Breaking News
Home / समाचार / देश / बढ़ती गर्मी के साथ-साथ कर्नाटक में बढ़ती जा रही लोकसभा चुनाव की सरगर्मी
Lok sabha election 2019

बढ़ती गर्मी के साथ-साथ कर्नाटक में बढ़ती जा रही लोकसभा चुनाव की सरगर्मी

दिनों-दिन बढ़ती गर्मी के साथ-साथ कर्नाटक (Karnataka) में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) की सरगर्मी बढ़ती जा रही है। राज्य में कुल 28 लोकसभा सीटें हैं। इनमें चार सांसदीय क्षेत्र कलबुर्गी, रायचूर, चामराजनगर, और विजयपुर आरक्षित हैं। दो चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव में प्रदेश के सत्ताधारी गठबंधन सरकार के जनता दल (एस), कांग्रेस, विपक्षी भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, एसयूसीआई (कम्युनिस्ट) पार्टी, उत्तम प्रजाकीय पार्टी, भारतीय प्रजेगळ कल्याण पार्टी, जयप्रकाश जनता दल, पिरामिड पार्टी ऑफ इंडिया, इंडियन न्यू कांग्रेस पार्टी, अहिरा नेशनल पार्टी, कमुनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया इन सभी पार्टियों के उम्मीदवारों के साथ-साथ निर्दलीय भी चुनाव के समर में उतरकर अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने 27 लोकसभा क्षेत्रों में अपना प्रत्याशियों को उतारा है। मंड्या सांसदीय क्षेत्र (Mandya Parliamentary Area) में भाजपा ने आजाद उम्मीदवार कन्नड़ अभिनेत्री सुमनलता अंबरीश (Sumalatha Ambirash) को अपना समर्थन दिया है। कांग्रेस ने 21 स्थानों पर अपने उम्मीदवारों को खडा किया है। इनमें मौजूदा नौ सांसदों को भी टिकट दिया गया है।

जनता दल (एस) – Janata Dal (S) ने राज्य के मंड्या, हासन, तुमकूर, विजयपुर, उत्तर कन्नड, उडुपी-चिकमगलूर और शिमोग्गा सात क्षेत्रों में अपने उम्मीदवारों को उतारा है।

बहुजन समाज पार्टी भी कुछ चुनिंदा क्षेत्रों में चुनाव लड़ रही है। प्रदेश में मुख्य रूप से ज्यादा स्थानों पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा टक्कर है तो, वोक्कलिगा बहुल क्षेत्रों में भाजपा और जनता दल(एस) के मध्य फाइट है। जहां बसपा उम्मीदवार है वहां त्रिकोणीय स्पर्धा दिख रही है।

हाईवोल्टेज संसदीय सीटें

कर्नाटक के 28 लोकसभा क्षेत्रों (Karnataka’s 28 Lok Sabha constituencies) में से मंड्या, तुमकूर, हासन, बेंगलूर उत्तर, बेंगलूर सेंट्रल, बेंगलूर दक्षिण, चिकमंगलूर, कोलार चामराजनगर और दक्षिण कन्नड की हाईवोल्टेज संसदीय सीटों में गिनती की जा रही है। इस क्षेत्रों में जीत के लिए उम्मीदवारों के बीच कड़ा मुकाबला चल रहा है।

इस लोकसभा चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री एस.डी देवेगौड़ा के समने ’करो या मरो’ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इस बार देवेगौड़ा अपनी परंपरागत हासन सीट छोडकर तुमकूर से चुनाव लड रहे हैं। उनके सामने भाजपा के प्रत्याशी के रूप में पूर्व सांसद जी.एस. बसवराजू (Former MP G.S. Basavaru) हैं। हासन में देवेगौड़ा ने अपने पौत्र यानी बडे बेटे रेवणा के पुत्र प्रज्वल रेवण्णा (prajwal revanna) को चुनावी दंगल में उतारा है। मंड्या में देवेगौड़ा ने अपने दूसरा पौत्र यानी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे (Son of Chief Minister HD Kumaraswamy) निखिल को चुनावी समर में खडा किया है। इसलिए जनता दल (एस) सुप्रीमो इन तीनों क्षेत्रों में जीत हासिल करने के लिए रणनीति बनाकर प्रचार में जुटे हैं।

बेंगलूर सेंट्रल में भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा सांसद पी.सी. मोहन कांग्रेस के रिजवान अरशद और आजाद उम्मीदवार अभिनेता प्रकाश राज के बीच कडी टक्कर चल रही है।

बेंगलूर दक्षिण क्षेत्र बीजेपी का गढ़ माना जाता है। यहां से स्व. अनंतकुमार लगातार जीत कर लोकसभा में प्रवेश किया करते थे, लेकिन भाजपा ने इस बार नया चेहरा तेजस्वी सूर्या को टिकट देकर मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने यहां पर एआईसीसी के पूर्व महासचिव बी.के. हरिप्रसाद को टिकट दिया है।

सिद्रामप्पा मावनूर SIDRAMAPPA MAVANOOR कर्नाटक के वरिष्ठ पत्रकार हैं
सिद्रामप्पा मावनूर SIDRAMAPPA MAVANOOR कर्नाटक के वरिष्ठ पत्रकार हैं

कोलार में कांग्रेस ने स्थानीय नेताओं और दलित संगठनों के विरोध के बावजूद पार्टी ने के.एच. मुनियप्पा को टिकट दिया है। मौजूदा सांसद मुनियप्पा पिछले सात बार लगातार से इस क्षेत्र से विजय होते आ रहे हैं। इनके सामने भाजपा ने नये चेहरे बेंगलूर बृहत महानगर पालिका सदस्य मुनिस्वामी को अपना प्रत्याशी बनाया है।

चिकबल्लापुर में पूर्व मुख्यमंत्री वीरप्प मोइली कांग्रेस के उम्मीदवार बने हैं। इनके सामने भाजपा के पूर्व मंत्री बी.एन. बच्चेगौडा हैं। इस क्षेत्र से दोबार जीत हासिल करने वाले वीरप्पा मोइली इस बार हैट्रिक जीत के लिए उत्साह दिखा रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता श्रीनिवास प्रसाद इस बार अपने परंपरागत गढ़ चामराजनगर क्षेत्र से चुनावी मैदान में उतरे हैं। यहां वे अपने ही शिष्य कांग्रेस के ध्रुवनारायन से मुकाबला कर रहे हैं।

दक्षिण कन्नड़ लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने इस बार नया चेहरा युवा नेता मिथुन राय को टिकट दिया है। भाजपा के मौजूदा सांसद नलीनकुमार कटील ने जीत के लिए कड़ा संघर्ष कर रहे हैं।

बहरहाल इन क्षेत्रों के चुनावी समर में उतरे सभी प्रत्याशी जीत के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। इस महीने अप्रैल 18 और 23 को दो चरणों में मतदान होगा।

बेंगलुरू से सिद्रामप्पा मावनूर की रिपोर्ट   

( सिद्रामप्पा मावनूर SIDRAMAPPA MAVANOOR कर्नाटक के वरिष्ठ पत्रकार हैं)

About हस्तक्षेप

Check Also

एक आइडिया आप की ज़िंदगी कैसे बदल देगा, अपनी तरकीब को भी आजमा लें 

आइडिया अर्थात् विचार हमारे सोचने की प्रक्रिया से संबंधित होती है. सोचने की प्रक्रिया और जीवन के अनुभव हमारी स्मृति का निर्माण करते हैं, जो मानव साफ्टवेयर की भांति कार्य करती है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: