Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह
Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह

पैंथर्स पार्टी ने जम्मू-कश्मीर पर संसद के बिल को खारिज किया, राज्य के दर्जे से समझौता नहीं किया जा सकता

नई दिल्ली, 05 अगस्त 2019. नेशनल पैंथर्स पार्टी (National Panthers Party) के मुख्य संरक्षक प्रो. भीम सिंह ने आज संसद में पेश विधेयक को अस्वीकार्य बताया। उन्होंने कहा कि 1846 में महाराजा गुलाब सिंह (Maharaja Gulab Sing) द्वारा स्थापित 200 साल पुराने जम्मू-कश्मीर राज्य की राष्ट्रीय एकता के लिए एक गंभीर खतरा है, जिसे आज 2019 में एक विधेयक द्वारा भंग करने की कोशिश की जा रही है।

पैंथर्स सुप्रीमो ने कहा कि भारतीय राज्यों में से एक जम्मू-कश्मीर राज्य के मौजूदा दर्जे पर कोई समझौता नहीं हो सकता है, जिसको 1947 में तत्कालीन महाराजा हरिसिंह ने अन्य 575 राज्यों की तरह विलयपत्र पर हस्ताक्षर करके भारत संघ से विलय किया था। उन्होंने कहा कि यह विधेयक जम्मू-कश्मीर के लोगों को भी स्वीकार नहीं है।

पैंथर्स सुप्रीमो ने कहा कि पैंथर्स पार्टी जम्मू-कश्मीर राज्य के पुनर्गठन के लिए वचनबद्ध है, न कि वर्तमान राज्य को 2 केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के लिए। दूसरी बात यह है कि पैंथर्स पार्टी जम्मू-कश्मीर के जुड़वां राज्य अर्थात कश्मीर घाटी और जम्मू राज्य का एक संघ बनाने के लिए वचनबद्ध है। लद्दाख क्षेत्र के बारे में पैंथर्स पार्टी ने लद्दाख क्षेत्र के लोगों पर केन्द्र शासित प्रदेश का निर्णय छोड़ दिया है।

पैंथर्स पार्टी ने भाजपा के संसद में पेश विधेयक को खारिज कर दिया, जो जम्मू-कश्मीर राज्य के वर्तमान दर्जे को वंचित करता है।

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.