Breaking News
Home / समाचार / कानून / पैंथर्स सुप्रीमो ने गृहमंत्री द्वारा संसद में नेहरू के खिलाफ असंवैधानिक शब्दों का प्रयोग करने की भर्त्सना की

पैंथर्स सुप्रीमो ने गृहमंत्री द्वारा संसद में नेहरू के खिलाफ असंवैधानिक शब्दों का प्रयोग करने की भर्त्सना की

नई दिल्ली, 28 जून 2019. नेशनल पैंथर्स पार्टी (National Panthers Party) के मुख्य संरक्षक प्रो.भीम सिंह (Prof. Bhim Singh) ने आज गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) द्वारा संसद के अंदर देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू (country’s first Prime Minister Pandit Jawaharlal Nehru) के, जिनका 55 वर्ष पहले देहांत हो चुका है, के खिलाफ असंवैधानिक भाषा का प्रयोग करने पर भर्त्सना की। उन्होंने इसे भारतीय संस्कृति और सभ्यता की मर्यादाओं के खिलाफ बताया।

प्रो.भीमसिंह ने केन्द्रीय गृहमंत्री द्वारा गलत सूचना देने पर भी निशाना बनाया, जिसमें उन्होंने कहा कि भारत का एक-तिहाई हिस्सा भारत के साथ नहीं है। उन्होंने केन्द्रीय गृहमंत्री को महाराजा गुलाबसिंह द्वारा 1848 में बनाए गए जम्मू-कश्मीर का मानचित्र और राजनीतिक इतिहास को अध्ययन करने का सुझाव दिया।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की लगभग 18000 वर्गमील भूमि पर चीन का 1962 से गैरकानूनी कब्जा है। यह ध्यान देने योग्य है कि जम्मू-कश्मीर की लगभग 84000 वर्गमील भूमि पर पाकिस्तान और चीन का गैरकानूनी कब्जा है।

प्रो.भीम सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का आधा हिस्सा ही भारत के साथ है और 32000 वर्गमील भूमि पाकिस्तान के गैरकानूनी कब्जे में है, जिसे 1929 में गैरकानूनी रूप से पाकिस्तान के साथ जोड़ा था।

उन्होंने केन्द्रीय गृहमंत्री से कहा कि वे पता करें कि वे भारत में भाजपा शासन में जम्मू-कश्मीर में कितनी बार राज्यपाल/राष्ट्रपति शासन लागू किया गया और देश के लोगों को बताएं कि जम्मू-कश्मीर में 93 बार लगाए गए राष्ट्रपति शासन में भाजपा ने कितनी बार इसका इस्तेमाल किया, जबकि वे कह रहे हैं कि कांग्रेस ने केन्द्र में रहते हुए इसका इस्तेमाल किया।

प्रो.भीम सिंह ने भारतीय संसद के सदस्यों से कहा कि वे केन्द्रीय गृहमंत्री से पता करें कि वे जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के कार्यकताओं-पदाधिकारियों की कितनों की सुरक्षा हटायी गयी और आरएसएस-भाजपा के कितने कार्यकताओं को जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा दी गयी।

उन्होंने कहा कि वे देश के अवाम को बताएं कि पैंथर्स कार्यकर्ताओं की सुरक्षा क्यों हटायी गयी? उन्होंने कहा केन्द्रीय गृहमंत्री ने स्वयं स्वीकार किया है कि जम्मू-कश्मीर सरकार उन लोगों को सुरक्षा देती है, जो भारत के खिलाफ बोलते हैं। उन्होंने सच बोलने के लिए केन्द्रीय गृहमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा कि जो लोग भारत के पक्ष में बोलते हैं उन्हें असली खतरे क सामना करना पड़ता है। इस कारण पैंथर्स कार्यकर्ताओं की सुरक्षा छीन ली गयी, क्योंकि वे लोग जम्मू-कश्मीर के हर कोने में राष्ट्रध्वज के साथ जाते हैं और उन लोगों को बेनकाब करते हैं, जो सुरक्षा और अन्य साधनों के लिए भारत के साथ धोखा करते हैं।

प्रो.भीमसिंह ने शीघ्र राष्ट्रीय एकता परिषद की बैठक बुलाने की मांग की, जिससे जम्मू-कश्मीर के लोग जिन समस्याओं का सामने कर रहे हैं, उन्हें दुनिया के सामने लाया जा सके।

Panthers Suprimo condemns Home Minister’s use of unconstitutional words against Nehru in Parliament

About हस्तक्षेप

Check Also

mob lynching in khunti district of jharkhand one dead two injured

झारखंड में फिर लिंचिंग एक की मौत दो मरने का इंतजार कर रहे, ग्लैडसन डुंगडुंग बोले ये राज्य प्रायोजित हिंसा और हत्या है

नई दिल्ली, 23 सितंबर 2019. झारखंड में विधानसभा चुनाव से पहले मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ती …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: