Breaking News
Home / समाचार / कानून / क्लैट 2020 में सफलता के लिए सबसे बेहतरीन रणनीति
Consortium of National Law Universities

क्लैट 2020 में सफलता के लिए सबसे बेहतरीन रणनीति

नई दिल्ली: लॉ की डिग्री (Law degree) को कई दशकों से भारी लोकप्रियता मिलती आ रही है और इसका कारण यह है कि किसी भी स्ट्रीम (कॉमर्स हो या इंजीनियरिंग) का छात्र आसानी से इसका चयन कर सकता है। इसके अलावा, समाज में करियर और सम्मान के मामले में भी इसका बहुत स्कोप है।

नई दिल्ली स्थित प्रथम एजुकेशन के लॉ विभाग के नेशनल प्रॉडक्ट हेड, अमनदीप राजगोत्रा ने बताया कि,

“क्लैट 2019 की परीक्षा (clat 2019 question paper) हाल ही में सफलतापूर्वक आयोजित की गई थी, जिससे लॉ के कई उम्मीदवारों को उनके पसंद का कॉलेज मिलने में मदद मिली। हालांकि, कुछ अंकों के फर्क के कारण कुछ छात्र सफल नहीं हो सके। ऐसे छात्रों के लिए यही सलाह है कि, यह समय निराश होने का नहीं है बल्कि की गई गलतियों को पीछे छोड़ नई रणनीति तैयार करने का समय है। अगली परीक्षा में अभी पूरा एक साल बाकी है इसलिए तैयारी के लिए भी काफी समय है। प्रारंभिक तैयारी उन्हें क्लैट 2020 (clat 2019) में अच्छा प्रदर्शन करने और सफलता पाने में मदद करेगी।”

लॉ प्रवेश परीक्षा (Law entrance exam) यानी कि क्लैट की परीक्षा (Common Law Admission Test) अब ऑफलाइन हो चुकी है। पेपर के मुख्य भागों में सामान्य ज्ञान, लीगल एप्टीट्यूड, अंग्रेजी, लॉजिकल रीजनिंग और गणित शामिल हैं। लॉ की डिग्री करियर के विभिन्न अवसर प्रदान करती है, जिसके साथ आप पैरालीगल, जासूसी, वकील, जज, सामाजिक कार्य और एमएनसी और बैंक में कॉरपोरेट लॉयर जैसे विकल्पों में अपने पसंद के करियर का चुनाव कर सकते हैं। इतना ही नहीं, आप खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं।

क्लैट की परीक्षा कैसे क्रैक करें How to crack clat exam,

अमनदीप राजगोत्रा ने आगे बताया कि,

“इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए कठिन परिश्रम बहुत जरूरी है। आखिर वक्त में की गई तैयारी से छात्र को कुछ खास मदद नहीं मिलती इसलिए शुरुआत से ही तैयारी करें और साथ ही उसका रिवीजन भी करते चलें। छात्रों को मॉक टेस्ट सीरीज (Mock test series) को नियमित रूप से हल करना चाहिए। यह उनकी समझ का विस्तार करता है और चीजों को याद रखने में भी आसानी होती है। बच्चों को हंसमुख और शांत वातावरण में रखना चाहिए क्योंकि यह वातावरण उसे सफलता का रास्ता दिखाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। नियमित करंट अफयर्स की तैयारी करते चलें। यदि आप अभी से तैयारी शुरू कर देंगे और निरंतर प्रयास करेंगे तो आपको अपना सपना पूरा करने से कोई नहीं रोक सकता है।”

एक छात्र के लिए 12वीं की बोर्ड परीक्षा पर ध्यान देना और साथ ही प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना बहुत जरूरी है। छात्रों के लिए दोनों परीक्षाओं के बीच संतुलन बनाकर रखना आवश्यक हो जाता है क्योंकि एक अंकों के आधार पर कॉलेज में प्रवेश दिलाती है तो दूसरी प्रवेश परीक्षा के आधार पर एक बेहतरीन संस्थान में पढ़ने का मौका देती है।

About हस्तक्षेप

Check Also

Madhya Pradesh Progressive Writers Association

विचार के बिना अधूरी होती है रचना

प्रलेसं के एक दिवसीय रचना शिविर में कविता, कहानी, लेखन पर हुआ विमर्श वरिष्ठ रचनाकारों …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: