हिन्दू युवा वाहिनी पर प्रतिबंध लगे – दारापुरी

लखनऊ, 7 मई। आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने मांग की है कि हिन्दू युवा वाहिनी पर तत्काल प्रतिबंध लगाया जाए।

आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता एस. आर. दारापुरी ने आज एक बयान में कहा कि सहारनपुर के शब्बीरपुर गाँव में हिन्दू युवा वाहिनी द्वारा बिना प्रशासन की अनुमति के महाराणा प्रताप जयंती पर जुलूस निकालने की कोशिश की गयी, जिस पर दलितों ने आपत्ति की, परन्तु हिन्दू युवा वाहिनी के लोगों ने जबरदस्ती करने की कोशिश की और दलितों के साथ मारपीट की. इस पर दोनों तरफ से पत्थरबाजी हुयी जिस में सुमित सिंह की मौत हो गयी तथा दोनों तरफ से बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं. इसके बाद इर्द गिर्द के गाँव के ठाकुर लोग इकठा हो कर दलित बस्ती पर हमलावर हुए जिसमें दलितों के 60 घर जला दिए गए, डॉ. आंबेडकर की मूर्ति तोड़ी गयी तथा रविदास मंदिर जलाया गया. जिस दौरान आगजनी हुयी उस समय पुलिस वहां पर मौजूद थी परन्तु उसने इसे रोकने के लिए कोई कार्रवाही नहीं की.

एस. आर. दारापुरी ने कहा कि उपरोक्त घटना की पृष्ठभूमि यह है कि 14 अप्रैल को आंबेडकर जयंती पर दलित गाँव में जुलुस निकालना चाहते थे परन्तु ठाकुरों द्वारा आपत्ति करने पर उन्होंने जुलूस नहीं निकाला था. अब जब हिन्दू युवा वाहिनी ने महाराणा प्रताप जयंती पर बिना अनुमति के जबरदस्ती जुलूस निकालने की कोशिश की तो इस पर दलितों ने आपत्ति की और उपरोक्त घटना घटित हुयी.

आइपीएफ नेता ने कहा कि दरअसल उत्तर प्रदेश में योगीराज की स्थापना के बाद योगीजी की संस्था हिन्दू युवा वाहिनी की शाखाएं पूरे प्रदेश में स्थापित हो गयी हैं, जबकि इससे से पहले वह केवल पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर मंडल तक ही सीमित थीं. इसके फलस्वरूप इसकी गुंडागर्दी पूरे उत्तर प्रदेश में फ़ैल गयी है जिसका शिकार पहले मुसलमान थे और अब दलित भी हो रहे हैं.  

आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने मांग की है कि हिन्दू युवा वाहिनी पर प्रतिबंध लगाया जाये, दलितों पर हमले के दोषियों को सजा दी जाये, लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों को दण्डित किया जाये तथा उत्तर प्रदेश में कानून के राज की स्थापना की जाये.

 

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: