न्यूज डिस्टिल अब है ''पब्लिक वाइब''

क्षेत्रीय न्यूज़ एग्रीगेटर मंच, न्यूज डिस्टिल अपने नए नाम ''पब्लिक वाइब'' के नाम से मैदान में आ गया है...

न्यूज डिस्टिल अब है

हैदराबाद, 5 अप्रैल 2017। क्षेत्रीय न्यूज़ एग्रीगेटर मंच, न्यूज डिस्टिल अपने नए नाम ''पब्लिक वाइब'' के नाम से मैदान में आ गया है। नाम परिवर्तन कंपनी की व्यापक प्रतिबद्धता को दर्शाता है साथ ही अपनी डिजिटल तकनीक के माध्यम से त्वरित न्यूज़ अपडेट कर न्यूज़ एग्रीगेटर मंच के भविष्य को नया आयाम/आकार देगा।

कंपनी के नाम परिवर्तन पर टिप्पणी करते हुए, ''पब्लिक वाइब (पूर्व न्यूज डिस्टिल) के सीईओ  नरसिंह रेड्डी ने कहा,

"यह निश्चित रूप से कंपनी के लिए एक बड़ा कदम है क्योंकि हम विकसित हो रहे हैं और यह हमारे भविष्य के लक्ष्यों के अनुरूप है। नाम परिवर्तन कंपनी की वर्तमान और भविष्य की बेहतर दिशा को दर्शाता है।"

साथ ही उन्होंने कहा कि,

''कंपनी का लोगो सकारात्मक सोच, निश्चय, दूरदर्शिता और कंपनी की उभरती भावना को दर्शाता है। साथ ही उपयोगकर्ताओं को एक अनोखा अनुभव देने और ताज़ा घटित घटनाओं को तत्काल उन तक पहुंचाने का प्रतिक है। हमारा उद्देश्य लोगों के नब्ज को समझना और ख़बरों ठीक से प्रसारित करना है ताकि उपयोगकर्ता नवीनतम घटनाओं के साथ आगे बढ़ सकें।''

पब्लिक वाइब (पूर्व न्यूज डिस्टिल) भारत में गांवों से मेट्रो शहरों तक की नजदीकी/आस-पास की तत्काल ख़बरें प्रदान करता है। विषय आधारित समाचार एकत्रीकरण इंजन पूरे न्यूज़फ़ीड को सभी क्षेत्रीय भाषाओं में विषयों और उप-विषयों में वर्गीकृत करता है। इससे उपयोगकर्ता बिना किसी समस्या के अपनी पसंदीदा समाचार पढ़ सकते हैं।

ऐप्प संबंधी प्रगति के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि,

"हम व्यक्तिगत और सामाजिक गतिविधियों को सही ढंग से समझ कर पाठकों को न्यूज़ फ़ीड देने के लिए, हमारी रिकमेन्डेशन इंजन में सुधार कर रहे हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप कोई फिल्म देखने के लिए जा रहे हैं तो, हम फ़िल्म ट्रेलर, साक्षात्कार और फिल्म की समीक्षा आदि की सिफारिश कर सकते हैं। हम अगले कुछ महीनों में इस तरह की कई अन्य दिलचस्प विशेषताओं के साथ आ रहे हैं। जल्द ही पब्लिक वाइब आपके व्यक्तिगत समाचार सहायक के रूप में आपको वास्तविक समय पर न्यूज़ अपडेट प्रदान करेगा, जो पूरी तरह से आपका व्यक्तिगत न्यूज़ फ़ीड होगा।"

पब्लिक वाइब (पूर्व न्यूज डिस्टिल) के नवीनतम अपडेट में, एंड्रॉइड ऐप्स के सभी उपयोगकर्ताओं को समाचार पढ़ने का सर्वोत्तम अनुभव देने के लिए सुविधाएँ बढ़ाई गई है। पब्लिक वाइब के वाईस प्रेसिडेंट मार्केटिंग, भास्कर रेड्डी ने कहा कि,

"पब्लिक वाइब ने अपने नवीनतम संस्करण में वीडियो, जीफ्स और तस्वीरों के माध्यम से मजेदार और मनोरंजक सामग्री को उपलब्ध किया है। इसके अलावा अंग्रेजी न्यूज़ फ़ीड को 500+ उप श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य दिलचस्प विशेषताएं भी हैं।"

हमारे एंड्रॉइड ऐप्प का पहला स्थिर संस्करण मार्च 2016 में पेश किया गया था, और उसके बाद से अपार सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। वर्तमान में हमारे पास आईओएस ऐप्प का बीटा संस्करण है और स्थिर संस्करण एक माह में उपलब्ध होगा।

हमारे ऐप्प उपयोगकर्ताओं में क्षेत्रीय भाषा के उपयोगकर्ताओं का कुल योगदान 75% हैं। सबूत के तौर पर यह आंकड़ा भारत में क्षेत्रीय भाषा के ख़बरों की स्टैंड आउट मॉडल की संभावना को इंगित करता है।

नया नाम तुरंत प्रभावी है और कंपनी के उत्पादों में तुरंत लागू किया जाएगा।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या महिलाओं को शांति से जीने का अधिकार नहीं