Advance Search

Keywords
Search In
All Heading Full Story Author
From Date
To Date
यादों के झरोखे से  सामाजिक न्याय के पहरुआ केदारनाथ सिंह
आजादी की लड़ाई के दौर के कम्‍युनिस्‍ट आंदोलन की त्रासदी रही कि किसानों के सवालों और संघर्षों को प्रमुखता नहीं दी
मतलब की बातें भी जब बेमतलब-सी लगने लगीं तो इस किताब की ज़रूरत सामने आई
राहुल गांधी बने कांग्रेस के नए अध्यक्ष  दिल्ली में कार्यकर्ताओं में जोश
मनमोहन का मोदी पर वार झूठ और अफवाह फैलाने के लिए देश से माफी मांगें पीएम
देश के सारे "दुश्मन" मणिशंकर के घर "दिल्ली" में बैठक कर रहे थे तो "चौकीदार" कहाँ था
अफराजुल की हत्या का कारण लव जिहाद नही भगवा जिहाद है
उप्र नगर निकाय चुनाव  जो जीता वही सिकंदर मगर कैसा
सीपीएम  गुटबाज़ी की ‘सैद्धांतिक’ कसरत अभी शायद अपने चरम पर है
खतरे में मुल्क की मासूमियत
खतरे में मुल्क की मासूमियत
राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-12-10 21:10:11
त्रिलोचन का मूल्यांकन अभी होना है अभी तो उन्हें ठीक से पढ़ा भी नहीं गया है
 विधानसभा चुनाव में मोदी-भाजपा को दीजिए विराम
संगठित अपराधियों नहीं बल्कि वंचित समाज पर संगठित हमले की साजिश है यूपीकोका - रिहाई मंच
अमेरिकी राष्ट्रपति का यरूशलम को इजरायल में मिलाने का फैसला नए विश्वयुद्ध की शुरूआत
कवि कुमार का आपत्तिजनक बयान आप और केजरीवाल की घोषित लाइन है
एक शिकंजा है जाति
एक शिकंजा है जाति
शेष नारायण सिंह
2017-12-07 09:41:50
विकास की इस दौड़ में हम अंधेरा और उजाला दोनों खोते जा रहे हैं
लोकतंत्र में निर्दलीय सन्दर्भ उप्र नगर निकाय चुनाव
गुजरात चुनाव  झूठ के पांव नहीं होते बढ़ रही भाजपा की हताशा
अगर बाबासाहेब डॉ आंबेडकर न होते
2019 में प्रधानमंत्री बनेंगे पं राहुल गांधी भाजपा परेशान
जब राज्यपाल मृदुला सिन्हा पहुंच गईं तो लीलांधर मंडलोई को मुख्य अतिथि से हटाकर बना दिया अध्यक्ष
गुजरात  विकास तो हो गया लापता
गुजरात : विकास तो हो गया लापता
राजेंद्र शर्मा
2017-12-05 13:54:21
मोदी का ‘विकासवाद’ कांग्रेस के वंशवाद से कहीं ज्यादा आततायी और जनतंत्र-विरोधी
तो क्या होता अगर हादिया पुरुष होती
तो क्या होता अगर हादिया पुरुष होती ?
