Breaking News
Home / समाचार / देश / नोटबंदी : जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं मोदी – सीताराम येचुरी
Sitaram Yechury सीताराम येचुरी,

नोटबंदी : जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं मोदी – सीताराम येचुरी

नोटबंदी : जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं मोदी – सीताराम येचुरी

मोदी जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं जो पहले लोगों की जेब काट ले और फिर कहे कि वह कल्याण योजनाएं लेकर आएगा – येचुरी

Notebandi: Modi is behaving like a pick-pocket, says Sitaram Yechury

नई दिल्ली, 08 जनवरी। नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने आरोप लगाया है कि उन्होंने ‘जेबकतरे’ की तरह लोगों का पैसा ले लिया।
फेसबुक पर येचुरी ने लिखा कि मोदी पर कालाधन रखने वालों को इसे सफेद में बदलने में मदद कर रहे हैं और कहा कि सरकार यह दावा करके धोखाधड़ी कर रही है कि नोटबंदी के बावजूद विकास दर 7.1 प्रतिशत रहेगी। एक दिन पहले ही भाजपा ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने के फैसले को ‘पवित्र कदम’ कहा था और इससे अर्थव्यवस्था साफ-सुथरी होने का दावा किया था।
कामरेड येचुरी ने कहा कि जब सरकार ने बैंकों में वापस आये नोटों पर कोई आंकड़ा जारी नहीं किया है और धन निकालने पर पाबंदी बरकरार है तो ‘कालेधन पर जीत’ का दावा भाजपा कैसे कर सकती है।

अपनी फेसबुक पोस्ट में येचुरी ने लिखा,

‘‘मोदी जेबकतरे की तरह बर्ताव कर रहे हैं जो पहले लोगों की जेब काट ले और फिर कहे कि वह कल्याण योजनाएं लेकर आएगा।’’

येचुरी ने कहा कि 2014 के चुनावों से पहले मोदी ने कहा था कि 90 प्रतिशत कालाधन विदेशों में जमा है। इस मोर्चे पर प्रधानमंत्री कुछ नहीं कर रहे।

माकपा महासचिव ने आशंका जताई कि 31 मार्च के बाद नोटबंदी के नतीजतन ऐसा नहीं हो कि बैंकों में छापे गये नोटों से ज्यादा मुद्रा आ जाए।

कामरेड येचुरी ने दावा किया,

‘‘अंतत: होगा यह कि काला धन सफेद हो जाएगा और जाली नोट वैध मुद्रा में तब्दील हो जाएंगे।’’

About हस्तक्षेप

Check Also

Sandeep Pandey Mohd. Shoaib

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर 10 दिनों में 5 बार हमला, मोदी सरकार के मन में चोर है ?

लखनऊ, 20 अगस्त 2019. बीती 11 व 16 अगस्त, 2019 को एडवोकेट मोहम्मद शोएब, संदीप …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: