Dr. Ram Manohar Lohia Jai Prakash Narayan

इंदौर में 11 व 12 अक्टूबर को होगा राष्ट्रीय समाजवादी समागम, जुटेंगे 12 राज्यों से 200 से ज्यादा समाजवादी नेता

समाजवादी समागम की तैयारी समिति की बैठक हुई Lok Nayak Jayaprakash Narayan’s birth anniversary October 11, Dr. Ram Manohar Lohia’s death anniversary October 12,

इंदौर। लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती 11 अक्टूबर एवं डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि 12 अक्टूबर को इंदौर में आयोजित राष्ट्रीय समाजवादी समागम में देश के बारह राज्यों से डेढ़ सौ से ज्यादा वरिष्ठ समाजवादी नेता आएंगे और दो दिन तक इंदौर में वर्तमान सरकार की नीतियों पर मंथन करेंगे व देश के समाजवादी नेता क्या करें तथा किस तरह से संघर्ष करें, इस पर विचार कर निर्णय करेंगे।

समागम की तैयारी समिति के संयोजक रामबाबू अग्रवाल एवं महासचिव रामस्वरूप मंत्री ने बताया कि समागम की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गई हैं। समागम में आने वाले नेताओं की स्वीकृति भी मिलना शुरू हो गई है। अभी तक डॉक्टर आनंद कुमार, मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री रमाशंकर सिंह, पूर्व विधायक डॉ सुनीलम, प्रोफेसर राजकुमार जैन, कर्नाटक के पूर्व मंत्री बी आर पाटिल, नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर,  पूर्व मंत्री राजा पटेरिया, हिम्मत सेठ उदयपुर, सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री मंजू मोहन एवम श्याम गंभीर, एस वाय एस के अध्यक्ष नीरज कुमार, लोकतांत्रिक जनता दल के महासचिव अरुण श्रीवास्तव, संजय कनौजिया, अप्पासाहेब बेंगलुरु, राजकुमार नागेश्वर बालाघाट, आराधना भार्गव एवं डीके प्रजापति छिंदवाड़ा, क्रांति कुमार वैद्य थांदला, परमानंद पाटीदार जनपद सदस्य नीमच, कैलाश रावत सहित कई नेताओं की स्वीकृति आ चुकी है।

समागम की तैयारी हेतु तैयारी समिति की संयोजक रामबाबू अग्रवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूर्व सांसद कल्याण जैन, रामस्वरूप मंत्री, दिनेश कुशवाहा महू, लीलाधर चौधरी देवास, राजेश बैरागी झाबुआ, डा राजेंद्र शर्मा, राजेंद्र मित्तल, अजय यादव, प्रवीण जोशी, धर्मेंद्र तिवारी देवास, भरत सिंह यादव, छेदीलाल यादव, चंद्र प्रकाश बैरागी, अशोक कुमार व्यास, विनोद कुमार सुमन, रोशन लाल चंदेल, आदि ने भाग लिया।

राजेंद्र अग्रवाल राजू रतलाम, सत्यनारायण शर्मा झाबुआ, अशफाक हुसैन, धूलजी भाई पाटीदार उज्जैन, व्यस्तता के कारण नहीं आ सके।

बैठक में रामस्वरूप मंत्री ने समागम के आयोजन के सिलसिले में अब तक की गई तैयारी की जानकारी देते हुए बताया कि समागम के लिए स्थान अग्रसेन भवन स्नेह नगर, लोटस शोरूम के पास रखा गया है। आयोजन स्थल को मामा बालेश्वर दयाल नगर का नाम दिया गया है। दो दिवसीय समागम में करीब 12 राज्यों के दो सौ से अधिक प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। जिसमें अलग-अलग विषयों पर कुल 5 सत्र होंगे।

श्री मंत्री ने बताया कि तैयारी हेतु 17 सितंबर को दिल्ली में भी एक बैठक हुई, जिसमें डॉ सुनीलम, प्रोफेसर आनंद कुमार, राज कुमार जैन सहित कई वरिष्ठ साथियों ने समागम के विभिन्न सत्रों के विषय प्रस्तावों आदि को अंतिम रूप दिया।

पूर्व सांसद कल्याण जैन एवं अन्य साथियों का कहना था कि इंदौर सम्मेलन से पूरे देश में ऐसा संदेश जाना चाहिए कि जिससे भाजपा और मोदी सरकार के खिलाफ कोई ठोस समाजवादी विकल्प खड़ा हो सके।

समागम की तैयारी हेतु आवास, अर्थ संग्रह, भोजन, मंच व्यवस्था, पंजीयन, प्रचार-प्रसार सहित विभिन्न समितियां गठित कर साथियों को जिम्मेदारी सौंपी गई।

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.