इकाॅनोमिक ऐंड पाॅलिटिकल वीकली
2017-12-04 23:45:59
मोदी को शहजाद पूनावाला का सहारा
मोदी को शहजाद पूनावाला का सहारा
हस्तक्षेप डेस्क
2017-12-03 17:33:56
क्या हमें वाकई इंदिरा गांधी और नरेंद्र मोदी की तुलना करनी चाहिए
आहत भावनाओं का खेल  जब आपके पास ताकत हो तभी आप आहत हो सकते हैं
जाति वोट बैंक राजनीति तो साम्प्रदायिकता की धुरी है अपनी धुरी से भाजपा को डर क्यों
बाबा साहेब ने कहा था - अस्पृश्यता सारतः राजनीतिक सवाल है
धर्म की चेतना खारिज करके धर्मनिरपेक्षता की वकालत की जमीन भारत में फिलहाल नहीं
यशवंत सिन्हा का मोदी पर नया वार  आर्थिक मोर्च पर सभी कुछ अच्छा है तो प्रधानमंत्री को राजनीतिक कीमत क्यों चुकानी पड़ेगी
रॉबर्ट मुगाबे के पतन के जश्न में लोग व्यावहारिक सवाल पूछना भी भूल गए
रिहाई आंदोलन के दस वर्ष पूरे चलेगा जनअभियान‘न्यायिक भ्रष्टाचार और लोकतंत्र’ विषयक सेमीनार के मुख्य वक्ता होंगे वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण
वामपंथ को खोखला करने की अपनी ऐतिहासिक भूमिका को उसके स्वाभाविक अंत तक पहुँचाना चाहते हैं प्रकाश करात
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का विघटनकारी एजेंडा
गुजरात चुनाव  पैरों तले जमीन खिसकती नजर आ रही मोदी को
जुमला निकला मिनिमम गवर्नमेंट  मैक्सीमम गवर्नेंस भी
सिनेमा में देशभक्ति - क्या सचमुच शहीदों की चिताओं पर जुड़ेंगे हर बरस मेले
सांप्रदायिक राष्ट्रवाद के प्रेत हमारे देश पर मंडरा रहे हैं
कारपोरेट राज के खात्मे के लिए धर्मनिरपेक्ष वाम जनपक्षधर बहुजन संगठनों पार्टियों का महागठबंधन अनिवार्य
सोहराबुद्दीन एन्काउंटर की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश की रहस्यमयी हालात में मौत की जांच हो  पूर्व नौसेना प्रमुख
बर्खास्त की जाए पीडीपी-बीजेपी सरकार - पैंथर्स सुप्रीमो
क्या आपातकाल लग चुका है मप्र सरकार की आलोचना करने पर पत्रकार के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा
गुजरात चुनाव का सटीक विश्लेषण  कांग्रेस के पक्ष में माहौल तैयार भाजपा की बढ़ी बेचैनी
सोशलिस्ट पार्टी ही हो सकती है शरद खेमे की सही मंज़िल
वाजपेयी युग के सच और मोदी युग के झूठ के बीच नए ‘अवतार’ में राहुल गांधी
पद्मावती  आज स्वयं को झुठलाता और अपने से मुंह चुराता नजर आ रहा है भारत
अब सुप्रीम कोर्ट खुद एक न्यायाधीश की हत्या के इस षड़यंत्र की जाँच कराये और न्याय करे
राजपूती आन बान और शान वालों क्या गरीब राजपूतों की भी सुध ली जाएगी
सीबीआई जज लोया की संदिग्ध मौत की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच हो - समाजवादी जन परिषद की मांग
सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले की सुनवाई कर रहे जज लोया की मौत  माकपा ने की जाँच की माँग
गुजरात चुनाव में राजनीतिक लाभ उठाने के लिए आग से खेल रहा है आरएसएस  ओवैसी
पद्मावती विवाद का तो न कोई संदर्भ है और न प्रसंग यह मुकम्मल मनुस्मृति राज का कारपोरेट महाभारत है
राजमाता पद्मावती के वंशधरों का अभी गौरव गान हो रहा है या निंदा गान
हम भी इन्सान है इस बात को साबित करने के लिए जब तालाब पर गए बाबा साहेब
अयोध्या विवाद  संविधान बड़ा है या आस्था
इंदिरा गांधी की जन्मशती  अपने इतिहास से सबक लेने के अवसर जानबूझ कर मिटाए जा रहे हैं
24 नवंबर 2017  सुबह की बड़ी खबरें
24 नवंबर 2017 : सुबह की बड़ी खबरें
हस्तक्षेप डेस्क
2017-11-24 10:03:00
मुज़फ्फरनगर – बर्निंग लव स्टोरी न कथा न घटना न समस्या सिर्फ चूं चूं का मुरब्बा
एक नाकामी थी नोटबंदी देश को इसके शासकों से मुक्त कराने की जरूरत
मिट्टी-पानी में घुलता ज़हर   कड़वी हवा
पाटीदारों को मिट्टी में क्यों मिला देना चाहती है भाजपा  जानें रहस्य
मोदी की चिंता — अभी सिर्फ गुजरात चाहिए संसद जाए भाड़ में
सब कुछ निजी हैं तो धर्म और धर्मस्थल क्यों सार्वजनिक हैं वहां राष्ट्र और राजनीति की भूमिका क्यों होनी चाहिए
मोदी ऐसा एशिया और विश्व बनाना चाहते हैं जैसा डोनाल्ड ट्रम्प चाहते हैं भारतीयों की भावनायें इससे भी आहत होती हैं मोदीजी
अयोध्या विवाद  खामख्वाह क्यों टहल रहे हैं श्री श्री रवि शंकर
और भी गम हैं अयोध्या में श्री श्री जी
और भी गम हैं अयोध्या में श्री श्री जी!
