Cancer

कैंसर के मामलों में उत्तर प्रदेश सर्वाधिक प्रभावित

कैंसर के मामलों में उत्तर प्रदेश सर्वाधिक प्रभावित

फोर्टिस फ्लाइट लेफ्टिनेंट राजन ढल हॉस्पिटल, वसंत कुंज ने शुरु की कानपुर में कैंसर ओपीडी

Fortis Flight Lieutenant Rajan Dhal Hospital, Vasant Kunj launches Cancer OPD in Kanpur

कानपुर में कैंसर का इलाज. Cancer treatment in Kanpur.

कानपुर। फोर्टिस फ्लाइट लेफ्टिनेंट राजन ढल अस्पतालFortis Flight Lt Rajan Dhal Hospital (एफएचवीके) ने कानपुर के संजीवनी अस्पताल में ओपीडी सेवाओं (OPD services at Sanjivani Hospital, Kanpur) की शुरुआत की है। सिर, गर्दन, मुंह, स्तन, यूरोलॉजी, स्त्री रोग और फेफड़ों के कैंसर के इलाज में सक्षम एफएचवीके ने कानुपर के नागरिकों तक अपनी सेवाएं पहुंचाने की पहल की है। कैंसर के नियमित इलाज के अलावा यह टीम सह-रुग्णता जैसे एचआईवी, दिल की बीमारियों, मोटापा, फेफड़ों की बीमारी, यकृत रोग और ऐसी ही दूसरी जटिल बीमारियों के रोगियों का इलाज भी कर रही है जिनका इलाज करना एक चुनौती है।

The incidence of cancer has increased dramatically

सिर, गर्दन और स्तन ऑन्कोप्लास्टी विभाग के निदेशक डॉ मनदीप एस मल्होत्रा ने बताया,

“पिछले कई दशकों में कैंसर की घटनाओं में नाटकीय बढ़ोतरी हुई है और यह बात कई सरकारी, गैर-सरकारी संगठनों और निजी संस्थाओं द्वारा किए गए अध्ययनों में साफ तौर से दिखाई देती है। हर साल ऐसे लगभग दस लाख मामलेसामने आते हैं जिनका पता आखिरी समय में चलता है और कई लोग इलाज के खर्च और इस रोग से जुड़ी झूठी बातों के चलते इलाज नहीं करवाते। पिछले एक दशक में अनुसंधान संस्थानों ने भारत में कैंसर की समग्र स्थिति को सुधारने के लिए सरकारी, गैर सरकारी संगठनों और निजी क्षेत्र के संस्थानों के साथ मिलकर काम किया है।“

उन्होंने बताया कि

“इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) द्वारा दर्ज किए गए आंकड़ों से पता चलता है कि भारत में 2016 में लगभग 39 लाख मामले दर्ज किए और आने वाले वर्षों में यह संख्या और भी बढ़ेगी। उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है और उसके बाद महाराष्ट्र और बिहार का स्थान आता है। दक्षिण भारत में तमिलनाडु सूची में सबसे ऊपर है और उसके बाद क्रमश: कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और केरल का स्थान आता है।“

डॉ मनदीप एस मल्होत्रा के मुताबिक,

“आईसीएमआर ने यह भी कहा कि संभावना है कि 2020 तक कैंसर से जुड़े 17.3 लाख से ज़्यादा नए मामले सूची में शामिल हो जाएंगे और स्तन, फेफड़े और गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर से जुड़े मामले इस सूची में सबसे ऊपर होंगे।”

भारत में पाए जाने वाले कैंसर का सबसे आम प्रकार कौन सा है- Which is the most common type of cancer found in India?

पुरुषों में मुंह, प्रोस्टेट और फेफड़े का कैंसर सबसे आम है। महिलाओं में स्तन, गर्भाशय ग्रीवा और अंडाशय का कैंसर सबसे आम है:

एफएचवीके कीफेसिलिटी डायरेक्टर, सुश्री मंगला डेम्बी ने कहा –

“पिछले एक दशक में दुनिया भर में कैंसर और कैंसर के रोगियों की संख्या बढ़ी है। सरकार और निजी क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवा देने वालों के प्रयासोंके बावजूद वे सभी रोगियों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। इससे यह साफ होता है कि हमें कैंसर का जल्दी पता लगाने और रोकथाम के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाने की आवश्यकता है। अच्छी ख़बर यह है कि जल्दी पता चलने पर हर तरह के कैंसर इलाज किया जा सकता है और मरीज़ सामान्य जीवन जी सकते हैं। मैं कानपुर के नागरिकों से आग्रह करती हूं कि वे सही समय पर सही विशेषज्ञ के पास पहुँचें और कैंसर के बारे में बात करने में संकोच न करें।”

यह समस्त जानकारी एक विज्ञप्ति में दी गई है।

OPD For Cancer Patients By Fortis Hospital in Kanpur.

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.