Tag Archives: जया प्रदा

इक गढ़े सच पर अंधा राष्ट्र चल रहा है.. भक्त सोचते हैं देश बदल रहा है

RSS Half Pants jaya prada Mohd Azam Khan

इक गढ़े सच पर अंधा राष्ट्र चल रहा है.. भक्त सोचते हैं देश बदल रहा है ओ इतिहास पर पलने वाली दीमकों.. बस भी करो.. अब छिजी हुई भारतीयता में संस्कृति की नंगी टाँग.. साफ़ नज़र आ रही है.. लाचार इतिहास की छातियों पर बने तुम्हारे  पपड़ीदार बमौटो ( दीमको के घर) में छिपे सिवाहीयों  ( लम्बे सर वाली दीमक …

Read More »