Home / समाचार / तकनीक व विज्ञान / प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए एडटेक स्टार्टअप आईएक्जामबी ने 30 करोड़ क्विश्चंस अटेम्प्ट दर्ज किए
IxamBee Logo copy

प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए एडटेक स्टार्टअप आईएक्जामबी ने 30 करोड़ क्विश्चंस अटेम्प्ट दर्ज किए

नौकरियों के लिए प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी (Preparing for competitive examinations for jobs) में लगे अकुशल स्नातकों और पूर्व-स्नातक छात्रों की मदद कर रही ऑनलाइन एजुकेशन कंपनी (Online education company in India) आईएक्जामबी (Ixam Bee) भारत के टियर-2 और 3 शहरों से उपयोगकर्ताओं द्वारा 30 करोड़ प्रतिस्पर्धी परीक्षा प्रश्न दर्ज किए हैं।

नई दिल्ली, 15 जून, 2019 : एक अनुमान के मुताबिक प्रत्येक वर्ष लगभग सात करोड़ छात्र प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में शामिल होते हैं। इनमें से ज्यादातर छात्र मध्यवर्गीय परिवारों से होते हैं और बड़ी संख्या में छात्र उन गांवों और छोटे कस्बों से जुड़े होते हैं जहां करियर मार्गदर्शन और इन परीक्षाओं को पास करने के लिए अच्छी गुणवत्ता की शैक्षिक सामग्री तक पहुंच अभी भी सपना बना हुआ है। यह सिर्फ बड़े शहर के कोचिंग केंद्रों द्वारा ही संभव है। ऑनलाइन एजूकेशन कंपनी (Online education company in Hindi) ‘आईएक्जामबी’ पूरे भारत के छोटे शहरों से दो वर्ष से भी कम समय में अपने पोर्टल पर 30 करोड़ क्विश्चंस अटेम्प्ट्स दर्ज कर चुकी है। इन शहरों और जिलों में काकीनाडा, मदुरै, एल्लोर, धरमपुरी, शिलॉन्ग, जींद, विदिशा, मेरठ, हल्द्वानी आदि मुख्य रूप से शामिल हैं।

कंपनी की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि संदीप सिंह, अरुणिमा सिन्हा और चंद्रप्रकाश जोशी द्वारा स्थापित आईएक्जामबी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए अपने कंटेंट और गुणवत्तायुक्त शिक्षा सभी इच्छुक छात्रों को सुलभ कराने के लिए प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल पर जोर देती है। इससे अकुशल स्नातकों और पूर्व-स्नातकों को केंद्र सरकार, बैंक, राज्य सरकारों, रेलवे, एलआईसी और अन्य प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में नौकरियों के लिए प्रवेश परीक्षा की तैयारी में मदद मिलती है।

विज्ञप्ति के मुताबिक उद्योग दिग्गजों द्वारा समर्थित कंपनी ने टेक्नोलॉजी और फाइनैंस इंडस्ट्री में काम कर रहे अमीर लोगों से पूंजी जुटाई है। इसके निवेशकों में मेकमाइट्रिप के सह-संस्थापक (केयूर जोशी) और आईटीसी, मिंत्रा, मिलाहा, येस बैंक, इंडिगो आदि के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं। इनमें से कई निवेशक आईआईएम, आईआईटी, आईएसबी, आईआरएमए स्नातक हैं।

आईएक्जामबी के सह-संस्थापक एवं सीईओ चंद्रप्रकाश जोशी ने पोर्टल के लर्निंग-केंद्रित इंटरफेस (Learning-oriented interface) पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘घर जैसे माहौल (जब शांतिपूर्ण परिवेश हो) में अध्ययन की तरह, एक उपयुक्त विकल्प के तौर पर आईएक्जामबी पोर्टल ने अध्ययन को उपयोगकर्ताओं के लिए अनुकूल बनाया है और इस पर किसी तरह के पेड विज्ञापन भी नहीं हैं। तथ्य यह है कि वेबसाइट पर हमारे उपयोगकर्ताओं द्वारा 30 करोड़ सवाल दर्ज किए गए हैं जिससे पता चलता है कि हम बेहद कम समय में अच्छी लोकप्रियता हासिल करने में सक्षम रहे हैं और इससे हम प्रोत्साहित हुए हैं तथा हमारे विष्वास को ताकत मिली है।’

ऑनलाइन अभ्यास परीक्षाएं (Online practice exams) रियल-टाइम एक्जाम पैटर्न (Real-Time Exams Pattern) पर आधारित हैं। सिस्टम जेनरेटेड एनालिसिस से छात्रों के स्कोर में सुधार आता है और इससे उनके मजबूत तथा कमजोर क्षेत्रों का पता चलता है। ऑनलाइन वीडियो लर्निंग मॉड्यूल्स और लाइव सेशन से छात्रों की सीखने की क्षमता बढ़ती है।

कंपनी का दावा है कि शहरों में पढ़ाई के लिए जाने में सक्षम नहीं रहने वाले छात्रों को अपने घर पर ही और अपनी सुविधा के हिसाब से किफायती शैक्षिक विकल्प मिला है। ऑनलाइन लर्निंग से कामकाजी पेशेवरों और कॉलेज छात्रों को भी मदद मिल रही है।

केपीएमजी गूगल रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन शिक्षा बाजार (Online education market) वर्ष 2021 तक 1.96 अरब डॉलर (14,000 करोड़ रुपये) का हो जाएगा।

आईएक्जामबी ने वर्ष 2025 तक 10 करोड़ छात्रों तक पहुंच बनाने का लक्ष्य रखा है। इसलिए उपयोगकर्ताओं को लर्निंग कंटेंट तक लगातार पहुंच बनाने में मदद मिल सकती है। इस कंटेंट में परीक्षा के सिम्युलेशन, विभिन्न ऑनलाइन कोर्स से लेकर दैनिक समसामययिक मामले शामिल हैं।

About हस्तक्षेप

Check Also

nelson mandela

अफ्रीका का गांधी : नेल्सन मंडेला अंतर्राष्ट्रीय दिवस

शिक्षा सबसे बड़ा हथियार है जिसका इस्तेमाल दुनिया को बदलने के लिए किया जा सकता है - नेल्सन मंडेला... 18 जुलाई - नेल्सन मंडेला अंतर्राष्ट्रीय दिवस, Nelson Mandela International Day

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: