Breaking News
Home / मुंबई की ऑडियंस दिल खोल कर मेरी फिल्म “डैडीज डॉटर” को देखे और पसंद करे “अभिमन्यु चौहान”

मुंबई की ऑडियंस दिल खोल कर मेरी फिल्म “डैडीज डॉटर” को देखे और पसंद करे “अभिमन्यु चौहान”

अभिमन्यु चौहान द्वारा निर्देशित “डैडीज डॉटर” का गुरुवार को मुंबई में प्रीमियर हुआ! बातचीत के दौरान निर्देशक अभिमन्यु ने मीडिया के लोगो से कहा कि , वह उम्मीद करते हैं कि मुंबई में लोग दिल खोलकर इस फिल्म को देखे और पसंद करे!

अभिमन्यु से पूछा गया की उन्हें मुंबई के दर्शकों से क्या उम्मीदें हैं, तो उन्होंने कहा, "मुम्बई के लोग फिल्मों को दिल से नहीं देखते, वे उनके नंबर्स (बॉक्स-ऑफिस) को देखते हैं! मैं उम्मीद करता हूँ की वे अपने दिल खोल कर फिल्म को सिर्फ साफ़ सुथरे मनोरंजन के लिए देखें। फिल्म का प्रीमियर आइकॉन में होना, सच मानिये यह किसी सपने से कम नहीं ‘आइकॉन’ मुम्बई में फिल्मो का हब हैं!"

फिल्म और उसके कंटेंट में बारे में बात करते हुए निर्देशक ने कहा, "एक पिता को अपने और अपनी बेटी के बीच की दुरी को कम करना चाहिए और यही सही मायने में किशोर लड़कियों के शोषण को रोकने का एकमात्र तरीका है। बचपन में हर लड़की अपनी पिता की लाडली होती हैं, लेकिन जैसे-जैसे वह बड़ी होने लगती हैं, लडकियों का पिता से दुरी होने का एहसास उन्हें गलत रस्ते की ओर ले जाता है, और वह ऐसा जानबूझ कर नहीं करती यही बात मेरी फिल्म 'डैडीज डॉटर’ दर्शाती हैं!”

फिल्म का एक प्रीमियर लखनऊ में हो चूका हैं, और अपने पहले प्रीमियर में बारे में बात करते हुए निर्देशक ने कहा, "लखनऊ में हमें बहुत अच्छा रेस्पोंस मिला। फिल्म को देखने के बाद मैंने बहुत से लोगो की आंखें नम देंखी! उन्होंने कहानी से खुद को जुड़ा महसूस किया क्योंकि यह सब हमारे जीवन का हिस्सा हैं! अगर आप यह फिल्म एक पिता या बेटी के नज़रिये से देखते हैं तो आप फिल्म को अच्छे से समझ सकते है क्योंकि फिल्म के अंदर इन्ही के रिश्तो को गहराई से दिखाने  की कोशिश की गयी है! मैंने कुछ ऑनलाइन रिव्यु भी पढ़े है और देखा की लोगो को फिल्म काफी पसंद आ रही है! आजकल लोग आजकल भावनात्मक चीज़ो से जुड़ते नहीं है लेकिन मेरी फिल्म की कहानी ने उन्हें भी झिंझोड़ कर रख दिया है, और यही मेरी सबसे बड़ी जीत हैं”

अभिमन्यु चौहान द्वारा निर्देशित और लिखित फिल्म में मिथिलेश चतुर्वेदी, फरीहन खान, गर्मि रास्तोगी, सुभम सक्सेना और रवि शर्मा ने अहम् भूमिकाये निभाई हैं!

फिल्म को सोनिका सिंह, दीपा वर्मा और विमला यादव ने प्रोडूस किया हैं, और फिल्म फरवरी 2018 में एक बार रिलीज़ हो चुकी हैं!

About हस्तक्षेप

Check Also

Union Minister for Human Resource Development, Dr. Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’

आईआईटी के सामने नई मुसीबत, मंत्रीजी का हुक्म- साबित करो संस्कृत वैज्ञानिक भाषा है

नई दिल्ली, 17 अगस्त। देश के प्रमुख संस्थान आईआईटी और एनआईटी भी मोदी जी के …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: