आपकी नज़रहस्तक्षेप

जानिए क्यों फैलाया जाता है भरम सारे राजनीतिक दल एक जैसे हैं

National News

गैर राजनीतिक बनाम राजनीतिक (Non-Political vs. Political)। राजनीतिक दल /पार्टियां सारी एक जैसी नही होतीं। सारे राजनीतिक दल (Political party) एक जैसे हैं या एक ही हैं, ये बहुत बड़ा भरम है जो फैलाया जाता है। खासकर जो दल जितना खराब होता है वो उतनी ही तत्परता से अपने काले कारनामों को छुपाने के लिए ये बोलता है। जैसे आप एक पार्टी के गन्दे कारनामे को कहें तो उसका प्रवक्ता तुरन्त दूसरी पार्टी के बारे में बात करना शुरू कर देगा।

एक और फैशनबल बात चल निकलती है आजकल। खूब रजनियतायेगें लोग। खूब रस ले लेकर अपने मन की राजनीतिक पार्टी के गुण गाएंगे लेकिन जैसे ही कोई उनके दिल मे घुसी बैठी पार्टी की आलोचना करेगा वैसे ही तुरन्त अपने खोल के भीतर चले जायेंगे और बोलेंगे की यकर हम राजनीतिक बातों में दिलचस्पी नही रहते। I hate tears की तर्ज पर बोलेंगे I hate politics. ये जो लोग गैर राजनीतिक होने का चश्मा लगाते हैं वो ज्यादातर उनके द्वारा अपने मन की पार्टी की आलोचना से बचने का एक तरीका भर होता है। वो लोग असल मे खूब राजनीति करते हैं, राजनीति के शिकार होते हैं, बस राजनीति की जो अपनी टूटी-फूटी समझ है उसी से चिपके रहना चाहते हैं।

एक बात, हर खराब विचारधारा वाला दल (Bad ideology) चाहता है कि लोग अ-राजनीतिक हो जाएं। अ- राजनीतिक जनता से बढ़िया शिकार कोई नहीं होता। चाहे जितना उल्लू बनाओ ,जनता अगर सवाल पूछना ही भूल जाएगी तो उनका राज बेखटके चलता रहेगा।

जिन्हें राजनीति समझ नहीं आती और वो इसे अपनी बौद्धिक कमी न मानकर इस पर इतराते हैं, उन्हें अपनी सीमा समझनी चाहिए कि वो एक जागरूक इंसान न होकर केवल’ मैं मैं’ कैटेगरी के आत्मरति ग्रस्त नादान हैं।

आलोक वाजपेयी

(लेखक इतिहासकार हैं।)

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.