दिग्विजय सिंह ने सनातन संस्था के आतंकियों से मोदी के कनेक्शन के इशारों-इशारों में लगाए आरोप

दिग्विजय सिंह ने सनातन संस्था के आतंकियों से मोदी के कनेक्शन के इशारों-इशारों में लगाए आरोप

नई दिल्ली, 12 अगस्त। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने महाराष्ट्र में पकड़े गए सनातन संस्था के आतंकियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित कनेक्शन पर सवाल उठाए हैं।

श्री सिंह ने इण्डियन एक्सप्रेस में प्रकाशित ख़बर Terror attacks foiled, 3 with links to hardline Hindu groups held: Maharashtra ATS को शेयर कपते हुए ट्विटर पर लिखा –

“इस समाचार के बारे में केवल 1/2 चेनल को छोड़ कर बाकी सारे चेनल क्यों चुप हैं ? पैनल डिसकशन क्यों नहीं हो रहा है? भाजपा और मोदी भक्त उन्हें राष्ट्रद्रोही क्यों नहीं बता रहे हैं? क्योंकि यही लोग तो मोदी जी की ट्रोल आर्मी के सदस्य हैं। उनके जमीनी सेना हैं।“

एक अन्य ट्वीट में श्री सिंह ने लिखा

“इसी केस के एक और अपराधी सतारा के सुधान्वा गोंडलेकर श्री शिवप्रतिष्ठान हिंदुस्तान के सदस्य हैं। जिसके प्रमुख सम्भाजी भिड़े हैं। सम्भा जी भिड़े मोदी जी के गुरू समान हैं। आप उनके बारे में मोदी जी के विचार यु ट्यूब पर देख सकते हैं।“

एक अन्य ट्वीट में श्री सिंह ने यू ट्यूब का एक वीडियो शेयर करके हुए लिखा

“अवश्य देखें। मोदी जी अमित शाह जी की जोड़ी कुछ कहना चाहेंगे?”

बता दें इण्डियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक कई छापे के बाद, महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दल (एटीएस) ने शुक्रवार को नलसोपारा और  सतारा से कट्टरपंथी हिंदू संगठनों से जुड़े तीन लोगों की गिरफ्तारी की घोषणा की थी। एटीएस ने यह भी कहा कि विस्फोटकों की एक बड़ी बरामदगी के साथ, लाइव क्रूड बम और जेलाटीन स्टिक समेत, उन्होंने कई जगहों पर बड़े आतंकवादी हमलों को रोक दिया था।

गिरफ्तार लोगों में वैभव राउत (40), कथित रूप से हिंदू गोवंश रक्षा समिति का सदस्य है, जिसे दक्षिणपंथी संगठन सनातन संस्थान का सहयोगी संगठन भी कहा जाता है। कथित तौर पर सनातन संस्थान से जुड़े संदिग्ध तीन तर्कवादियों – नरेंद्र दाभोलकर, गोविंद पंसारे और एमएम कलबर्गि – और पत्रकार गौरी लंकेश की की हत्या में शामिल थे ।

सतारा से एक और आरोपी सुधानव गोंधलेकर (3 9) श्री शिवराप्रतिष्ण हिंदुस्तान का सदस्य है, जिसका प्रमुख संभाजी भिड़े है।

तीनों आतंकवादियों को कठोर गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) और भारतीय दंड संहिता और विस्फोटक अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। एटीएस के अनुसार, उन्होंने 20 कच्चे बम, दो जिलेटिन चादरें, बम तैयार करने, एक छः वोल्ट बैटरी, कुछ ढीले तार, ट्रांजिस्टर और गिरफ्तार से गोंद सहित 22 आइटम जप्त किए हैं।

इण्डियन एक्सप्रेस के सूत्रों ने कहा कि राउत के घर से बरामद किए गए बम उपयोग के लिए "तैयार" थे।

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="hi" dir="ltr">इस समाचार के बारे में केवल १/२ चेनल को छोड़ कर बाकि सारे चेनल क्यों चुप हैं ? पेनल डिसकशन क्यों नहीं हो रहा है? भाजपा और मोदी भक्त उन्हें राष्ट्रद्रोही क्यों नहीं बता रहे हैं? क्योंकि यही लोग तो मोदी जी की ट्रोल आर्मी के सदस्य हैं। उनके जमींनी सेना है।  <a href="https://t.co/NJMRg4Eb3N">https://t.co/NJMRg4Eb3N</a></p>&mdash; digvijaya singh (@digvijaya_28) <a href="https://twitter.com/digvijaya_28/status/1028151194462478337?ref_src=twsrc%5Etfw">August 11, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="hi" dir="ltr">इसी केस के एक और अपराधी सतारा के सुधान्वा गोंडलेकर श्री शिवप्रतिष्ठान हिंदुस्तान के सदस्य हैं। जिसके प्रमुख सम्भाजी भिड़े हैं। सम्भा जी भिड़े मोदी जी के गुरू समान हैं। आप उनके बारे में मोदी जी के विचार यु ट्यूब पर देख सकते हैं।</p>&mdash; digvijaya singh (@digvijaya_28) <a href="https://twitter.com/digvijaya_28/status/1028153095979597826?ref_src=twsrc%5Etfw">August 11, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="hi" dir="ltr"><a href="https://t.co/7mlnqrW75B">https://t.co/7mlnqrW75B</a><br>अवश्य देखें। मोदी जी अमित शाह जी की जोड़ी कुछ कहना चाहेंगे?</p>&mdash; digvijaya singh (@digvijaya_28) <a href="https://twitter.com/digvijaya_28/status/1028155389164937217?ref_src=twsrc%5Etfw">August 11, 2018</a></blockquote>

<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

<iframe width="424" height="238" src="https://www.youtube.com/embed/JfFlZ8e7zsQ" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.