भीड़ नहीं ये संगठित अपराधियों का गिरोह है, जिसके निशाने पर वंचित समाज

भीड़ नहीं ये संगठित अपराधियों का गिरोह है, जिसके निशाने पर वंचित समाज

गाजीपुर के मोहम्मदाबाद जैसे दूर दराज के इलाकों में पहुंची यूपी यात्रा

संविधान, समानता, सामाजिक न्याय, बंधुत्व के लिए यूपी यात्रा

ग़ाज़ीपुर जिला मुख्यालय से 22 किलोमीटर दूर मोहम्मदाबाद के मिडटाउन होटल में यूपी यात्रा समन्वय समिति द्वारा संविधान, लोकतंत्र, न्याय, समानता, बन्धुत्व, हक़ बचाने के लिए 2 सितंबर की शाम एक विचार गोष्ठी का आयोजन डॉ. फतेह मोहम्मद की अध्यक्षता में किया गया।

कार्यक्रम के संयोजक इमरान अंसारी ने कहा कि पिछले कुछ सालों से संविधान बदलने की बात हो रही है। संविधान की प्रतियां भी जलायी जा रही है जो कि चिंता का विषय है। इस वक्त संविधान बचाने की जरूरत है। नहीं तो देश से न्याय खत्म हो जायेगा।

सामाजिक कार्यकर्त्री ज़ुलैख़ा ज़बी ने कहा कि साम्प्रदायिकता से बाहर निकलने के लिए लोगों की अपनी सोच बदलनी पड़ेगी।

इस अवसर पर उतर प्रदेश के पूर्व आई. जी. एस. आर. दारापुरी ने कहा कि आज भारत में गैर सरकारी आतंक का खतरा ज्यादा हो गया है। गौ रक्षक,बजरंग दल, हिन्दू युवा वाहिनी के सदस्यों ने सरकार के देख-रेख में पूरे देश में आतंक का माहौल पैदा कर दिया है।

उन्होंने  कहा कि मायावती की सरकार हो, मुलायम की सरकार हो या अखिलेश की सरकार, सभी सरकारों ने अंदर से इन संगठनों की मदद किया है।

गाँव-कस्बों की चौपालें तय करेंगीं कैसा होगा हमारा मुल्क

इस मौके पर मज़हर आज़ाद ने कहा कि मुस्लिम समुदाय ने हिंदुस्तान की आज़ादी में जितनी कुर्बानियां दी थी वो किसी से कम नहीं थीं। लेकिन आजाद भारत में सियासत ने उसे मस्जिद, मदरसा, कब्रिस्तान तक कि लड़ाई में सीमित कर दिया है। उसे रोजी-रोटी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार के खिलाफ आना होगा। मुल्क में चंद आरएसएस के लोग हैं जो नफ़रत का ज़हर बो रहे हैं। 31% भाजपा के वोट में 12% ही आरएसएस का वोट था बाकी 19 % कांग्रेस से नाराज़ लोगों का वोट था।

इस अवसर पर शाहरुख अहमद, फ़ारूक़ अहमद, रविश आलम, राजीव यादव, शकील सिद्दीकी, बलवंत यादव, गुफरान सिद्दीकी, आदि ने अपने विचार व्यक्त किये।

इस अवसर पर मुख्य रूप से शाहनवाज आलम, एजाज अंसारी, मोहम्मद कैफ़ अंसारी (सभासद), ताबिश बिन अनवार, अकबर अली, महबूब अंसारी, राकेश यादव (सभासद), पप्पू यादव एडवोकेट (सभासद), अमीर हमजा (सभासद), सरफराज अहमद आसी मास्टर ज़ाहिरुल हक़ आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे। संचालन रामविलास तथा धन्यवाद इमरान अंसारी ने किया।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

<iframe width="972" height="535" src="https://www.youtube.com/embed/ppg6QTlgMpU" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

About हस्तक्षेप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.