Tag Archives: वंशवाद

समाजवाद ही कर सकता है हर समस्या का समाधान

23 जून 1962 को डॉ लोहिया का नैनीताल में भाषण, Speech of Dr. Lohia Nainital on 23 June 1962

समाजवाद : सफलता विफलता और संभावनाएं Socialism: Success Failures and Prospects जब भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन चल रहा था तो उसमें समाजवादी धारा (Socialist stream in Indian National Movement) के नेताओं आचार्य नरेन्द्र देव, डॉ. राममनोहर लोहिया, जयप्रकाश नारायण, कमलादेवी चट्टोपाध्याय, युसूफ मेहर अली, अशोक मेहता, एस. एम. जोशी, मीनू मसानी, उषा मेहता आदि के नेतृत्व में समाजवादियों ने बड़ी भूमिका अदा …

Read More »

एक पूर्वाग्रह-ग्रस्त अव्यवस्थित विचार-बुद्धि के उदाहरण राम चंद्र गुहा

आज के टेलिग्राफ़ में रामचंद्र गुहा का लेख (Ramchandra Guha’s article in the Telegraph) है – ‘शाश्वत बुद्धिमत्ता’ (Timeless Wisdom)। इस लेख के मूल में है 14 वीं सदी के अरबी विद्वान इब्न खल्दुन का एक कथन (statement of Ibn Khaldun) जिसमें वे कहते हैं कि ‘राजनीतिक वंश परंपरा में तीसरी पीढ़ी के आगे तक राजनीतिक प्रभाव और साख नहीं …

Read More »

भारत में लोकतंत्र का भविष्य

Election Commission of India. (Facebook/@ECI)

देश के उदारवादी तबके के बुद्धिजीवी और प्रगतिशील लोगों के साथ साथ आमजनों का भी बहुत बड़ा तबका है जो भारत में लोकतंत्र के भविष्य (future of democracy in India) को लेकर चिंतित है। लोकतंत्र, जिसे स्वतंत्रता के 67 वर्षों में मात्र कुछ माह को छोड़कर हमारे देश के उदारशील प्रगतिवादी तबके (Liberal progressive sects) ने, राजभारत में लोकतंत्र का …

Read More »