Advance Search

Keywords
Search In
All Heading Full Story Author
From Date
To Date
रवींद्रनाथ टैगोर की लोक विरासत पर मोदी सरकार का हमला  किसी को देशिकोत्तम न देने का प्रधानमंत्री का फतवा
कर्नाटक  फिर से भारतीय राजनीति का सामंतीकरण
कर्नाटक : फिर से भारतीय राजनीति का सामंतीकरण
इकाॅनोमिक ऐंड पाॅलिटिकल वीकली
2018-05-22 11:10:48
ब्राह्मणवादी हिंदुत्व फासीवाद को समझने के लिएबेमक़सद मर जाना नहीं - वरवर राव
लोकतंत्र की औपचारिकता में चुनाव के तमाशे बड़ी बचकानी हरकत थी येदुरप्पा द्वारा सरकार बनाने का प्रयास
लोग कहते हैं कि जो उदितराज हैं वही हमारा रामराज है पर मामला कनफर्म नहीं
यूपी  थाने में वकील की पिटाई और एनकाउंटर की धमकीपूरा प्रदेश जंगलराज में तब्दील - रिहाई मंच
भारत के जनविरोधी कुलीन वाम नेतृत्व को उखाड़ फेंकना सबसे जरूरी
योगीराज्य लखनऊ के 43 थानों में नहीं एक भी मुस्लिम थानेदार 77 प्रतिशत थानों में सवर्ण काबिज
पंचायत चुनाव में आदिवासियों के साथ छोड़ने के बाद बंगाल में वामपंथ की वापसी अब असंभव
मुस्लिम संस्कृत नहीं पढ़ना चाहते यह बात वे कहते हैं जो धर्म की राजनीति का व्यापार करते हैं शिक्षा का सांप्रदायिक चरित्र नहीं होता
सबसे ज्यादा खतरनाक है आदिवासियों का व्यापक भगवाकरण
आपने सुना मी लॉर्ड  दलित मित्र योगी के राज में पुलिस की दबंगई से दहशत में है गोरखपुर की दलित बस्ती
योगी सरकार में उप्र पुलिस निभा रही रणवीर सेना की भूमिका - रिहाई मंच
देश भले ही पिछड़ गया किन्तु मोदी संघ का एजेंडा पूरा करने में उम्मीद से आगे निकल गए
मोदी-शाह के नेतृत्व पर पूरी भाजपा समर्पित होकर चलती है वह समर्पण भाव कांग्रेस में क्यों नजर नहीं आता
यह जनादेश नहीं मुक्त बाजार का वर्गीय जाति वर्चस्व है
वामदलों के सफाये के बिना भाजपा का बंगाल में ममता को हराना मुश्किल पर दीदी इस सच को इंकार कर आत्महत्या के लिए तुली हैं
सहारनपुर हिंसा  जातीय दंभ छोड़ लोकतान्त्रिक मूल्यों को अपनाने से ही समाज आगे बढ़ेगा
हिन्दू धर्म से कोई लेना देना नहीं हिंदुत्व का जिन्ना के नाम पर हो रही ओछी राजनीति
अफसोस शिवराम और महेंद्र नेह भी पार्टी से निकाल दिए गए और कामरेडों ने उन्हें सव्यसाची के साथ भुला दिया
हामिद अंसारी जिन्ना की तस्वीर और एएमयू में हंगामा
अगर वामपंथ को वामपंथियों ने न हराया होता तो हिंदुत्व की राजनीति वैसे ही हाशिये पर होती जैसे आज वामपंथी हैं
एक पत्र संघ प्रमुख के नाम  अस्पृश्यों की असल समस्या शक्ति के स्रोतों से बहिष्कार
प्रेम की संवेदना के बिना क्रांति नहीं हो सकती मार्क्स ने जेनी के लिए 150 प्रेम कविताएं लिखीं
जब तक पूंजीवाद है मार्क्सवाद प्रासंगिक है
हिंदू राष्ट्र में सबसे बड़ा संकट हिंदुत्व का है। अस्पृश्यता का संविधान लागू है
वीएस येदियुरप्पा  कर्नाटक की राजनीति का ट्रैजडी किंग
साम्यवाद के बुनियादी लक्ष्य साम्यवादी विचारधारा और बाबासाहेब के जाति के विनाश के मिशन में कोई बुनियादी फर्क नहीं
घबराए मोदी ने दी सफाई “हम संविधान बदलने नहीं आए हैं"
इतिहास के कोढ़  मोदी-भाजपा हार जाएं तो क्या इससे भारत को धर्मनिरपेक्ष-लोकतांत्रिक मान लेंगें ॽ
कोल्लम में कन्हैया कुमार का अभ्युदय  मुबारक हो cpi को एक मोदी हुआ है
rss का राष्ट्रवाद इटली के तानाशाह मुसोलिनी से प्रभावित है – हिमांशु कुमार
अच्छे दिन  समावेशी विकास सूचकांक में पाकिस्तान और बांग्लादेश से भी पीछे है भारत
महिषासुर से संबंधित मिथक व परंपराओं पर शोधग्रंथ
बाबासाहेब ने संविधान द्वारा महिलाओं को वो सारे अधिकार दिए जो मनुस्मृति ने नकारे थे