खुल गया राज़ : ऐसे गिरी कर्नाटक में भाजपा की सरकार, फेल हो गए बीजेपी के चाणक्य

खुल गया राज़ : ऐसे गिरी कर्नाटक में भाजपा की सरकार, फेल हो गए बीजेपी के चाणक्य...

खुल गया राज़ : ऐसे गिरी कर्नाटक में भाजपा की सरकार, फेल हो गए बीजेपी के चाणक्य

कर्नाटक के नाटक का एक चैप्टर समाप्त हो गया।  भाजपा के मुख्यमंत्री बीएस_येदियुरप्पा को विश्वासमत से पहले ही इस्तीफ़ा देना पड़ा।

दरअसल, भाजपा Karnataka में सबसे बड़ी पार्टी तो बनी थी, लेकिन वो बहुमत का आंकड़ा छू नहीं पाई थी। 222 सीटों में से भाजपा को 103 सीटों पर जीत मिली है और राज्यपाल वजूभाई_वाला ने बहुमत से आठ सीटें कम होने के बावजूद येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री की शपथ दिला दी थी और विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का वक़्त दिया था। लेकिन इसके ख़िलाफ़ कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट चली गई और आधी रात को इस मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई, जिसके बाद शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि येदियुरप्पा को 19 मई को शाम चार बजे ही बहुमत साबित करना होगा।

इसके बाद राज्यपाल ने भाजपा विधायक केजी बोपैया को कर्नाटक विधानसभा का प्रो-टेम स्पीकर बनाया लेकिन कांग्रेस इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ भी सुप्रीम कोर्ट गई। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने फ़ैसला दिया कि केजी बोपैया कर्नाटक विधानसभा के प्रो-टेम स्पीकर बने रहेंगे। शाम साढ़े तीन बजे जब लंच के बाद सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो येदियुरप्पा ने 15 मिनट का भाषण दिया जिसके अंत में बिना शक्ति परीक्षण उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>