शेम-शेम बलात्कारी के समर्थन में तिरंगा यात्रा ...

ये देश केजरी, अन्ना और संघियों को कभी माफ नहीं करेगा जिन्होंने राष्ट्र ध्वज का दुरुपयोग सत्ता और क्षुद्र स्वार्थ के लिए करने की शुरुआत रामलीला मैदान से की थी।...

अतिथि लेखक

पंकज चतुर्वेदी

ये तिरंगा यात्रा जम्मू के कठुआ जिले में निकल रही है। दो दिनों से ये राष्ट्रवादी पठानकोट हाई वे पर जाम किये हैं।

यह तिरंगा यात्रा का मक़सद यदि जान लेंगें तो इन पर थूकेंगे। असल में एक महीने पहले रसना नामक गॉव में 8 साल की गद्दी घुमंतू परिवार की अश्फा नामक मासूम बच्ची की लाश मिली थी। उस बच्ची के साथ पहले कुकर्म किया गया था और फिर उसकी हत्या। इस बच्ची को एक सप्ताह तक बंधक बना कर रखा गया था और उसके साथ लगातार पाप किया गया था।

जम्मू कश्मीर पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने इस मामले में एक एस पी ओ दीपक खजुरिया को गिरफ्तार किया। सनद रहे यह आरोपी पहले हीरा नगर थाने के उस जांच दल में भी शामिल था जो अफ्शा के मामले की जांच कर रही थी। चूंकि आरोपी हिन्दू है सो इलाके के हिंदूवादी संगठन "हिन्दू एकता मंच" इस बात के लिए आंदोलन कर रहे हैं कि बलात्कारी, हत्यारे को बाइज्जत रिहा किया जाए।

ये देश केजरी, अन्ना और संघियों को कभी माफ नहीं करेगा जिन्होंने राष्ट्र ध्वज का दुरुपयोग सत्ता और छुद्र स्वार्थ के लिए करने की शुरुआत रामलीला मैदान से की थी।

पंकज चतुर्वेदी की एफबी टाइमलाइन से साभार

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।