Breaking News
Home / समाचार / तकनीक व विज्ञान / कोयले से कार्बन उत्सर्जन में भारत और चीन दुनिया में शीर्ष पर : रिपोर्ट
Environment and climate change

कोयले से कार्बन उत्सर्जन में भारत और चीन दुनिया में शीर्ष पर : रिपोर्ट

कोयले से कार्बन उत्सर्जन में भारत और चीन दुनिया में शीर्ष पर : रिपोर्ट

India and China among the top 10 emitters for the rise in coal consumption

केटोविस, 6 दिसम्बर। जीवाश्म ईंधन (Fossil fuels) और उद्योग से कार्बन डाई-ऑक्साइड (carbon dioxide) का उत्सर्जन 2018 में लगातार दूसरे साल बढ़कर नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच जाएगा। यह बात हालिया एक रिपोर्ट में कही गई है। रिपोर्ट में भारत और चीन को दुनिया में कोयले की सबसे ज्यादा खपत करने वाले 10 देशों में शीर्ष पर रखा गया है।

पोलैंड के इस शहर में जारी सीओपी24 (COP24) में बुधवार को जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि मुख्य रूप से तेल और गैस के उपयोग में लगातार वृद्धि होने से कार्बन उत्सर्जन में दो फीसदी का इजाफा हो सकता है जिससे उत्सर्जन का स्तर नई ऊंचाई पर होगा।

ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट के अनुमान के अनुसार, कार्बन डाई-ऑक्साइड के उत्सर्जन में 2.7 फीसदी की वृद्धि हो सकती है। हालांकि 1.8 फीसदी से लेकर 3.7 फीसदी के बीच उतार-चढ़ाव रह सकता है।

तीन साल बाद 2017 में कार्बन उत्सर्जन में 1.6 फीसदी का इजाफा हुआ।

ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट (Global Carbon Project) द्वारा नेचर, एनवारयमेंट रिसर्च लेटर्स एंड अर्थ सिस्टम साइंस डाटा जर्नलों में प्रकाशित 2018 ग्लोबल कार्बन बजट से ये नतीजे प्राप्त किए गए हैं।

यहां संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन वार्ता (सीओपी-24) के सालाना सम्मेलन में रिपोर्ट के नतीजों की घोषणा की गई।

दुनिया में कार्बन का सबसे ज्यादा उत्सर्जन करने वाले देशों में चीन, अमेरिका, भारत, रूस, जापान, जर्मनी, ईरान, सऊदी अरब, दक्षिण कोरिया और कनाडा शामिल हैं। 28 देशों का समूह यूरोपीय देश तीसरे स्थान पर है।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें



About हस्तक्षेप

Check Also

Cancer

वैज्ञानिकों ने तैयार किया केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैल चुके कैंसर के इलाज के लिए नैनोकैप्सूल

केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैले कैंसर का इलाज (Cancer treatment) करना बेहद मुश्किल है। लेकिन …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: