निमोनिया जैसा ही आभास देता है वैली फीवर

निमोनिया जैसा ही आभास देता है वैली फीवर

नई दिल्ली, 03 अक्तूबर। क्या आपके मरीज में भी निमोनिया के लक्षण हैं, जो एंटीबायोटिक्स देने के बावजूद ठीक नहीं हो रहे हैं ? तब हो सकता है यह निमोनिया न हो, क्योंकि फंगल संक्रमण (Fungal infections) विशेषतः फेफड़ों का संक्रमण जैसे वैली फीवर (lung infections like Valley fever) हिस्टोप्लाज्मोसिस और एस्परगिलोसिस, बैक्टीरिया संक्रमण के समान लक्षण हो सकते हैं।

क्या है वैली फीवर

हार्ट केयर फाउण्डेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष पद्म श्री डॉ. के.के. अग्रवाल के मुताबिक वैली फीवर वस्तुतः फेफड़ों का संक्रमण है जो कोकोइडियोइड्स मिट्टी के कवक (फंगस) के कारण होता है। उस क्षेत्र में जहां यह फंगस मौजूद है, वहाँ सााँस लेने पर हवा से माइक्रोस्कोपिक कवक से वैली फीवर हो सकता है।

वैली फीवर के लक्षण

डॉ. के.के. अग्रवाल के मुताबिक वैली फीवर व्यक्ति से व्यक्ति में नहीं फैलता है। यह संक्रमण स्पर्शोन्मुख (asymptomatic) होता है। इसके लक्षण हैं थकान, खाँसी, साँस की तकलीफ, सिरदर्द, मायालगिया, आर्थरग्लिया और / या त्वचा पर खरोंचें।

चिकित्सा सलाह के लिए किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श करें।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="903" height="508" src="https://www.youtube.com/embed/kEIWLvvUUV8" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

 

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.