Rahul Gandhis press conference

खट्टर की अभद्र टिप्पणी को राहुल ने घिनौना बताया

नई दिल्ली, 10 अगस्त 2019. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा कश्मीरी महिलाओं पर की गई टिप्पणी (Comment on Kashmiri women made by Haryana Chief Minister Manohar Lal Khattar) को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने घिनौना बताया है। उन्होंने कहा है कि यह साबित करता है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशिक्षण एक व्यक्ति के दिमाग पर क्या असर डालता है।

श्री गांधी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा,

“हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर की कश्मीरी महिलाओं पर की गई टिप्पणी घृणित है और यह दिखाती है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशिक्षण एक कमजोर, असुरक्षित और दयनीय पुरुष के दिमाग पर क्या असर डालता है। महिला पुरुष के लिए कोई संपत्ति नहीं है।”

राहुल का यह ट्वीट शुक्रवार को एक कार्यक्रम में खट्टर द्वारा दिए गए विवादित बयान के बाद आया है। खट्टर ने उस कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जम्मू-कश्मीर को संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत मिले विशेष दर्जे को समाप्त करने के सरकार के कदम के बाद अब शादी के लिए कश्मीरी लड़कियों को लाने का रास्ता साफ हो गया है।

खट्टर ने कहा था,

“पहले बहू बिहार से आती थी, लेकिन अब हम कश्मीर से लड़कियां लाएंगे।”

खट्टर की इस टिप्पणी से बड़ा विवाद खड़ा हो गया है।

राहुल के साथ ही कांग्रेस की महिला शाखा की प्रमुख सुष्मिता देब ने कहा कि खट्टर मानसिक रूप से बीमार हैं।

उन्होंने कहा,

“खट्टर मानसिक रूप से बीमार हैं। यह मेरी कल्पना से परे है कि एक मुख्यमंत्री इस तरह के शब्द बोल सकता है।”

देब ने कहा,

“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को चाहिए कि खट्टर को मुख्यमंत्री पद से हटा दें।”

उन्होंने कहा कि हरियाणा के पानीपत से ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की शुरुआत की गई थी।

बता दें कि तीन दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने कहा था कि पार्टी कार्यकर्ता अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने से उत्साहित हैं, क्योंकि अब वे गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे।

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.