हस्तक्षेप
जुमलों और नारों के नीचे दब गए बुनियादी मसले
जुमलों और नारों के नीचे दब गए बुनियादी मसले

लगभग बीस करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में घनघोर आर्थिक विषमता, भ्रष्टाचार, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार, खेती, कानून-व्यवस्था आदि से संबंधित गंभ...

अतिथि लेखक
2017-02-20 20:53:32
गोविन्द पानसरे के बहाने किसके छत्रपति
गोविन्द पानसरे के बहाने किसके छत्रपति ?

शिवाजी किसके हैं? वो महात्मा फुले के बहुजन प्रतिपालक राजा हैं, कामरेड पानसरे के लोक कल्याणकारी राजा हैं या उन्मादियों के नकली राष्ट्रवाद के प्रती...

अतिथि लेखक
2017-02-20 20:27:24
ऐसा फ्रॉड जनता के बीच सच्‍चे अघोरियों को बदनाम करता है
ऐसा फ्रॉड जनता के बीच सच्‍चे अघोरियों को बदनाम करता है

अघोरपंथ के भीतर एक फ्रॉड धारा भी है। इसके लोग कहते तो खुद को अघोरी हैं, लेकिन होते बेहद घोर हैं। भयंकर दुनियावी। भोगी। इसका शैवों से कोई लेना-दे...

अतिथि लेखक
2017-02-20 12:51:28
“विशेष विवाह अधिनियम” को सहज व सुलभ बनाने की जरूरत
“विशेष विवाह अधिनियम” को सहज व सुलभ बनाने की जरूरत

हर किसी के लिए कंचना माला बन जाना मुमकिन नहीं है, ऐसी मोहब्बतें दुर्लभ होती हैं लेकिन टीना डाबी जैसे लोग नये भारत के लिए मिसाल हैं.

जावेद अनीस
2017-02-19 23:34:11
जब प्रेतात्माओं से मीडिया का काम चल सकता है तो मनुष्यों को मीडिया की कोई जरूरत नहीं
मोदी और अखिलेश के विकास में दलित-पिछड़ों और अल्पसंख्यकों की बर्बादी का षड़यंत्र छिपा है
मोदी और अखिलेश के विकास में दलित-पिछड़ों और अल्पसंख्यकों की बर्बादी का षड़यंत्र छिपा है

मोदी और अखिलेश यादव यूपी में जिस विकास का शोर मचा रहे हैं, उसका बहिष्कार होना चाहिए, क्योंकि इस विकास में दलित-पिछड़ों और अल्पसंख्यकों से युक्त बह...

अतिथि लेखक
2017-02-18 21:53:49
जोहार झारखंड में जल जंगल जमीन की लड़ाई आर या पार
कहाँ हैं चुनाव में आदिवासियों के सवाल 
कहाँ हैं चुनाव में आदिवासियों के सवाल  ?

लोकतंत्र के चुनावी पर्व में आदिवासियों की भुखमरी-गरीबी और भवानीपुर और कनहर जैसी उत्पीड़न की कहानियां शायद ही चुनावी मुद्दा बनें। लेकिन लोकतंत्र क...

अतिथि लेखक
2017-02-17 23:59:14
चुनाव 2017  कुछ नए दृश्य
चुनाव 2017 : कुछ नए दृश्य

क्या हम पाठकों को यह सलाह दें कि वे अखबार में छपी, टीवी पर दिखी और फेसबुक में लिखी किसी भी राजनैतिक बात पर बिना जांचे-समझे विश्वास न करें!!

ललित सुरजन
2017-02-17 13:36:29
 स्मारकीय विचारधारा से परे क्रांति की यादें
स्मारकीय विचारधारा से परे क्रांति की यादें

राजनीति में नया इंसान दहशत के साथ ही आया, उसे हिंसात्मक तरीके से थो।यह भूलना गलत होगा कि राज्य एक ऐसी संचरना है, जिसका क्रांतिकारी जनता प्रतिक्रा...

अतिथि लेखक
2017-02-16 21:53:30
अखलाक के घर वालों का नाम वोटर लिस्ट से कटवाने वाली सपा मुसलमानों के वोट मांग रही हैवाह
अखलाक के घर वालों का नाम वोटर लिस्ट से कटवाने वाली सपा मुसलमानों के वोट मांग रही है..वाह

अखलाक के घर वालों का नाम वोटर लिस्ट से कटवाने वाली यादव छाप समाजवादी कबीलाई सरकार मुसलमानों के वोट मांग रही है.. वाह क्या हकीकत है इन छद्म संघि ब...

शमशाद इलाही शम्स
2017-02-16 17:18:12
ज़ाकिर नायक और ध्रुव सक्सेना में फर्क है  isi एजेंट भाजपा समर्थक और नरेंद्र मोदी से प्रेरित थे
ज़ाकिर नायक और ध्रुव सक्सेना में फर्क है ? ISI एजेंट भाजपा समर्थक और नरेंद्र मोदी से प्रेरित थे

ज़ाकिर नायक के भाषणों से प्रेरित आतंकियों के नाम पर ज़ाकिर नायक और उनके ट्रस्ट के खिलाफ कारवाई हो सकती है तो ISI के एजेंटों की गिरफ्तारी के बाद उ...

अतिथि लेखक
2017-02-16 10:40:40
तमिलनाडु में सेंधमारी और बंगाल में राम की सौगंध गायपट्टी में मुंह की खाने की हालत में ग्लोबल हिंदुत्व का पलटवार
तमिलनाडु में सेंधमारी और बंगाल में राम की सौगंध, गायपट्टी में मुंह की खाने की हालत में ग्लोबल हिंदुत्व का पलटवार!

तय है कि यूपी में संघ परिवार का वनवास खत्म नहीं होने जा रहा है। पंजाब में भी खास उम्मीद नहीं है। पंजाब, कश्मीर, असम के बाद बंगाल और तमिल के साथ ब...

पलाश विश्वास
2017-02-15 20:25:43
दीदी ने मुसलिम सांप्रदायिकता के साथ फासिज्म का जो जहरीला रसायन तैयार किया है भयंकर होंगे उसके नतीजे
दीदी ने मुसलिम सांप्रदायिकता के साथ फासिज्म का जो जहरीला रसायन तैयार किया है, भयंकर होंगे उसके नतीजे

ध्रुवीकरण समीकरण : संघियों ने अमर्त्य सेन समेत बंगाल के बुद्धिजीवियों पर निशाना साधा तो ममता दीदी ने दे दिया पिचानब्वे फीसद मुसलमानों को आरक्षण।

पलाश विश्वास
2017-02-15 20:03:24
नोटबंदी के बावजूद यूपी हारने के बाद उत्तराखंड भी संघ परिवार के सरदर्द का सबब बाबा रामदेव ने पलटी मारी
नोटबंदी के बावजूद यूपी हारने के बाद उत्तराखंड भी संघ परिवार के सरदर्द का सबब! बाबा रामदेव ने पलटी मारी

हरिद्वार में बाबा रामदेव ने पलटी मारी और कहा, पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के बाद देश की राजनीति में भूचाल आ जाएगा और भारी उथल-पुथल मचेगी!

पलाश विश्वास
2017-02-15 19:30:00