कृष्ण प्रताप सिंह
2017-11-21 16:02:02
चिनफिंग इज चाइना  माओ के बाद चीन को एक बार फिर अपना चेयरमैन मिल चुका है
इंदिरा ने सिख आतंकवाद पर निर्णायक प्रहार किया और मोदी हिंदू आतंकवादी ताकतों को बढ़ावा दे रहे हैं
वाह रे संघ परिवार  1970 में जिस टीपू सुल्तान को देशभक्त बताया 2017 में वो बलात्कारी दुष्ट और कट्टरपंथी हो गया
अगर मैं पाप करता हूं तो मैं धार्मिक तरीके से ही पाप करता हूं
जम्मू-कश्मीर सिर्फ वार्ताकार नियुक्त करने से क्या होगा
भारतीय सिनेमा जगत को यह आभास ही नहीं है कि वह एक चूहेदानी में कैद हो चुका है
‘सांप्रदायिक सौहार्द्र’ का योगी का यूपी मॉडल  आग लगाओ दुकान लूटो कोई एफआईआर नहीं
‘‘जब पानी में आग लगी थी’’  महाड सत्याग्रह के नब्बे साल
मूडीज को लेकर किसे बुद्धू बना रहे हैं मोहतरम अरुण जेटली
एक सांप्रदायिक फासीवादी राजनीति की चाल के अलावा कुछ नहीं है पद्मावती प्रकरण
महामहिम भारत की अपनी सेना है इन जातीय सेनाओं पर प्रतिबंध लगाएं
डियर मोदी सांप्रदायिक ध्रुवीकरण से गुजरात में बाज़ी मात करने का अब मौका नहीं बचा
लोकतंत्र बिना धर्मनिरपेक्षता के नहीं चल सकता बांग्लादेश और पाकिस्तान भारत के लिए एक सबक
ब्रांड राहुल से बीजेपी में मची खलबली
पप्पू फेल हो गया और युवराज पास
पप्पू फेल हो गया और युवराज पास !
राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-11-17 11:47:36
अच्छे दिन  सड़क अधूरी मगर टोलटैक्स शुरू
ये वक्त घर में बैठने का नहीं समाज को तोड़ने वाली इस पार्टी का कोई विकल्प नहीं है तो आप ही विकल्प बन जाइये
यूपी  छात्रों का भाजपा भगाओ रोजगार बचाओ अभियान
तुम्हारी सूलु की स्पेशल स्क्रीनिंग  सचिन तेंदुलकर आदित्य ठाकरे के साथ ये हस्तियां पहुंची
हिन्दुत्ववादियों का इतिहास कल्पना से भी अधिक काल्पनिक है
सच्चाई यही है कि कश्मीर के बारे में नेहरू की सोच ही सही साबित होती रही है और रास्ता बातचीत का ही है
मुक्तिबोध की यह स्पष्ट मान्यता है कि अब अभिव्यक्ति के सारे खतरे उठाने ही होंगे
मोदीजी  सरदार पटेल को गांधी जी और सरदार वल्लभ भाई पटेल ने प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया
सरदार पटेल को आरएसएस का संगी नहीं बना सकता नरेंद्र मोदी का इतिहासबोध भी
बापू की हत्या और आरएसएस- बहस जारी
अगर सरदार पटेल पहले प्रधानमंत्री बने होते तो देश में पाक जैसे हालात होते-कांचा इलैया
फेल हो गई भाजपा की पटेल को बड़ा दिखाने के लिए नेहरू को छोटा करने की साजिश
अच्छे दिन हुए पूरे गुजरात में नहीं चलेगा मोदी का जादू
योगी के राम के मुकाबिल अखिलेश के कृष्ण
राहुल बोले - गुजरात में बदला नहीं बदलाव करेंगे
जनविहीन जनतंत्र  उदारवादी जनतंत्र से जन वैसे ही गायब है जैसे प्लेटो की रिपब्लिक से पब्लिक
घूमता हुआ आईना  सप्ताह भर की चुनिंदा ख़बरों का आईना
प्रेस की आज़ादी  क्या योगी और वसुंधरा भी प्रधानमंत्री की नसीहत से सबक लेंगे