शेयर मार्केट : “जियो” बना आरआईएल के लिए मारक तो एयरटेल की बल्ले-बल्ले

ट्राई द्वारा जियो की प्राइम मेंबर प्लान पर रोक लगाए जाने के आदेश के बाद शुक्रवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली।...

शेयर मार्केट : “जियो” बना आरआईएल के लिए मारक तो एयरटेल की बल्ले-बल्ले

सेंसेक्स 221 अंक गिरकर 29707 के स्तर पर बंद हुआ 

अंकिता सिंह

नई दिल्ली। कमजोर ग्लोबल संकेतों और एशियाई मार्केट में गिरावट के बीच शुक्रवार को घरेलू मार्केट की शुरुआत गिरावट के साथ हुई। कारोबार में बैंकिंग, आईटी, एफएमसीजी, मेटल, फार्मा शेयरों में गिरावट देखने को मिली, जिसकी वजह से मार्केट पर दबाव देखने को मिला।

52 हफ्ते के नए उच्चतम स्तर पर पहुंचे ये स्टॉक

एक ओर जहां मार्केट में गिरावट का दौर है, वहीं कारोबार में कुछ स्टॉक 52 हफ्ते के नए उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं।

शुरुआती कारोबार में एनएसई पर आदित्य बिड़ला मनी, जय बालाजी इंडस्ट्रीज, कन्सोलिडेटेड कंस्ट्रक्शन, पॉली मेडीक्यूर, पेनिनसुला लैंड, अशोक बिल्डकॉन, जुआरी एग्रो केमिकल, इंडियाबुल होल, एमईपी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स लिमिटेड, सीएंडसी कंस्ट्रक्ट, कोपरन लिमिटेड, श्रेयांस इंडस्ट्री, किर्लोस्कर ऑयल और एवेन्यू सुपरमार्ट्स लिमिटेड के स्टॉक्स 52 हफ्ते के नए उच्चतम स्तर पर पहुंचे।

जियो को लगा झटका तो एयरटेल की बल्ले-बल्ले

ट्राई द्वारा जियो की प्राइम मेंबर प्लान पर रोक लगाए जाने के आदेश के बाद शुक्रवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली। कारोबार के दौरान स्टॉक में 1.6 फीसदी तक की गिरावट हुई। वहीं जियो पर पाबंदी की खबर के बाद प्रतिस्पर्द्धी भारती एयरटेल के स्टॉक्स में 2 फीसदी की तेजी देखने को मिली।  

ये शेयर रहे बाज़ार पर भारी

यूएसएफडीएफ द्वारा सन फार्मा के दड्रा प्लांट में औचक निरीक्षण की खबरें आने के बाद स्टॉक में कारोबार के दौरान 2 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली।

सन फार्मा का स्टॉक पिछले कुछ समय से अंडरपरफॉर्म चल रहा है। पिछले एक साल में सेंसेक्स ने जहां 21 फीसदी का रिटर्न दिया है, जबकि सन फार्मा के स्टॉक 17 फीसदी तक गिरे हैं।  

गोल्डमैन सैक्स ने अडानी पोर्ट्स को एशिया पैसिफिक कन्विक्शन बाई लिस्ट से हाटने के साथ स्टॉक को डाउनग्रेड करते हुए न्यूट्रल करते हुए टारगेट प्राइस 371 रुपए कर दिया है। इसके चलते शुक्रवार के कारोबार में स्टॉक में 1.5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है।

रुपए में 17 पैसे की गिरावट - हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन में रुपए की कमजोर शुरुआत हुई। डॉलर के मुकाबले रुपया 17 पैसे कमजोर होकर 64.69 के स्तर पर खुला।

गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपए ने 35 पैसे की छलांग लगाई। इसके साथ ही रुपया लगभग 20 महीने की नई उंचाई 64.52 रुपए प्रति डॉलर पर जाकर बंद हुआ। इससे पहले 11 अगस्त 2015 को रुपए अपने उच्चतम स्तर पर बंद हुआ था। तब डॉलर के मुकाबले रुपए 64.19 रहा था।

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं