Mayawati shared with Narendra Modi and Atal Bihari Vajpayee

कश्मीरियों के साथ बसपा का विश्वासघात याद रखेगा हिंदुस्तान

बसपा का भाजपा समर्थन दलितहित एवं लोकतंत्र विरोधी- दारापुरी

लखनऊ.  5 अगस्त, 2019. आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के प्रवक्ता और उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिरीक्षक एस आर दारापुरी ने कहा है कि अनुच्छेद 370 पर बसपा का भाजपा समर्थन दलितहित  एवं लोकतंत्र विरोधी है।-

आज यहां जारी एक बयान में श्री दारापुरी ने कहा कि आज बसपा ने भाजपा द्वारा कश्मीर से धारा 370 हटाने के अधिनायिकवादी कदम का समर्थन करके दलितहित एवं लोकतंत्र विरोधी कार्य किया है. यह भी सर्वविदित है कि इससे पहले बसपा मानवाधिकारों को कुचलने वाले काले कानून यूएपीए का राज्य सभा से अनुपस्थित रह कर समर्थन भी कर चुकी है, जबकि इस कानून का सबसे अधिक दुरूपयोग दलितों, अदिवासियों और अल्पसंख्यकों के विरुद्ध ही हुआ है और आगे भी इसकी पूरी सम्भावना है.

उन्होंने कहा कि वैसे तो बसपा और भाजपा का गठजोड़ काफी पुराना है. बसपा ने तीन बार भाजपा से समर्थन ले कर  सरकार बनाई थी. इतना ही नहीं मायावती ने 2002 में गुजरात जा कर मोदी के पक्ष में चुनाव प्रचार भी किया था और मोदी को गोधरा मामले को ले कर 2000 मुसलमानों के जनसंहार में क्लीन चिट दी थी. हाल में बसपा द्वारा यूएपीए और कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने का समर्थन करने से लगता है कि मायावती ने अपने तथा अपने भाई आनंद कुमार के विरुद्ध भ्रष्टाचार के मामलों की जांचों से डर कर भाजपा के आगे पूरी तरह से समर्पण कर दिया है और वह भाजपा के हर अधिनायिकवादी कृत्य का समर्थन करने के लिए तैयार है.

आईपीएफ प्रवक्ता ने कहा कि मायावती का यह कृत्य दलितहित तथा लोकतंत्र विरोधी है जिसके कड़ी निंदा की जानी चाहिए. उन्होंने दलितों से अपील की है कि वे मायावती के इन दलितहित तथा लोकतंत्र विरोधी कृत्यों से सावधान हों तथा इसका विरोध करें.

Hindustan will remember BSP’s betrayal with Kashmiris

 

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.