Yogi Adityanath
File Photo

यूपीपीसीएल में हुए घोटाले पर मंत्री ने की मामले को घुमाने की कोशिश

यूपीपीसीएल में हुए घोटाले पर मंत्री ने की मामले को घुमाने की कोशिश

राज्य मुख्यालय लखनऊ। मोदी सरकार के उस नारे “न खाऊँगा और न खाने दूँगा” की हवा निकलती देख यूपी सरकार के मुखिया और विभागीय मंत्री सक्रिय हो गए हैं> उत्तर प्रदेश के बिजली विभाग में भ्रष्टाचार की सभी हदें पार हो गई हैं। वैसे तो यह विभाग हमेशा से ही विवादित रहा है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली दे रही है और यूपी सरकार हर रोज़ बिजली महँगी करने पर उतारू है। यह भी एक सवाल है जब केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली दे सकती हैं तो यूपी सरकार क्यों नहीं। यह सब विभाग में भ्रष्टाचार की ही वजह है। जनता को लूटा जा रहा है और योगी सरकार व उसके मंत्री मोदी की तरह नेहरू इंदिरा गांधी की बात कर मामले को घूमाने की कोशिश कर रहे हैं।

ऊर्जा विभाग के यूपीपीसीएल घोटाले को लेकर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की प्रेस कॉन्फ्रेंस। Press conference of Energy Minister Shrikant Sharma regarding UPPCL scam of Energy Department.

मंत्री ने कहा कि मामले को गम्भीरता से लिया गया है। कुछ ही घंटों में सीएम के निर्देश पर आरोपियों पर FIR दर्ज हुई और दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि सम्पूर्ण प्रकरण की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी गई है। जब तक CBI जांच शुरू नहीं करती तब तक EOW के DG इस मामले की जांच करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री आखिलेश यादव पर हमला करते हुए श्रीकांत शर्मा ने कहा कि आप बिना होमवर्क किये बोलते हैं, जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरे के घर में पत्थर नहीं फेंकते।

प्रियंका गांधी का नाम लिये बिना उन्होंने कहा कि शहजादी की बात नहीं करते, वो वही कर रहीं हैं जो शहजादे कर रहे थे, वो केवल ट्विटर तक ही सीमित हैं। भ्रष्टाचार के लिए तो सुरंग आपने 2014 में पहले ही बना दी थी ये आपका ही फैसला था, इसका जवाब अखिलेश यादव को देना चाहिए। आपने 2014 में रास्ता अख्तियार किया जो रैकेट आपने लूट के लिए तैयार किया था वो लगातार काम कर रहा था, क्या वो आपके इशारे पर काम कर रहा था, क्या लूट की छूट आपने दे रखी थी, उनकी क्या भूमिका थी हमारी सरकार ने तुरंत जो गुनाहगार हैं उनको सलाखों के पीछे भेज दिया, अभी जेल में हैं, इतना जल्दी एक्शन आपकी सरकार में कभी नहीं हुआ, और न आपकी बुआ की सरकार में होता था।

प्रियंका गांधी वाड्रा आपने एक सन्यासी की सरकार पर आरोप लगाने से पहले एक बार भी नहीं सोचा।

मंत्री ने कहा कि लंदन की जमीन सहित वाड्रा पर लगे आरोपों पर भी प्रियंका को जवाब देना चाहिए। चिदंबरम के मामले में भी जवाब देना चाहिए। UP की योगी सरकार भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है।

हमने तो पत्र लिखा था कि इसकी CBI से जांच करवाई जाए – श्रीकांत शर्मा 

श्रीकांत शर्मा ने कहा आखिलेश यादव भ्रष्टाचार में नाक तक डूबे हो, कब डूब जाओ पता नहीं, खनन घोटाला आपकी नाक के नीचे हुआ। लाल पत्थरों के ट्रक बीकानेर जाते थे, जब आपकी सरकार आयी तब आपने जांच क्यों नही करवाई। हमारी सरकार हाईकोर्ट के फैसले का इंतज़ार नहीं करती। सूचना मिलती है तुरन्त अपराधी को जेल भेजने का काम किया जाता है जिसने भी अधिकारी कर्मचारियों का पैसा लूटा है बचेगा नही सलाखों के पीछे जाएगा, शहजादी और शहजादे ट्विटर पर बहुत एक्टिव हैं।

उर्जा मंत्री यही सब बातें भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती हैं कि इसके लिए फला सरकार ज़िम्मेदार है हम नहीं सियासत चुनाव तक सीमित रहनी चाहिए सरकार के गठन के बाद इन सब बातों के कोई मायने नहीं है लेकिन यही सब होता है जिसकी वजह से भ्रष्टाचारी अपना काम करते चले आ रहे हैं।

तौसीफ कुरैशी

Minister tried to spin the case on scam in UPPCL

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.