Turkish President Recep Tayyip Erdogan

कश्मीर पर पाकिस्तान के साथ खुलकर आया तुर्की, मोदी के दोस्त एर्दोगन ने कहा कश्मीर एक खुली हवा में जेल बन गया है

नई दिल्ली, 26 सितंबर 2019. जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के कुछ अंश हटाए जाने के बाद पाकिस्तान कश्मीर मसले का अन्तर्राष्ट्रीयकरण करने पर जुटा है और भारत के शासकों को कूटनीति की समझ न होने के चलते उसे सफलता भी मिलने लगी है। एक ओर जहां नरेंद्र मोदी के दोस्त डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अपना अच्छा मित्र बताते हुए कहा है कि एक दिन ऐसा आएगा जब भारत कश्मीर पर मध्यस्थता को तैयार होगा, तो अब तुर्की खुलकर पाकिस्तान के समर्थन में आ गया है। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने कहा है कि कश्मीर एक खुली हवा में जेल बन गया है और इसके निवासी कैदी बन गए हैं। उन्होंने अभिव्यक्ति और आंदोलन की स्वतंत्रता सहित जम्मू-कश्मीर में रहने वाले मुसलमानों के अधिकारों की रक्षा के लिए अपने देश के संकल्प को दोहराया है।

बुधवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की तर्ज पर पाकिस्तान और तुर्की द्वारा सह-मेजबानी की गई “कम्बैटिंग हेट स्पीच” नामक एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए (“Combating Hate Speech” co-hosted by Pakistan and Turkey on the sidelines of UN General Assembly in New York) एर्दोगन ने कहा कि “जिम्मेदारी सभी [विदेशी] राज्य संस्थानों पर पड़ती है।”

बता दें एर्दोगेन को भाजपाई मोदी का अच्छा दोस्त बताते रहे हैं। 2015 में जी-20 की बैठक में तुर्की में जितने देशों के राष्ट्र प्रमुख उपस्थित हुए थे, उन सबका अभिनंदन करते हुए जो डाक टिकट जारी किये गये, उनमें ही एक टिकट मोदी का भी था।

तुर्की के राष्ट्रपति ने इस मुद्दे (कश्मीर) पर क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अधिक सक्रिय कदम उठाने का आग्रह किया।

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय संस्थानों, प्रौद्योगिकी कंपनियों, शिक्षा संस्थानों, मीडिया और गैर-सरकारी संगठनों को आगे बढ़ने और विवाद को सुलझाने में मदद करने का आह्वान किया।

एर्दोगन ने कश्मीर मुद्दे पर अंकारा के दृष्टिकोण पर असहजता व्यक्त करने के लिए भारत के विदेश मंत्री और तुर्की में भारत के राजदूतों की आलोचना की।

THE EXPRESS TRIBUNE ने Anadolu Agency के हवाले से खबर दी है कि एर्दोगन ने कहा कि गायों को हिंदू धर्म में पवित्र माना जाता है और हिंदू राष्ट्रवादियों द्वारा मुस्लिम पशुपालकों पर हमलों में वृद्धि हुई है, जिसमें कई स्वयंभू गाय सतर्कता समूह उभर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कश्मीरी ” वस्तुतः 8 मिलियन लोग नाकाबंदी के तहत, दुर्भाग्य से, कश्मीर के बाहर कदम रखने में असमर्थ हैं।”

अपने भाषण में कश्मीर का जिक्र करने के लिए एर्दोगन को धन्यवाद देते हुए हजारों लोगों ने संदेशों के साथ सोशल मीडिया पर बाढ़ ला दी। #OurVoiceErdogan ट्विटर पर शीर्ष ट्रेंडिंग हैशटैग बन गया, कुछ घंटों में लगभग 300,000 ट्वीट किए। ट्वीट करने वालों में पाकिस्तानी बड़ी संख्या में थे।

टर्की से मोदी के डाक टिकट का रहस्य जानिये… तुर्की ने मोदी को दुनिया का सबसे बड़ा नेता नहीं कहा

एर्दोआन से मुहब्बत और मोदी-योगी से नफरत, यह सुविधा का सेकुलरिज्म है

हिंदुओं के भारी पैमाने पर इस्लाम कबूलने के बारे में स्वामी विवेकानन्द के दो टूक विचार

हिंदू राष्ट्र या इस्लामी राष्ट्र भारत कभी नहीं बन सकता पर अमेरिका का हिंदू राष्ट्र बनना तय

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.