ईद के दिन बाँह पर काली पट्टी बाँध कर करें खामोश एहतेजाज

अपील शहीद मौलाना खालिद मुजाहिद को इंसाफ दिलाने के लिए रिहाई मंच के धरने में बड़ी तादाद में विधानसभा धरना स्थल, लखनऊ में शामिल हों ईद के दिन बाँह पर काली पट्टी बाँध कर करें खामोश एहतेजाज मौलाना खालिद मुजाहिद की पुलिस हिरासत में हुयी हत्या और इसमें शामिल पुलिस अफसरों को सजा दिलाने और निमेष कमीशन की रिपोर्ट पर अमल करने की माँग के साथ धरना स्थल लखनऊ में दिनाँक 22 मई 2013 से चल रहा रिहाई मंच का धरना जारी है लेकिन सपा सरकार ने निमेष कमीशन रिपोर्ट को जारी नहीं की जो मौलाना खालिद मुजाहिद और मौलाना तारिक कासमी को बेगुनाह साबित करती है। जबकि विधानसभा चुनाव में सपा ने वादा किया था कि अगर उसकी सरकार बनेगी तो वह जेलों में बंद बेगुनाह मुसलमानों को रिहा कर देगी। सोलह महीनों बाद भी सपा सरकार ने अपना वादा पूरा नही किया। उल्टे खालिद को कत्ल करवा दिया। सरकार ने अगर अपना वादा पूरा किया होता तो रामपुर सीआरपीफ कैम्प, संकट मोचन ब्लास्ट, श्रमजीवी एक्सपे्रस कांड, अयोध्या मंदिर पर कथित हमला, गोरखपुर, फैजाबाद, बनारस, लखनऊ कचहरी ब्लास्ट जैसे केसों में फर्जी तरीके से फँसाये गये बेगुनाह मुस्लिम नौजवान आज ईद अपने घरों पर मना रहे होते। एक तरफ सपा सरकार के मुस्लिम मंत्री जगह-जगह यह बयान दे रहे हैं कि उनकी सरकार में कोई गिरफ्तारी नहीं हुयी है। हालांकि उन्हीं के दौरे हुकूमत में दहशतगर्दी के इल्जाम में यूपी से मौलाना शकील नदवी को दुबग्गा, लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है तो वहीं वसीम बट्ट और सज्जाद बट्ट को अलीगढ़ रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा डेढ़ साल के अंदर पूरे सूबे में सौ से ज्यादा मुस्लिम मुखालिफ फसादात सपा हुकूमत में हो चुके हैं। शिया-सुन्नी फसाद भी इसी की कड़ी है। मुल्क की अदालतों से हमें इंसाफ की उम्मीद थी लेकिन बाटला हाउस फर्जी एनकाउंटर मामले में शहजाद पर आए फैसले से साफ हो गया है कि अदालतें भी हुकूमत और आईबी की नापाक गठजोड़ में शामिल हैं। यह जम्हूरियत के लिए खतरनाक है। रमजान खत्म हो रहा है। ईद की खुशी के मौके पर तमाम अहले ईमान से गुजारिश है कि वह अपनी खुशियों में उन बेगुनाह नौजवान मुसलमानों को न भूल जाएं जो जेलों में दहशतगर्दी के नाम पर बंद किए गये हैं। उनकी रिहाई के लिए दुआ करें और खामोश एहतेजाज के तौर पर ईद के दिन हाथों में काली पट्टी बाँधें। रिहाई मंच मो शुऐब एडवोकेट लखनऊ, सूफी उबैदुर्रहमान बाराबंकी, हाजी फहीम सिद्दीकी, जैद अहमद फारूकी बांदा, मो सुलेमान कानपुर, डाॅ अली अहमद कासमी, मसीहुदीन संजरी, तारिक शफीक आजमगढ़, कमर सीतापुरी, जुबैर जौनपुरी, एहसानुल हक मलिक, आमिर महफूज इलाहाबाद, नदीम सिद्दीकी, मो0 आरिफ सुल्तानपुर, शेर खान मुराबाद, कौसर फारूकी कुंडा प्रतापगढ़, डाॅ अजीम खान बस्ती, मो शरीफ रामपुर, एनायतुल्ला खान। कार्यालय- 110/60 हरिनाथ बनर्जी स्ट्रीट, लाटूश रोड लखनऊ सम्पर्क- 9415012666, 9919086981, 9532835303, 9935794949,

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।