Divyanshis Doodle titled The Walking Tree
Divyanshis Doodle titled The Walking Tree

गूगल “चलता पेड़” के डूडल के साथ बाल दिवस मना रहा है, जानिए कौन है आज के गूगल डूडल की निर्माता दिव्यांशी सिंघल

गूगल “चलता पेड़” के डूडल के साथ बाल दिवस मना रहा है, जानिए कौन है आज के गूगल डूडल की निर्माता दिव्यांशी सिंघल

Children’s day : Google Celebrates Children’s Day With Doodle On “Walking Trees”. The theme was ‘Doodle for Google’ contest this year was ‘When I grow up, I hope’.

नई दिल्ली, 14 नवंबर 2019 : भारत में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। इसे पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को श्रद्धांजलि के रूप में, जिनका जन्म 1889 में हुआ था, मनाया जाता है।

पं. जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru), जो भारत के पहले प्रधान मंत्री (Prime Minister of India) भी थे, बच्चों के बीच चाचा नेहरू के नाम से प्रसिद्ध हैं, और अक्सर उनके साथ फोटो खिंचवाते थे। उन्होंने हमेशा कहा (Children Day Quotes) कि बच्चे राष्ट्र के भविष्य हैं, उनका पालन-पोषण हमेशा सावधानीपूर्वक किया जाना चाहिए।

Today’s google doodle : आज का गूगल डूडल : गूगल डूडल टुडे : Google doodle today

इस बार पं. नेहरू के जन्म दिवस बाल दिवस पर गूगल ने डूडल बनाकर पं. जवाहर लाल नेहरू को श्रद्धांजलि दी है।

दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल हर साल भारत में स्कूल के बच्चों के लिए डूडल प्रतियोगिता रखता है। इस प्रतियोगिता में बच्चे डूडल बनाते हैं और पहला स्थान पाने वाले यानी राष्ट्रीय विजेता (Google Doodle National Winner) के डूडल को गूगल होमपेज पर रखा जाता है।

भारत में गूगल डूडल प्रतियोगिता 2019 की विजेता (winner of the 2019 Doodle for Google competition in India) दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली गुड़गांव की सात वर्षीय दिव्यांशी सिंघल है। दिव्यांशी के डूडल ने आने वाली पीढ़ियों को वनों की कटाई से बचाने के लिए भविष्य में “वॉकिंग ट्री” की उम्मीद जताई है।

इस वर्ष की गूगल डूडल प्रतियोगिता 2019 में, जिसका विषय था ‘जब मैं बड़ा हो जाऊंगा, मुझे आशा है …’, देश भर में कक्षा 1 से 10 वीं तक के 1.1 लाख से अधिक बच्चों की प्रविष्टियां आईँ।

डीपीएस गुड़गांव की छात्रा दिव्यांशी ने पेड़ों को काटे जाने को लेकर अपनी बेचैनी जताई है। वह कहती है,  “जब मैं बड़ी हो जाती हूं, तो मुझे उम्मीद है कि दुनिया के पेड़ चल सकेंगे या उड़ सकेंगे। पेड़ों को मारे बिना जमीन की सफाई की जा सकेगी। वनों की कटाई कम होगी।”

Childrens day history

बाल दिवस (Children’s day) केवल भारत में ही नहीं बल्कि विश्व के अधिकांश देशों में मनाया जाता है। भारत में यह देश के पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू के बच्चों के प्रति अगाध प्रेम भाव (Former Prime Minister Pt. Jawaharlal Nehru’s deep love for children) के चलते प्रतिवर्ष उनके जन्मदिवस (Birthday of Pt. Jawaharlal Nehru, former Prime Minister of India) के अवसर पर 14 नवम्बर को मनाया जाता है।

Topics –  childrens day history, गूगल डूडल टुडे, Google, google apps, Google program, Tech news.

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.