अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन पर क्या बोला पाकिस्तान

What did Pakistan say on Ram temple land worship in Ayodhya Prime Minister Narendra Modi performed bhoomi pujan for construction of Ram temple in Ayodhya on 5 August प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और मंदिर की आधार शिला रखी. हालाँकि इस …
अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन पर क्या बोला पाकिस्तान

What did Pakistan say on Ram temple land worship in Ayodhya

Prime Minister Narendra Modi performed bhoomi pujan for construction of Ram temple in Ayodhya on 5 August

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और मंदिर की आधार शिला रखी. हालाँकि इस भूमिपूजन को लेकर विवाद है। एक तरफ कहा जा रहा है कि यह पूजन हिन्दू शास्त्रों के मुताबिक नहीं है, जबकि दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि मंदिर का शिलान्यास तो राजीव गांधी के कार्यकाल में ही हो चुका था। बहरहाल अब खबर पाकिस्तान से है। पाक ने मोदी सरकार के इस क़दम की सख़्त आलोचना की है।

बीबीसी की एक रपट के मुताबिक पाकिस्तान ने कहा है कि मस्जिद की जगह मंदिर का निर्माण, भारतीय लोकतंत्र के चेहरे पर एक दाग़ है।

In response to the Ram temple Bhumi Pujan in Ayodhya, the Pakistani Foreign Ministry has issued a statement

बीबीसी की एक रपट के मुताबिक पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है,

“वो ज़मीन जिस पर बाबरी मस्जिद 500 बरसों तक खड़ी रही हो, वहां राम मंदिर का निर्माण निंदनीय है। भारतीय सुप्रीम कोर्ट का मंदिर बनाने के लिए इजाज़त देने का फ़ैसला, न सिर्फ़ मौजूदा भारत में बढ़ते बहुसंख्यकवाद को दर्शाया है, बल्कि ये भी दिखाता है कि कैसे धर्म न्याय के ऊपर हावी हो रहा है। आज के भारत में अल्पसंख्यक, ख़ासकर मुसलमानों के धर्मस्थलों को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। ऐतिहासिक मस्जिद की ज़मीन पर बना मंदिर तथाकथित भारतीय लोकतंत्र के चेहरे पर एक दाग़ की तरह होगा।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सूचना मंत्री फ़ैय्याज़ उल हसन चौहान ने कहा,

“पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर खोलने जैसा क़दम उठा रहा है, जबकि भारत हर वो क़दम उठा रहा है जो मुसलमानों और दूसरे अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ़ हो और इसी वजह से पूरी दुनिया में उसकी जगहंसाई हो रही है। भारतीय प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी बीजेपी के फ़ैसले से उनके चेहरे से धर्मनिरपेक्ष देश होने का नक़ाब उतर चुका है जिसकी पूरी दुनिया अब निंदा कर रही है।”

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription