पाकिस्तान को आतंकी देश नहीं मानती मोदी सरकार !

 

Govt not to support Bill to declare Pakistan a 'terror state'

डीबी लाइव

केंद्र सरकार भले ही पाकिस्तान को सबक सिखाने की बात करती है, लेकिन राज्यसभा में पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने और मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीनने की मांग वाले प्राइवेट मेंबर बिल का समर्थन नहीं करेगी।

सूत्रों के मुताबिक सरकार ने अंतरराष्ट्रीय संबंध खराब होने का हवाला देकर इस बिल का समर्थन करने से इनकार कर दिया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बिल का विरोध करते हुए संसदीय सचिवालय को लिखा कि इससे अंतरराष्ट्रीय संबंधों के लिए खतरा पैदा हो सकता है।

एक वरिष्ठ सरकारी अफसर ने कहा कि हमारे पड़ोसी देशों के साथ कूटनीतिक संबंध हैं, जिसमें व्यापार और उच्चायोग भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के तहत किसी भी पड़ोसी देश को आतंकी देश घोषित करना समझदारी नहीं होगी।

आपको बता दें कि पिछले दिनों राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर ने पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने के लिए आतंकवाद प्रायोजक देश की घोषणा विधेयक, 2016 नामक एक प्राइवेट मेंबर बिल राज्यसभा में पेश किया था।

चंद्रशेखर ने इसके साथ ही पाकिस्तान का मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा खत्म करने की भी मांग की थी। उनका कहना था कि दशकों से भारत और इस क्षेत्र के अन्य देश पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों के हमले का शिकार होते रहे हैं।

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और दुनिया के कई हिस्सों में निर्दोष लोगों की जान गई है। लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार ने उनके इस बिल का विरोध करने का फैसला लिया है।

तो सूत्रों के हवाले से खबर है कि अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का हवाला देते हुए केंद्र सरकार, पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने की मांग वाले बिल का समर्थन नहीं करेगी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?