Health news

मधुमेह रोग में चीनी से ज्यादा जरूरी है कैलोरी पर नियंत्रण रखना : डॉ. अमित छाबड़ा

मधुमेह रोग में चीनी से ज्यादा जरूरी है कैलोरी पर नियंत्रण रखना : डॉ. अमित छाबड़ा

गाजियाबाद, 14 नवंबर 2019. आज आयोजित एक कार्यक्रम में यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद के वरिष्ठ डायबिटीज रोग विशेषज्ञ (Diabetologist in Delhi NCR) डॉक्टर अमित छाबड़ा मधुमेह रोग के बारे में जानकारी (Information about diabetes in Hindi) दी। मौका था विश्व मधुमेह दिवस (World Diabetes Day) जो आज ही के दिन विश्व भर में मनाया जाता है।

इस स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम में लोगों की डायबिटीज से संबंधित जांचें निशुल्क की गईं, जिनमें ब्लड शुगर एवं 3 महीने की मधुमेह रोग की जानकारी देने वाले टेस्ट hba1c प्रमुख हैं।

आज के कार्यक्रम का विशेष आकर्षण रहा डायबिटिक तंबोला

डायबिटीज तंबोला के माध्यम से मरीजों को डायबिटीज से जुड़े अनेकों सवाल-जवाब के बारे में खेल खेल में सिखाया गया।

हॉस्पिटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ सुनील डागर ने तम्बोला के विजेताओं को पुरस्कार स्वरूप स्वास्थ्यवर्धक प्रोटीन पाउडर दे कर उन्हें सम्मानित किया।

How diabetes patients can avoid heart diseases

इस अवसर पर यशोदा सुपर स्पेशलिटी कौशांबी गाजियाबाद के ही वरिष्ठ ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ असित खन्ना ने मधुमेह के रोगियों को जानकारी दी कि वे कैसे हृदय रोगों से बच सकते हैं।

वरिष्ठ न्यूरोलॉजिस्ट डॉ सुमन चटर्जी ने लोगों को मधुमेह में हाथ और पैरों की नसों के कमजोर होने के बारे में जानकारी दी।

How to care for patients with diabetes

दंत रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अनमोल अग्रवाल दे मधुमेह के रोगियों को अपने दांतों की देखभाल कैसे करें इस बारे में जानकारी दी

किडनी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विद्यानंद ने मधुमेह की वजह से होने वाली किडनी की बीमारियों के लक्षण एवं बचाव के बारे में बताया।

डायटिशियन श्रीमती भावना गर्ग ने मधुमेह के रोगियों को खान पान के बारे में जानकारी एवं यह भी बताया कि किस तरह की डाइट मधुमेह रोग को होने से बचा सकती है।

Symptoms and prevention of eye diseases occurring in patients with diabetes

वरिष्ठ नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नरेंद्र सिंह ने मधुमेह के रोगियों में होने वाले नेत्र रोगों के लक्षण एवं बचाव के बारे में जानकारी दी

मोटे लोगों में मधुमेह की बीमारी को ख़त्म या नियंत्रित करने में बैरिएट्रिक एवं मेटाबॉलिक सर्जरी के बारे में डॉ सुशांत वढेरा ने लोगों को जानकारी दी।

लोगों के सवालों का जवाब देते हुए डॉ अमित छाबड़ा ने कहा कि यदि एक बार मधुमेह हो जाए तो उसे खत्म नहीं किया जा सकता किंतु अपनी जीवन शैली एवं खानपान एवं उचित डॉक्टरी देखभाल से उसको नियंत्रित रखा जा सकता है और मरीज एक क्वालिटी लाइफ जी सकता है।

डॉक्टर छाबड़ा ने जोर देते हुए कहा कि हम सामान्यतः मधुमेह रोग से बचने के लिए चीनी खाना कम कर देते हैं किंतु यह सही नहीं है चीनी से ज्यादा हमें कैलोरी का ध्यान रखना चाहिए जैसे कि पराठे में चीनी नहीं होती लेकिन उसमें कैलोरी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है ऐसे में वह पराठा यदि किसी को डायबिटीज होने का खतरा बना हुआ है तो उसके लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

डॉक्टर छाबड़ा ने कहा कि बैलेंस डाइट एवं 2-3 घंटे के अंतर पर खाना खाना मधुमेह को नियंत्रित रखने के लिए एक अच्छा उपाय है।

Stress is a major cause of diabetes

डॉक्टर छाबड़ा ने तनाव को डायबिटीज का एक प्रमुख कारण बताया और कहा की पारिवारिक या कार्य से जुड़ा हुआ या अन्य किसी भी प्रकार का तनाव डायबिटीज करने के लिए एक प्रमुख कारण हो सकता है।

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.