Breaking News
Home / समाचार / देश / जेईई मेन 2020 की परीक्षा पैटर्न में किए गए बदलाव

जेईई मेन 2020 की परीक्षा पैटर्न में किए गए बदलाव

नई दिल्ली। एनटीए (National Testing Agency (NTA),) ने हाल ही में जारी किए गए नए नोटिफिकेशन में परीक्षा पैटर्न में कुछ बदलावों की घोषणा की है। परीक्षा पैटर्न में बदलाव के साथ जेईई मेन 2020 के लिए पहले से तैयार रहें। जानकारी दे रहे हैं फिटजी से संबद्ध आईआईटी जेईई विशेषज्ञ रमेश बाटलिश –

जेईई मेन परीक्षा (Joint Entrance Examination (JEE) का पहला सत्र 6 से 11 जनवरी 2020 के बीच आयोजित किया जाएगा, जिसमें पेपर 1 (बी.ई. / बी.टेक) और पेपर 2 (बी.आर्क / बी प्लानिंग) शामिल होंगे। जेईई मेन 2020 में प्रश्नों की संख्या कम होगी जबकि न्यूमेरिकल के सवाल ज्यादा होंगे। प्रश्न पत्र अंग्रेजी, हिंदी और गुजराती में उपलब्ध होगा। पेपर 1 प्रति दिन 2 सत्रों में आयोजित किया जाएगा और उम्मीदवारों को स्लॉट रेंडम तरीके से दिए जाएंगे।

जेईई मेन 2020 के दूसरे सत्र के पेपर 1 और पेपर 2 को 3 से 9 अप्रैल 2020 तक आयोजित किया जाएगा। छात्रों के पास एक या दोनों सत्रों में उपस्थित होने का विकल्प है। यदि छात्र किसी कारण से एक सत्र में उपस्थित नहीं हो पाता है या पहले सत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं दे पाता है तो वह दूसरे सत्र में उपस्थित हो सकता है। जिस सत्र का परिणाम बेहतर होगा उसके आधार पर रैंकिंग की जाएगी।

जेईई मेन 2020 का नया पैटर्न New pattern of JEE Main 2020

जेईई मेन पेपर-1 (बी.ई. / बी.टेक) और पेपर-2 (बी.आर्क / बी.प्लानिंग) की परीक्षा केवल ‘कम्प्यूटर आधारित टेस्ट’ मोड में आयोजित की जाएगी। लेकिन बी.आर्क का ड्राइंग टेस्ट ऑफलाइन मोड (पेपर-पेन के साथ) में आयोजित किया जाएगा। उम्मीदवार अपनी पसंद के अनुसार बी.ई. / बी.टेक,  बी.आर्क या बी.प्लानिंग की परीक्षा के लिए उपस्थित हो सकते हैं। जेईई मेन 2020 की परीक्षा के पैटर्न के अनुसार, पेपर 1 में मल्टिपल चॉइस प्रश्न और संख्यात्मक प्रश्न शामिल होंगे जबकि पेपर 2 बी.आर्क और बी.प्लानिंग के उम्मीदवारों के लिए अब अलग-अलग होगा।

पेपर-1 (बी.ई. / बी.टेक) में बदलाव

जेईई मेन 2020 की परीक्षा पैटर्न के अनुसार, पेपर 1 में तीन खंड शामिल होंगे – गणित, भौतिकी और रसायन विज्ञान। प्रत्येक भाग में 20 बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) और 5 संख्यात्मक समस्याएं शामिल हैं। संख्यात्मक समस्याओं के लिए नेगेटिव मार्किंग नहीं है, जबकि एमसीक्यू में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए -1 काटा जाएगा। कुल 300 अंकों की इस परीक्षा के लिए छात्रों को 3 घंटे का समय मिलेगा।

पेपर-2 (बी.आर्क) में बदलाव

इस पेपर के तीन भाग होंगे – गणित, एप्टीट्यूड और ड्राइंग। कुल 400 अंकों के इस पेपर के लिए छात्रों को 3 घंटे का समय मिलेगा।

भाग 1 – कुल 100 अंकों के साथ गणित में 20 एमसीक्यू और 5 संख्यात्मक प्रश्न शामिल हैं।

भाग 2 – कुल 200 अंकों के साथ एप्टीट्यूड में 50 एमसीक्यू प्रश्न होंगे।

भाग 3 – कुल 100 अंको के साथ ड्राइंग में 2 प्रश्न होंगे।

एमसीक्यू में सही उत्तर के लिए +4, गलत उत्तर के लिए -1 और अनअटेम्प्टेड प्रश्न के लिए 0 अंक मिलेंगे, जबकि न्यूमेरिकल वैल्यू में सही उत्तर के लिए +4 और गलत या अनटैम्ड के लिए 0 अंक मिलेंगे।

पेपर-2 (बी.प्लानिंग) में बदलाव

इस पेपर के तीन भाग होंगे – गणित, एप्टीट्यूड और प्लानिंग। यह पेपर कुल 400 अंकों का होगा। 100 प्रश्नों के इस पेपर के लिए 3 घंटों का समय मिलेगा।

भाग 1 – कुल 100 अंकों के साथ गणित में 20 एमसीक्यू और 5 संख्यात्मक प्रश्न शामिल हैं।

भाग 2 – कुल 200 अंकों के साथ एप्टीट्यूड में 50 एमसीक्यू होंगे।

भाग 3 – कुल 100 अंकों के साथ प्लानिंग में 25 एमसीक्यू होंगे।

एमसीक्यू में सही उत्तर के लिए +4, गलत उत्तर के लिए -1 और अनअटेम्प्टेड प्रश्न के लिए 0 अंक मिलेंगे। जबकि न्यूमेरिकल वैल्यू में सही उत्तर के लिए +4 और गलत या अनटैम्ड के लिए 0 अंक मिलेंगे।

About हस्तक्षेप

Check Also

Two books of Dr. Durgaprasad Aggarwal released and lecture in Australia

हिन्दी का आज का लेखन बहुरंगी और अनेक आयामी है

ऑस्ट्रेलिया में Perth, the beautiful city of Australia, हिन्दी समाज ऑफ पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया, जो देश …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: