राजनीति के भविष्यवक्ता थे मधु लिमये जिनकी आज पुण्य तिथि है

Madhu Limaye was the predecessor of politics, whose death anniversary is today...

अतिथि लेखक
Madhu Limaye was the predecessor of politics, whose death anniversary is today

आज (8 जनवरी) वरिष्ठ समाजवादी नेता, लेखक और विचारक श्रद्धेय मधु लिमये की पुण्य तिथि (Madhu Limaye's death anniversary) है। आदरणीय मधुजी की स्मृति को सादर नमन!

मधुजी भारतीय राजनीति के बहुत ही सौम्य, संजीदा और प्रखर विचारक राजनेता थे। उनके जैसे संविधान विशेषज्ञ सांसद हमारी संसद में कम ही हुए हैं। उनकी लेखन प्रतिभा भी अद्भुत थी। उसमें तथ्यों की भरमार के साथ बहुत गहराई होती थी। राजनीतिक विश्लेषक के रूप में उन्होंने जो लिखा वह सब ऐतिहासिक दस्तावेजों के रूप में दर्ज हो गया और आगे चलकर उनकी कही और लिखी बातें सच भी साबित हुईं। वे एक प्रकार से राजनीति के भविष्यवक्ता थे। वे अकेले समाजवादी नेता थे जो डॉ. लोहिया से भी तर्क और संवाद के माध्यम से अपनी राय की पुष्टि कराने की सामर्थ्य रखते थे।

मुझे अपनी तरुणावस्था का वह लम्हा आज भी याद है जब तत्कालीन सोवियत राष्ट्रपति ब्रेझनेव (Soviet President Brezhnev), ने उनसे मिलने के लिये अपनी वापसी की फ्लाइट विलम्बित कर दी थी। तब मैंने उस भेंट वार्ता की सराहना करते हुए 17 वर्ष की उम्र में "नई दुनिया" में सम्पादक के नाम पत्र (Letter to edito) लिखा था। वह सम्भवतः मेरा पहला प्रकाशित पत्र था।

प्रवीण मल्होत्रा (Praveen Malhotra)

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।