सुषमा के साथ उमा भारती ने मार्गदर्शक मंडल में दावा ठोंका, अगले डेढ़ साल गंगा और राम मंदिर के लिए काम करेंगी, नहीं लड़ेंगी चुनाव

सुषमा के साथ उमा भारती ने मार्गदर्शक मंडल में दावा ठोंका, अगले डेढ़ साल गंगा और राम मंदिर के लिए काम करेंगी, नहीं लड़ेंगी चुनाव उमा भारती अगले डेढ़ साल गंगा और राम मंदिर के लिए काम करेंगी भोपाल, 4 दिसंबर। केंद्रीय मंत्री उमा भारती अगले डेढ़ साल सिर्फ गंगा की अविरलता-निर्मलता और राम मंदिर …
 | 

सुषमा के साथ उमा भारती ने मार्गदर्शक मंडल में दावा ठोंका, अगले डेढ़ साल गंगा और राम मंदिर के लिए काम करेंगी, नहीं लड़ेंगी चुनाव

उमा भारती अगले डेढ़ साल गंगा और राम मंदिर के लिए काम करेंगी

भोपाल, 4 दिसंबर। केंद्रीय मंत्री उमा भारती अगले डेढ़ साल सिर्फ गंगा की अविरलता-निर्मलता और राम मंदिर के लिए काम करेंगी, इसलिए अगला यानी वर्ष 2019 का चुनाव नहीं लड़ेंगी।

यहां संवाददाताओं से चर्चा करते हुए उमा भारती ने कहा,

"अगले डेढ़ साल मैं गंगा और राम मंदिर के लिए काम करने के अलावा कुछ भी नहीं करूंगी।"

उन्होंने कहा,

"वर्ष 2016 में भी वह अपने अभियान को आगे बढ़ाना चाहती थीं, लेकिन उस समय पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि आप इस्तीफा मत देना, पार्टी फैसला करेगी। इसलिए चाहती हूं कि पार्टी ही इस संदर्भ में फैसला करे, मगर अब डेढ़ साल तक गंगा और राम के अलावा कुछ नहीं करूंगी।"

उमा भारती वर्तमान में उत्तर प्रदेश के झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद हैं। इससे पहले मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। इस समय केंद्रीय मंत्री हैं। उमा भारती ने चुनाव न लड़ने का निर्णय लिया है। इससे पहले मध्यप्रदेश के विदिशा संसदीय क्षेत्र से सांसद और केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज चुनाव न लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं। इन निर्णयों से अब पार्टी के अंदरखाने कई सवाल उठ रहे हैं।

उमा भारती ने दावा किया कि मध्यप्रदेश में चौथी बार शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सरकार बनेगी। ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग पहले ही सभी राजनीतिक दलों को छेड़छाड़ कर बताने की चुनौती दे चुका है।

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश और देश में घूमते समय उनके सामने एक बात आई है कि प्रदेश को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जरूरत है, इसलिए दोनों को दो-तीन बार और अपने पद पर रहना चाहिए।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="1347" height="489" src="https://www.youtube.com/embed/HqTLqhrqBsA" frameborder="0" allow="accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture" allowfullscreen></iframe>

 

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription