congress

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन : कांग्रेस ने राज्यपाल के कदम को राजनीति से प्रेरित बताया

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन : कांग्रेस ने राज्यपाल के कदम को राजनीति से प्रेरित बताया

नई दिल्ली, 12 नवंबर 2019. महाराष्ट्र के राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी के राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की अनुशंसा करने के कदम को कांग्रेस ने राजनीति से प्रेरित बताया है। पार्टी ने कहा कि राज्यपाल ने आमंत्रित दलों को पर्याप्त समय नहीं दिया और सभी दलों को आमंत्रित करने के बावजूद उन्होंने कांग्रेस को सरकार बनाने का आमंत्रण नहीं दिया।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस सिलसिले में कई ट्वीट किए।

उन्होंने कहा,

“राज्यपाल कोश्यारी ने महाराष्ट्र में लोकतंत्र का अपमान किया और राष्ट्रपति शासन की अनुशंसा करके संवैधानिक प्रक्रिया का मजाक उड़ाया है।”

उन्होंने कहा,

“महाराष्ट्र में अकेली सबसे बड़ी पार्टी की अनुपस्थिति में, राज्यपाल को पहले सबसे बड़े चुनाव पूर्व गठबंधन भाजपा-शिवसेना को एकसाथ और उसके बाद दूसरे सबसे बड़े गठबंधन कांग्रेस-राकांपा को बुलाना चाहिए था।”

श्री सुरजेवाला ने कांग्रेस को आमंत्रित नहीं करने के लिए भी राज्यपाल पर सवाल उठाए।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा,

“अगर राज्यपाल ने व्यक्तिगत दलों को बुलाया भी, तो उन्होंने कांग्रेस को क्यों नहीं बुलाया? राष्ट्रपति शासन लगाने से पहले समय देने में गड़बड़ी क्यों की गई। भाजपा को 48 घंटे, शिवसेना को 24 घंटे और राकांपा को 24 घंटे भी नहीं। यह कदम राजनीति से प्रेरित है।”

 

President’s rule in Maharashtra: Congress termed Governor’s move politically

Topics – Maharashtra news, sanjay raut, Sharad Pawar, news maharashtra, governor of maharashtra, latest news maharashtra, shivsena, bhagat singh koshyari, Ajit Pawar, Maharashtra Governor, president rule. 

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.