Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह
Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह

जानिए इतिहास, जम्मू-कश्मीर के मुस्लिमों ने जिन्ना के द्वि-राष्ट्र सिद्धांत को खारिज कर दिया था

नई दिल्ली, 16 फरवरी। नेशनल पैंथर्स पार्टी (National Panthers Party) के मुख्य संरक्षक प्रो.भीम सिंह (Prof. Bhum Singh) ने युवाओं से अपील (Appeal to youth) की कि हम राजनीतिक दर्शन से अलग हो सकते हैं, लेकिन वे जहां भी हों और जिस स्थिति में भी हों, मनुष्य के रूप में आगे बढ़ें। उन्होंने सभी से विशेष रूप से कश्मीर के लोगों का इतिहास (History of the people of Kashmir) का अध्ययन करने की एक मजबूत अपील की कि कैसे जम्मू-कश्मीर के मुस्लिमों ने मोहम्मद अली जिन्ना की द्वि-राष्ट्र सिद्धांत को खारिज कर दिया था (Muslims of Jammu and Kashmir rejected the two-nation theory of Mohammad Ali Jinnah)। शेख अब्दुल्ला और अन्य के नेतृत्व में कश्मीर मुस्लिम बाहुल्य राज्य ने इस्लामिक स्टेट (पाकिस्तान) में जाने से अस्वीकार कर दिया था और संयुक्त राष्ट्र ने भी घोषणा की थी कि जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान में शामिल नहीं होगा। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों को इतिहास को पढ़ने और अध्ययन करने के लिए उन सभी को याद दिलाया कि कैसे कश्मीर के 84 प्रतिशत मुसलमानों ने पाकिस्तान को खारिज करके धर्मनिरपेक्ष भारत के साथ जाने का फैसला किया। यह विषय प्राथमिक विद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएशन तक जम्मू-कश्मीर की सभी पाठ्यपुस्तकों में एक अनिवार्य अध्याय होना चाहिए था।

पैंथर्स सुप्रीमो की सभी से जम्मू-कश्मीर की शांतिप्रिय सभ्यता व इतिहास को बचाने की अपील

Panthers Supremo’s appeal to save the pacifist civilization and history of Jammu and Kashmir

पैंथर्स सुप्रीमो ने चेतावनी दी कि जब तक कि भारत की संसद भारतीय झंडा और भारतीय संविधान को अपने मौलिक अधिकारों के साथ पूरे जम्मू-कश्मीर में नहीं विस्तान करती, तब तक न तो अमेरिका का समर्थन और न ही रूसी समर्थन हमारी मदद करेगा, जैसा कि भारत के संघ के साथ जम्मू-कश्मीर के विलय के तहत आवश्यक है।

प्रो. भीम सिंह ने जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के सभी निवासियों से अपील की है कि वे अपने इतिहास के साथ सदियों पुराने सांस्कृतिक मूल्यों का संरक्षण करें, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि प्रत्येक मनुष्य को अपने धर्म, जाति, क्षेत्र या वर्ग जो कुछ भी हो, सम्मान और प्रतिष्ठा के साथ अस्तित्व और अधिकार प्राप्त हों। उन्होंने कहा कि मुझे भगवान ने पूरी दुनिया की यात्रा करने का अवसर दिया और पांच साल से अधिक समय तक विभिन्न देशों में लोगों के प्यार, स्नेह और सहयोग मिला है।

पैंथर्स सुप्रीमो ने विशेष रूप से युवा पीढ़ी को जम्मू-कश्मीर में एक साथ रहने और एकजुट होने की मजबूत अपील की, ताकि हम सभी अपनी आर्थिक, सामाजिक या राजनीतिक स्थिति की गरिमा के साथ शांति से आगे बढ़ें।

सभी विशेष रूप से युवा पीढ़ी से यह सुनिश्चित करने के लिए एक मजबूत अपील की कि मानव प्रेम भाईचारा हमारी सदियों पुरानी सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित रखा जाए और क्रोध को हमारी भावनाओं को नियंत्रित करने की अनुमति न दी जाए। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र है, जिसकी एक विशेष राजनीतिक व सांस्कृतिक धरोहर है। उन्होंने सभी लोगों को आश्वासन दिया कि मानवता ही हमारी आस्था होना चाहिए और मानवता के खिलाफ हिंसा का कोई स्थान नहीं देना चाहिए।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

 

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.