Education, Engineering, Science, Research, शिक्षा, इंजीनियरिंग, विज्ञान, अनुसंधान,

साइंस स्ट्रीम के छात्र भी अब चुन रहे अपरंपरागत कोर्स

साइंस स्ट्रीम के छात्र भी अब चुन रहे अपरंपरागत कोर्स

मेडिकल, इंजीनियरिंग छोड़ अब इन पाठ्यक्रमों को पसंद कर रहे छात्र

मेडिकल, इंजीनियरिंग की लोकप्रियता धीरे-धीरे कम हो रही

कानपुर, 31 अक्तूबर 2019 : अबतक ऐसा देखा गया है कि अधिकर छात्र मेडिकल या इंजीनियरिंग का कोर्स चुनना पसंद करते हैं लेकिन अब इन दोनों की लोकप्रियता धीरे-धीरे कम हो रही है (Medical, engineering popularity is gradually decreasing)। अब छात्र इन दो स्ट्रीम से अलग पाठ्यक्रमों को भी पसंद करने लगे हैं, जो उनके टैलेंट को उभारने के साथ भविष्य में अच्छे करियर विकल्प बनते हैं।

इंजीनियरिंग और मेडिकल के कोर्स तब अधिक लोकप्रिय थे जब इनके अलावा किसी दूसरे स्ट्रीम में कुछ खास विकल्प उपलब्ध नहीं थे। जब कोई छात्र इंजीनियरिंग या मेडिकल का प्रवेश क्लियर कर लेता था, तो उसके लिए वह गर्व का पल होता था। छात्रों को एक बड़ी पहचान मिल जाती थी, क्योंकि ये उन्हें करियर के बेहतरीन विकल्प प्रदान करते थे।

आज के छात्र अपरंपरागत पाठ्यक्रमों की तरफ भी बढ़ने लगे हैं। Today’s students are also moving towards unconventional courses.

इस प्रकार के अपरंपरागत पाठ्यक्रमों का चयन किसी भी स्ट्रीम का छात्र कर सकता है। इन पाठ्यक्रमों में मैनेजमेंट, लॉ, मास कम्यूनिकेशन, होटल मैनेजमेंट और फैशन डिजाइनिंग आदि शामिल हैं।

लखनऊ स्थित प्रथम एजुकेशन के क्लैट मेंटर और रीजनल मैनेजर, अभय ओझा ने बताया कि,

“छात्रों को अपने करियर का चयन उचित रिसर्च के साथ सोच समझकर करना चाहिए। करियर छात्र की पसंद और उसके टैलेंट के अनुसार होना चाहिए।”

Management is a career option that enhances the future of students

अभय ओझा ने बताया कि मैनेजमेंट एक ऐसा करियर विकल्प है जो छात्रों के भविष्य को सवांर देता है। आंकड़ों के अनुसार, साइंस स्ट्रीम के कई छात्रों ने करियर के लिए इस कोर्स का चुनाव किया है। ऐसे छात्रों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। इस प्रकार के कोर्स को पूरा करने के बाद करियर के विभिन्न विकल्प उपलब्ध होते हैं, जैसे फाइनेंस, ह्यूमन रिसोर्स (एचआर) और मार्केटिंग आदि।

वैश्विक मंदी के दौरान जब कंपनियां डूबने लगती थी तो वे कर्मचारियों की छटनी करने लगती थीं, जिसके कारण छात्रों के लिए नौकरी ढूंढना मुश्किल हो जाता था। इस स्थिति में कई सुरक्षा बंदरगाह मौजूद होते थे और लॉ इसमें से एक था क्योंकि इस परिस्थिति में मार्केट के मुद्दों को सुलझाने के लिए कानूनी सलाहकारों (लीगल एडवाज़र) की जरूरत पड़ती थी।

There are new employment opportunities in the field of hospitality

हॉस्पिटैलिटी के क्षेत्र में आने वाले 5 सालों में 43,300 करोड़ निवेश के साथ 3.5 मिलियन कुशल कर्मचारियों की जरूरत होगी। इसके लिए भारी संख्या में नौकरियों के लिए विभिन्न स्थानों की नियुक्ति की जाएगी और यह छात्रों के लिए किसी बड़े अवसर से कम नहीं है।

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.