विनोद वर्मा प्रकरण : देश सेवा करते करते पीएम इतने कमजोर हो जाएंगे हमने सोचा न था

जगदीश्वर चतुर्वेदी मोदीजी आप और आपकी पार्टी ईमानदार हैं, निष्कलंक है, कभी आप लोगों ने घूस नहीं ली, जो कुछ किया ईमानदारी से किया, चरित्र के मामले में भी सभी संघी बेदाग हैं, फिर यह डर क्यों ? अमित शाह से लेकर छत्तीसगढ़ के मंत्रियों तक डर क्यों बैठा हुआ है। आप जान लें ईमानदार …
 | 
जगदीश्वर चतुर्वेदी

मोदीजी आप और आपकी पार्टी ईमानदार हैं, निष्कलंक है, कभी आप लोगों ने घूस नहीं ली, जो कुछ किया ईमानदारी से किया, चरित्र के मामले में भी सभी संघी बेदाग हैं, फिर यह डर क्यों ? अमित शाह से लेकर छत्तीसगढ़ के मंत्रियों तक डर क्यों बैठा हुआ है। आप जान लें ईमानदार डरता नहीं है क्योंकि उसके पास ईमानदारी है, डरते वे हैं जो ईमानदार नहीं हैं।

अब सोनिया-राहुल को देखो डरते नहीं हैं और एक आप हैं डर के मारे बेचैन हैं किसी को फोन कर रहे हैं, किसी पत्रकार से सीडी छीनने की आपकी पुलिस कोशिश कर रही है। हम तो यही कहेंगे मोदीजी आप डरें नहीं और जनता और विपक्ष को डराएं नहीं। जानते हैं डर गया सो मर गया। जनता डरने वाली नहीं है। राहुल-हार्दिक-जिग्नेश आदि डरने वाले नहीं हैं इनको कुछ खोना नहीं है ये पाने के लिए गुजरात की जंग में उतरे हैं।

कैमरे से डरे हुए हैं गुजरात में भाजपा के नेता ।

मोदीजी गुजरात विधानसभा के लिए नहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में जीतने के लिए गुजरात में जंग लड़ रहे हैं। हाय रे, 2019 तू इतना दूर क्यों है!!

तानाशाह कितना डरपोक होता है यह बात अब आम जनता को समझ में आ रही है। जनता अपनी ताकत को भी महसूस कर रही है, यही वजह है गुजरात में पानी की तरह पैसा बहाकर, नौकरशाही-सेठों-साहूकारों-गुंडों -कारपोरेट मीडिया और साइबर फौज को मैदान में उतारकर भी जनता का भय मोदीजी के अंदर से कम नहीं हो रहा, जनता का भय जेनुइन है।

जनता जब डराने लगती है तो सारे हथियार भोंथरे हो जाते हैं। चुनाव में क्या होगा हम नहीं जानते लेकिन यह बात तो साफ दिख रही है कि अमितशाह के बयान आने बंद हो गए हैं, भाजपा के नेताओं की बड़ी- बड़ी बातें बंद हो गयी हैं। अब तो सब भाजपाई मोदी की हुंकार का इंतजार करते रहते हैं, लेकिन मोदीजी भी अब बोल नहीं रहे। पहले वे रोज बोलते थे, अब कभी-कभार बोलते हैं। जनता के भय ने सबकी बोलती बंद कर दी है।

गुजरात विधानसभा चुनाव ने पीएम पर दवाब बढ़ा दिया है। अब बताइए छत्तीसगढ़ के मंत्री की सीडी के बहाने यूपी के प्रसिद्ध पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद में पुलिस कल रात तीन बजे घर से उठा ले गयी। देश सेवा करते करते पीएम इतने कमजोर हो जाएंगे हमने सोचा न था।

(जगदीश्वर चतुर्वेदी की फेसबुक टिप्पणियों का समुच्चय)

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription