Home / लालू ने नीतीश से कहा, ‘ऐतिहासिक भूल मत कीजिए’

नई दिल्ली, 22 जून। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को 'दलित की बेटी' करार देते हुए कहा है कि जनता दल (युनाइटेड) का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के समर्थन का फैसला एक ऐतिहासिक भूल है उन्होंने नीतीश से इसे सुधारने की अपील की।

कांग्रेस के नेतृत्व में 17 विपक्षी पार्टियों की बैठक के बाद मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाने के फैसले की घोषणा के बाद लालू ने संवाददाताओं से कहा,

"आज मैं (बिहार के मुख्यमंत्री) नीतीश कुमार से अपील कर रहा हूं कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और बिहार की बेटी का समर्थन करें।"

लालू ने कहा,

"ऐतिहासिक भूल मत कीजिए। यह आपकी पार्टी का गलत फैसला (रामनाथ कोविंद का समर्थन) है।"

राजद अध्यक्ष की यह टिप्पणी जद (यू) द्वारा 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद के समर्थन की घोषणा करने के एक दिन बाद आई है। यहां हुई बैठक में जद (यू) शामिल नहीं हुआ।

लालू प्रसाद की राजद, नीतीश कुमार की जद (यू) तथा कांग्रेस बिहार में महागठबंधन सरकार के हिस्सा हैं।

लालू ने कहा कि वह नीतीश कुमार से मुलाकात करेंगे और कोविंद का समर्थन करने के फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध करेंगे।

उन्होंने कहा,

 "मैं कल (शुक्रवार) पटना जा रहा हूं और इस बारे में उनसे बात करूंगा। मैं उनसे कहूंगा कि रामनाथ कोविंद का समर्थन कर वह ऐतिहासिक भूल नहीं करें। उन्हें विचारधारा की लड़ाई नहीं छोड़नी चाहिए।"

राजद अध्यक्ष ने कहा कि वह नीतीश कुमार ही थे, जिन्होंने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष को एकजुट करने की पहल की थी।

लालू ने कहा,

"नीतीश ने कहा था कि वह विपक्षी उम्मीदवार का समर्थन करेंगे। लेकिन उनकी पार्टी ने व्यक्तित्व के आधार पर कोविंद का समर्थन करने की कल घोषणा की।"

उन्होंने कहा,

"पसंद व्यक्तित्व के आधार पर नहीं, बल्कि विचारधारा के आधार पर होनी चाहिए।"

राजद नेता ने कहा,

"हम फासीवादी ताकतों को रोकने के लिए साथ आए हैं।"

घोषणा से पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर विचार-विमर्श न करने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए लालू ने कहा,

"इसकी घोषणा से पहले भाजपा ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर अपनी पसंद के बारे में किसी से चर्चा नहीं की।"

उन्होंने कहा,

"हमारे लिए इसके बदले वे क्या कर रहे हैं? वह मुझ पर समर्पण करने के लिए दबाव डाल रहे हैं।"

राजद अध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि जद (यू) द्वारा कोविंद को समर्थन करने के बावजूद बिहार सरकार पर कोई खतरा नहीं है।

उन्होंने कहा,  

"उन्होंने हमारे साथ विश्वासघात किया या नहीं, यह वही जानते हैं। हमारी वहां गठबंधन सरकार है और सरकार पर कोई खतरा नहीं है। हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है।"

लालू ने नीतीश से कहा, ‘ऐतिहासिक भूल मत कीजिए’

नई दिल्ली, 22 जून। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को 'दलित की बेटी' करार देते हुए कहा है कि जनता दल (युनाइटेड) का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के समर्थन का फैसला एक ऐतिहासिक भूल है उन्होंने नीतीश से इसे सुधारने की अपील की।

कांग्रेस के नेतृत्व में 17 विपक्षी पार्टियों की बैठक के बाद मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाने के फैसले की घोषणा के बाद लालू ने संवाददाताओं से कहा,

"आज मैं (बिहार के मुख्यमंत्री) नीतीश कुमार से अपील कर रहा हूं कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और बिहार की बेटी का समर्थन करें।"

लालू ने कहा,

"ऐतिहासिक भूल मत कीजिए। यह आपकी पार्टी का गलत फैसला (रामनाथ कोविंद का समर्थन) है।"

राजद अध्यक्ष की यह टिप्पणी जद (यू) द्वारा 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद के समर्थन की घोषणा करने के एक दिन बाद आई है। यहां हुई बैठक में जद (यू) शामिल नहीं हुआ।

लालू प्रसाद की राजद, नीतीश कुमार की जद (यू) तथा कांग्रेस बिहार में महागठबंधन सरकार के हिस्सा हैं।

लालू ने कहा कि वह नीतीश कुमार से मुलाकात करेंगे और कोविंद का समर्थन करने के फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध करेंगे।

उन्होंने कहा,

 "मैं कल (शुक्रवार) पटना जा रहा हूं और इस बारे में उनसे बात करूंगा। मैं उनसे कहूंगा कि रामनाथ कोविंद का समर्थन कर वह ऐतिहासिक भूल नहीं करें। उन्हें विचारधारा की लड़ाई नहीं छोड़नी चाहिए।"

राजद अध्यक्ष ने कहा कि वह नीतीश कुमार ही थे, जिन्होंने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष को एकजुट करने की पहल की थी।

लालू ने कहा,

"नीतीश ने कहा था कि वह विपक्षी उम्मीदवार का समर्थन करेंगे। लेकिन उनकी पार्टी ने व्यक्तित्व के आधार पर कोविंद का समर्थन करने की कल घोषणा की।"

उन्होंने कहा,

"पसंद व्यक्तित्व के आधार पर नहीं, बल्कि विचारधारा के आधार पर होनी चाहिए।"

राजद नेता ने कहा,

"हम फासीवादी ताकतों को रोकने के लिए साथ आए हैं।"

घोषणा से पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर विचार-विमर्श न करने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए लालू ने कहा,

"इसकी घोषणा से पहले भाजपा ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर अपनी पसंद के बारे में किसी से चर्चा नहीं की।"

उन्होंने कहा,

"हमारे लिए इसके बदले वे क्या कर रहे हैं? वह मुझ पर समर्पण करने के लिए दबाव डाल रहे हैं।"

राजद अध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि जद (यू) द्वारा कोविंद को समर्थन करने के बावजूद बिहार सरकार पर कोई खतरा नहीं है।

उन्होंने कहा,  

"उन्होंने हमारे साथ विश्वासघात किया या नहीं, यह वही जानते हैं। हमारी वहां गठबंधन सरकार है और सरकार पर कोई खतरा नहीं है। हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है।"

About हस्तक्षेप

Check Also

Health News

सोने से पहले इन पांच चीजों का करें इस्तेमाल और बनें ड्रीम गर्ल

आजकल व्यस्त ज़िंदगी (fatigue life,) के बीच आप अपनी त्वचा (The skin) का सही तरीके से ख्याल नहीं रख पाती हैं। इसका नतीजा होता है कि आपकी स्किन रूखी और बेजान होकर अपनी चमक खो देती है। आपके चेहरे पर वक्त से पहले बुढ़ापा (Premature aging) नजर आने लगता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: