Breaking News
Home / समाचार / दुनिया / 56 इंच से डर नहीं रहा दुष्ट पाकिस्तान, पिछले दरवाजे से भारत से बातचीत का प्रस्ताव ठुकराया
Imran Khan with Narendra Modi

56 इंच से डर नहीं रहा दुष्ट पाकिस्तान, पिछले दरवाजे से भारत से बातचीत का प्रस्ताव ठुकराया

नई दिल्ली, 16 सितंबर 2019. भारत के साथ बढ़ते तनाव के बीच पाकिस्तान ने कुछ मुस्लिम देशों के उस प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया है, जिसमें पिछले दरवाजे से भारत के साथ बातचीत की बात कही गई थी।

द पाक ट्रिब्यून की एक खबरIslamabad refuses backdoor talks with New Delhi” के मुताबिक पाकिस्तान ने कुछ शक्तिशाली देशों के साथ-साथ कुछ मुस्लिम देशों द्वारा कश्मीर पर दो परमाणु-सशस्त्र पड़ोसियों के बीच चल रहे तनाव में वृद्धि के बाद भारत के साथ पिछले दरवाजे की कूटनीति में शामिल होने से इनकार कर दिया है।

इमरान खान से अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी पर अपने मौखिक हमलों को शांत करने का भी अनुरोध किया गया था जिसमें उन्होंने एडोल्फ हिटलर के साथ मोदी की बराबरी (Modi’s match with Adolf Hitler) की थी।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने प्रक्रिया से जुड़े हुए अधिकारी के हवाले से खबर दी है कि पाकिस्तान ने वैश्विक समुदाय के अनुरोधों को ठुकरा दिया है और यह स्पष्ट किया है कि भारत को कुछ शर्तों को पूरा करने के लिए राजी किए जाने के बाद ही वह भारत के साथ चुप या पारंपरिक कूटनीति के जरिए जुड़ेगा। इन शर्तों में जम्मू-कश्मीर में लगाए गए कर्फ्यू और अन्य प्रतिबंधों को उठाना शामिल है।

अखबार ने खबर दी है कि जब सऊदी अरब के उप विदेश मंत्री और यूएई के विदेश मंत्री बीती 3 सितंबर को एक साथ इस्लामाबाद गए, तो वे अपने नेतृत्व व और साथ ही कुछ अन्य शक्तिशाली देशों की ओर से एक ‘संदेश’ लेकर आए जिसमें भारत के साथ पाकिस्तान को बैक चैनल कूटनीति में संलग्न करने का आग्रह किया गया था।

ख़बर के मुताबिक सऊदी के उप विदेश मंत्री अदेल अल-जुबिर और यूएई के विदेश मंत्री अब्दुल्ला बिन अल-नाह्यान ने अपनी यात्रा के दौरान पाक प्रधान मंत्री इमरान खान और पाक थल सेनाध्यक्ष जनरल क़मर जावेद बाजवा दोनों से मुलाकात की। उन्होंने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।

अखबार ने एक अधिकारी का नाम गोपनीय रखते हुए उसके हवाले से खबर दी है कि, सऊदी और यूएई दोनों राजनयिकों ने पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव को कम करने में भूमिका निभाने की इच्छा व्यक्त की। प्रस्तावों में एक प्रस्ताव दोनों देशों को एक-दूसरे के साथ पिछले दरवाजे की वार्ता को प्रोत्साहित करने के लिए था। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ टेलीफोन पर अपनी बातचीत में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पाक पीएम इमरान खान द्वारा उन पर किए जा रहे मौखिक हमलों की शिकायत की थी।

 

Imran Khan , Indo-Pak , kashmir

About हस्तक्षेप

Check Also

Two books of Dr. Durgaprasad Aggarwal released and lecture in Australia

हिन्दी का आज का लेखन बहुरंगी और अनेक आयामी है

ऑस्ट्रेलिया में Perth, the beautiful city of Australia, हिन्दी समाज ऑफ पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया, जो देश …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: