक्के हर्फ़ो से ...

कि मैं माँ हूँ ..

जन्नत यक़ीनन मेरे ही पाँव तले है ...

बुत खाने सुबूत हैं ..

कि आठ हाथों की रूहानी ताकतें मौजूदा हैं ..मेरे कने ......

मैं ठीक तुम्हारे पीछे खड़ी हूँ ...

गिर्दाब के रू़ख पलटने को ...

तू सुरमई बादलों पर गुलाबी इबारतें लिक्ख ...

मैंने शफ़क को रोक के रक्खा है ...

मैं तेरी राह में कोई स्याह रात हरगिज़ ..नहीं आने दूँगी ...

मैंने कड़कती धूप को कस दिया है पल्लू की गिरह में ...

मैंने तुझ संग रिश्ते में  कोई कच्चा रंग नहीं भरा ...

जिसे वक़्त की धूप उड़ा दे ..

फीका कर दे  ...

मैंने खुद को निचोड़ कर  तुम्हें ...लिक्खा है ..

यह लहू से उकेरी ...बुनी इबारत है

नसों में दौड़ती हुयी हरारत है  ..

इतनी आसानी से कौन मिटा सकता है तुझे ...

तू कह  मैं तमाम रिवाजों के ख़िलाफ़ जाकर के सुनूँगी तुझे ....

क्योंकि मैंने तुम्हें  माशरे की बेकार रस्मों रवायतों के लिये  हरगिज़ नही जना ...

मैंने जना है ..तुम्हें ..सिर्फ़ 

और सिर्फ़ तुम्हारे लिये

-0-0-0-

 तुलू ए नूर (beginning of light ) , अबद (अनन्तकाल..eternity ) ...,अर्क (essence) ...,रक्साँ (dancing)..,परफिशानी (पर फड़फड़ाना ) ..,क़ाबा (masjid)..,बुतखाना (mandir )..,पाकीज़ा (holy)..,सफ़हों (page)..,हर्फ़ो (words),गिर्दाब ( बवंडर) ,इबारत (Article,sentence),माशरा (society )

Topics - Happy Daughter's Day 2018, Daughter's Day, daughters day in india, daughters day quotes from mother, daughters day quotes, daughters day quotes in hindi, daughter day Wishes WhatsApp Messages Quotes, बेटी दिवस की शुभकामनाएं 2018, बेटी दिवस, भारत में डॉटर्स डे 2018, बेटियों के दिन मां, डॉटर्स डे पर कोट्स, बेटियों के दिन उद्धरण, बेटी दिवस 2018 व्हाट्सएप संदेश उद्धरण,  डॉ. कविता अरोरा, डॉ. कविता अरोरा की कविता, डॉटर्स डे पर कविता,

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।