आपकी नज़रहस्तक्षेप

और न्यूज चैनलों ने पाकिस्तान फतह कर लिया

Amit Maurya अमित मौर्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से प्रकाशित होने वाले समाचारपत्र “गूंज उठी रणभेरी” के संपादक हैं।

अखबारी काम और लोगों से मिलते जुलते रात के ग्यारह बज गए थे। घर पहुँचा तो बच्चे सो चुके थे। बीबी ने अर्धनिद्रित अवस्था में मुझे देखते ही ऊंघते हुए पूछा खाना गर्म करूँ क्या..?

चूंकि शाम को भाई के साथ गोलगप्पे के ठेले पर खड़े होकर उसका एक चौथाई भाग पेट के गोदाम में स्टॉक कर चुका था इसलिए खाने के लिए मना करते हुए कपड़े चेंज कर एक किनारे लेट गया।

नींद तुरन्त आनी नहीं थी इसलिए टीवी ऑन कर चैनल बदलने लगा। दस से पन्द्रह मिनट बाद आंखों को पलकों ने ढंकना शुरू ही किया था कि अचानक देखता हूं बमों की धड़ाम-धड़ाम और गोलियों की तड़-तड़  की आवाज के और पाकिस्तान मुर्दाबाद हिन्दोस्तान जिंदाबाद के नारों से माहौल से देश की ‘चैनली सेना’ ने पाकिस्तान पर हमला कर दिया है।

भारत के ‘जीजी नुज’ के कैमरा कमांडो पाकिस्तान के पेशावर तक घुस गए हैं, और वहां के पाकिस्तानी अवाम के मुंह में ‘माइकी मिसाईल’ डाल के हिन्दोस्तान जिंदाबाद के नारे लगवा रहे हैं।

वहीं ‘एभीपी नुज बटालियन’ लाहौर को कब्जाते हुए वहां ‘बाप को रखे आगे’ का स्लोगन देते हुए तिरंगा फहरा चुकी है।

पेशावर में त्राहि-त्राहि मची हुई है नुज अनेशन’ के ‘आईडी सैनिक बल’ की दो कम्पनियां सानिया मिर्जा और हिना रब्बानी के बंगले को खोज रही हैं।

वहीं ‘एंडिया नुज एर फोर्स’ की ‘डिबेट सेना’ हवाई हमले करते हुए इस्लामाबाद को तबाह कर चुकी है, इमरान अपने खोली में बैठ रोते हुए रहम की भीख मांग रहे हैं।

फेसबुकिया कमांडो की टीम के सामने जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी हथियार डाल चुके हैं। हाफ़िज़ सईद अपने गुनाहों से तौबा करते हुए इनके लिए काफी बना रहा है।

वाट्सपिया बल के जवान मसूद अजहर को पकड़ के उसे भगवा कच्छा पहना रहे हैं। अब तक वो दो मिनट में दो सौ बार हिंदुस्तान जिंदाबाद, हमारे नये परधानमंती मोईजी की जय हो जय कर रहा है।

वहीं ‘येनकेन डी टीवी’ ग्राउंड पर सफेद ओवी वैन के साथ पहुँच कर, अब तक कितने जख्मी में हैं, कितनों को शांति चाहिए, कहाँ-कहाँ अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार का हनन हुआ है, खोज रही है।

अब तक इस युद्ध के कवरेज के लिए मैं भी पहुँच गया था, मन में गदर के तारा सिंह बनने की इच्छा लिए मोबाइल में मरियम नवाज के पते पर पहुँच कर मरियम मरियम चिल्ला ही रहा था।

अब तक नवाज शरीफ के गोद मे दुबकी मरियम दौड़ कर मेरे पास आ रही थी, तबसे बीबी ने झिंझोड़ के जगाते हुए कहा क्या बड़बड़ रहे हैं।

और आज लखनऊ जाना है न सुबह के छ बज गए हैं, और रात को टीवी पर न्यूज लगाकर सो गये, हद करते हैं।

आंख मलते हुए उठा और मन ही मन कह रहा था कि कलमुँही दस मिनट बाद जगाती तो क्या हो जाती ई औरतें सपने में भी सौतन से पहले आ जाती हैं।।

अमित मौर्य की कलम से

(लेखक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से प्रकाशित होने वाले समाचारपत्र “गूंज उठी रणभेरी” के संपादक हैं।)

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: